Home /News /uttarakhand /

उत्तराखंड के विधायक ने नाम के आगे जोड़ा 'चमार साहेब', जानें क्‍यों उठाया यह कदम

उत्तराखंड के विधायक ने नाम के आगे जोड़ा 'चमार साहेब', जानें क्‍यों उठाया यह कदम

यही नहीं वे कहते हैं कि जिस तरीके से अन्य विधायक अपने नाम के आगे ठाकुर, शर्मा, अग्रवाल और रावत लिखते हैं उसी तरह से अब मेरी चमार साहेब शब्द से पहचान होगी.

यही नहीं वे कहते हैं कि जिस तरीके से अन्य विधायक अपने नाम के आगे ठाकुर, शर्मा, अग्रवाल और रावत लिखते हैं उसी तरह से अब मेरी चमार साहेब शब्द से पहचान होगी.

विधायक देशराज (MLA Deshraj) अब अपने नाम के साथ जोड़े गए शब्द 'चमार साहेब' का पूरा मतलब भी बताते हैं.

देहरादून. उत्तराखंड (Uttarakhand) की राजनीति में एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है, जिसमें एक विधायक ने अपने नाम में बदलाव किया है. दरअसल, भाजपा (BJP) के झबरेड़ा विधायक देशराज कर्णवाल (Deshraj Karnwal) ने अपने नाम के साथ चमार साहेब (Chamar Saheb) शब्द को जोड़ा है. यानी अब विधायक देशराज कर्णवाल नहीं देशराज कर्णवाल चमार साहेब नाम से जाने जाएंगे.

यूं तो उत्तराखंड की राजनीति में कुछ न कुछ अजब- गजब होता ही रहता है, लेकिन जिस तरीके से एक विधायक ने अपने नाम के साथ चमार शब्द को जोड़ा है. उससे लगता है कि कहीं न कहीं यह राजनीति से जरूर जुड़ा मामला है. वैसे बीजेपी विधायक देशराज कर्णवाल पिछले एक साल से चमार शब्द अपने नाम के साथ जोड़ने को लेकर लगातार विधानसभा सचिवालय को पत्र लिख रहे थे, लेकिन विधानसभा सचिवालय की तरफ से इस बात को लेकर साफ मना कर दिया गया था. ऐसे में विधायक देशराज ने केंद्र से गजट नोटिफिकेशन जारी कर अपने नाम के साथ चमार साहेब जोड़ने का आदेश जारी करवा दिया.

...कहीं ऐसा तो नहीं
ऐसा नहीं है कि विधायक देशराज ने अपना नाम के आगे चमार शब्द अचानक से जुड़ा हो. दरअसल, बीजेपी के ही विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन ने विधायक देशराज और उनकी पत्नी पर फर्जी जाति प्रमाण पत्र के मामले को उठाया है. यह मामला कोर्ट में है. अब ऐसे में देशराज का अपने नाम के आगे चमार साहेब जोड़ना कहीं न कहीं इसी विवाद का हिस्सा माना जा सकता है. विधायक देशराज ने अपने प्रतिद्वंदी और अपनी ही पार्टी के विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन का नाम न लेते हुए उन पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग यह सोच रहे होंगे कि डर की वजह से मैंने नाम में चमार शब्द को जोड़ दिया है. लेकिन मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है. विधायक देशराज मानते हैं कि उनके इस तरह की पहल से उनके क्षेत्र में उन्हीं की जाति के लोग अब इस तरह अपने नाम के साथ चमार शब्द जोड़ रहे हैं.

चमार साहेब का पूरा मतलब बताते हैं
यही नहीं विधायक देशराज अब अपने नाम के साथ जोड़े गए शब्द चमार साहेब का पूरा मतलब बताते हैं. देशराज कहते हैं कि च से चमड़ी, मा से मास, र से रक्त होता है. यही नहीं वे कहते हैं कि जिस तरीके से अन्य विधायक अपने नाम के आगे ठाकुर, शर्मा, अग्रवाल और रावत लिखते हैं, उसी तरह से अब मेरी चमार साहेब शब्द से पहचान होगी. बहरहाल बीजेपी विधायक ने अपने नाम के साथ चमार साहेब जोड़कर 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर अपनी दिशा जरूर तय कर दी है.

Tags: BJP MLA, Dehradun news, Uttarakhand news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर