Home /News /uttarakhand /

उत्तराखंड ने उठाया हरिद्वार में इंटरनेशनल एयरपोर्ट का मुद्दा, हेलीकॉप्टर भी मांगे, हेलीपोर्ट भी

उत्तराखंड ने उठाया हरिद्वार में इंटरनेशनल एयरपोर्ट का मुद्दा, हेलीकॉप्टर भी मांगे, हेलीपोर्ट भी

हरिद्वार में इंटरनेशनल एयरपोर्ट की मांग उठी.

हरिद्वार में इंटरनेशनल एयरपोर्ट की मांग उठी.

Uttarakhand Aviation : सिविल एविएशन मिनिस्टर कॉन्फ्रेंस (Civil Aviation Minister's Conference) में उत्तराखंड ने अपनी ज़रूरतों का ब्योरा देते हुए केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के सामने कई मांगें रखीं. उत्तराखंड के एविएशन मंत्री सतपाल महाराज (Satpal Maharaj) ने जल्द ही सी-प्लेन और ब्लिंप पॉलिसी को लेकर ड्राफ्ट तैयार करने पर ज़ोर दिया ताकि टिहरी में यह प्रोजेक्ट (Tehri Project) शुरू हो सके. महाराज ने मंत्रियों के लिए हेली सेवा भी मांगी तो जनता के लिए कुछ हवाई अड्डों में बेहतर सेवाएं भी. उत्तराखंड ने क्या मांगें की और क्यों? पढ़िए तमाम डिटेल्स.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. देश के सभी राज्यों के नागरिक उड्डयन मंत्रियों की बैठक शुक्रवार को नई दिल्ली में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की अध्यक्षता में आयोजित की गई. उत्तराखंड के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने इस बैठक में हिस्सा लिया और उड़ानों से जुड़ी प्रदेश की ज़रूरतों एवं मांगों पर चर्चा की. देश के सभी राज्यों में नागरिक उड्डयन नीति को लेकर शुक्रवार को नई दिल्ली स्थित सुषमा स्वराज भवन में ‘सिविल एविएशन मिनिस्टर कॉन्फ्रेंस’ में चर्चा हुई. इस दौरान सतपाल महाराज ने हरिद्वार में इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाए जाने का मुद्दा प्रमुख रूप से उठाते हुए उत्तराखंड में हवाई सेवाओं से जुड़े कई बिंदुओं पर बातचीत की.

इसलिए चाहिए इंटरनेशनल एयरपोर्ट
हरिद्वार में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बनाए जाने के विषय को कॉन्फ्रेंस में प्रमुखता से रखते हुए महाराज ने कहा कि हरिद्वार हिंदू आस्था का प्रमुख केंद्र है, जहां देश-विदेश से लोग आते हैं. अंतिम संस्कारों के अलावा मेडिटेशन, योगा एवं चारधाम यात्रा और अन्य पर्यटन स्थानों तक भी यहां से बड़ी संख्या में श्रद्धालु और पर्यटक पहुंचते हैं. लेकिन सीधी फ्लाइट न होने के कारण उत्तराखंड में लोगों को असुविधा होती है इसलिए हरिद्वार में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट की ज़रूरत है.

मंत्रियों के लिए मांगे बेहतर हेलिकॉप्टर
जौली ग्रांट एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग के निर्माण में हुई कुछ खामियों की ओर ध्यान दिलाया. इस बिल्डिंग का उद्घाटन पिछले दिनों सिंधिया ने ही किया था. उन्होंने सिंधिया को एक पत्र भी सौंपा, जिसमें उन्होंने उत्तराखंड में डीजीसीए द्वारा राज्य के कैबिनेट मंत्रियों के लिए डबल इंजन वाले हेलीकॉप्टर की सेवाएं दिए जाने के आदेश के विषय में जानकारी थी. इस पत्र के मुताबिक डबल इंजन वाले हेलिकॉप्टर कम होने से आपदा के समय मंत्रियों को मुश्किलें होती हैं.

Uttarakhand airport, dehradun airport, haridwar airport, dehradun flights, उत्तराखंड एयरपोर्ट, देहरादून एयरपोर्ट, हरिद्वार एयरपोर्ट, aaj ki taza khabar, UK news, UK news live today, UK news india, UK news today hindi, UK news english, Uttarakhand news, उत्तराखंड ताजा समाचार, Uttarakhand Latest news

प्रस्ताव और मांग पत्र ज्योतिरादित्य सिंधिया को सौंपते उत्तराखंड के एविएशन मंत्री सतपाल महाराज.

‘अपग्रेड किए जाएं नैनी सैनी, गौचर और चिन्यालीसौड़’
बैठक के दौरान प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने सी-प्लेन एवं ब्लिंप पॉलिसी बनाए जाने की बात कहते हुए नैनी सैनी एयरपोर्ट के साथ-साथ गौचर एवं चिन्यालीसौड़ को भी अपग्रेड करने की बात कही. उन्होने कहा कि एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को ये स्थानांतरित किए जाएं ताकि यहां पर 72 सीटर विमान उतर सके.

सी-प्लेन पर जल्द पॉलिसी की मांग
महाराज ने कहा कि प्रदेश के पर्यटन को बढ़ाने के लिए राज्य सरकार टिहरी, नानक सागर और अन्य झीलों में सी-प्लेन उतारना चाहती है. भारत सरकार इसके लिए जो पॉलिसी बना रही है, उसे तुरंत बनाया जाए, जिससे प्रदेश में शीघ्र सी-प्लेन की सेवाएं प्रारंभ हो सकें.

हेलीपोर्ट मामलों पर मांगा सहयोग
उन्होंने कहा कि जोशीमठ एवं धारचूला में बनने वाले आरसीएफ हेलीपैड को ही हेलीपोर्ट बनाना है. इस संबंध में रक्षा मंत्रालय से बात चल रही है. वहीं, उन्होंने बताया कि हरिद्वार में प्रस्तावित हेलीपोर्ट के लिए बीएचएल की भूमि चिन्हित की गई है. यह भूमि निःशुल्क उपलब्ध हो, इसके लिए मिनिस्ट्री आफ हेवी इंडस्ट्रीज से बात हो रही है. महाराज ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय से भी इन कामों में सहयोग की अपील की.

Tags: Ministry of civil aviation, Satpal maharaj, Uttarakhand Government, Uttarakhand news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर