• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • भगवानपुर मेडिकल कॉलेज के मुद्दे पर हंगामे के बाद स्थगित हुई उत्तराखंड विधानसभा, फिर सदन में आई CAG रिपोर्ट

भगवानपुर मेडिकल कॉलेज के मुद्दे पर हंगामे के बाद स्थगित हुई उत्तराखंड विधानसभा, फिर सदन में आई CAG रिपोर्ट

उत्तराखंड विधानसभा भवन.

उत्तराखंड विधानसभा भवन.

Uttarakhand Assembly Monsoon Session : मानसून सत्र के चौथे दिन उत्तराखंड विधानसभा को कुछ देर के लिए स्थगित करने की नौबत आई. सदन के बाहर भी कांग्रेस विधायकों ने सरकार को घेरने के लिए प्रदर्शन किया तो कई संगठनों ने विधानसभा कूच किया.

  • Share this:

    देहरादून. उत्तराखंड विधानसभा के मानसून सत्र के चौथे दिन गुरुवार को विपक्ष के हंगामे के चलते सदन की कार्रवाई कुछ देर के लिए स्थगित करने की नौबत आई. कांग्रेस विधायकों ने भगवानपुर में मेडिकल कॉलेज न बनने के मामले में विरोध जताते हुए सवाल उठाए. नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह की तीखी बयानबाज़ी के बाद विपक्षी सदस्य सदन के बीचों बीच इकट्ठे होकर नारेबाज़ी करने लगे, जिसके चलते सदन की कार्रवाई को स्थगित करना पड़ा. इसके बाद सदन जब दोबारा शुरू हुआ तो सदन के पटल पर 2019-20 से संबंधित कैग रिपोर्ट रखी गई. कुछ और भी हलचलों के कारण विधानसभा का चौथा दिन गरमागरमी भरा रहा.

    हरिद्वार ज़िले के भगवानपुर क्षेत्र से विधायक ममता राकेश ने डॉ. बीआर आंबेडकर के नाम पर बनवाए जाने वाले मेडिकल कॉलेज के निर्माण में हुई सालों की देर को सरकार की नाकामी बताते हुए सवाल किए. राज्य के शिक्षा मंत्री धनसिंह रावत ने जवाब में कहा कि नियमानुसार एक ज़िले में एक से ज़्यादा मेडिकल कॉलेज नहीं बन सकता. इस जवाब को स्वीकार न करते हुए कांग्रेस के विधायकों ने सदन में भारी हंगामा किया.

    ये भी पढ़ें : दिल्ली में सोनिया गांधी से मिलेंगे हरीश रावत, क्या पंजाब प्रभार छोड़ेंगे! हां, तो क्यों?

    सरकार पर दलित विरोधी होने के आरोप
    इस मामले में नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने रावत से स्पष्ट जवाब मांगते हुए पूछा, ‘उत्तराखंड सरकार भगवानपुर में मेडिकल कॉलेज बनवाना चाहती है कि नहीं?’ इसके बाद विपक्षी विधायकों ने सदन के गर्भ में आकर नारेबाज़ी शुरू कर दी और राज्य सरकार को दलित विरोधी बताया क्योंकि भगवानपुर सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है. पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक स्पीकर प्रेमचंद अग्रवाल के बार बार कहने पर भी जब विपक्ष ने हंगामा बंद नहीं किया, तब सदन को करीब आधे घंटे के लिए स्थगित कर दिया गया.

    Uttarakhand news, Uttarakhand vidhan sabha, Uttarakhand politics, Uttarakhand congress, उत्तराखंड न्यूज़, उत्तराखंड राजनीति, उत्तराखंड राजनीति

    महंगाई के विरोध में कांग्रेस विधायक साइकिल चलाकर विधानसभा पहुंचे.

    बाद में पत्रकारों से बातचीत में प्रीतम सिंह ने सरकार पर अपने वादे से मुकरने का आरोप लगाया. वहीं, सदन में इस मामले में बहस करते हुए मंगलौर से विधायक काज़ी निज़ामुद्दीन ने साफ तौर पर कहा कि ‘जब श्रीनगर में मेडिकल कॉलेज होते हुए भी पौड़ी ज़िले में कोटद्वार में दूसरा मेडिकल कॉलेज खोला जा सकता है, तो किस नियम के हिसाब से हरिद्वार में दूसरा मेडिकल कॉलेज नहीं खोला जा सकता.’

    ये भी पढ़ें : उत्तराखंड विधानसभा साइकिल चलाकर पहुंचे कांग्रेसी, कई कार्यकर्ता-यूनियन करेंगे कूच

    सदन के बाहर भी हुआ हंगामा
    हंगामे के बाद मंत्री बंशीधर भगत ने कैग रिपोर्ट सदन के पटल पर रखी लेकिन इससे पहले सदन के बाहर भी कई तरह की हलचलें ​देखने को मिलीं. एक तरफ, कांग्रेस विधायक तेल की बढ़ती कीमतों और महंगाई के विरोध में साइकिल चलाकर और केंद्र सरकार के विरोध में पोस्टर, बैनर लहराकर विधानसभा पहुंचे तो वहीं, उत्तराखंड में मज़बूत भू कानून की मांग की गई. एक अन्य खबर की मानें तो आंगनबाड़ी कार्यकत्री सेविका कर्मचारी यूनियन के साथ ही भू-अध्यादेश अधिनियम अभियान के कार्यकर्ताओं ने भी गुरुवार को विधानसभा कूच किया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज