Home /News /uttarakhand /

उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा की तैयारी पूरी, 3 मार्च से एग्जाम

उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा की तैयारी पूरी, 3 मार्च से एग्जाम

तीन मार्च से शुरू होने जा रही उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा की तैयारी पूरी कर ली गई है. नकलविहीन परीक्षा संपन्न करवाने को लेकर शिक्षा विभाग ने कमर कस ली है.

तीन मार्च से शुरू होने जा रही उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा की तैयारी पूरी कर ली गई है. नकलविहीन परीक्षा संपन्न करवाने को लेकर शिक्षा विभाग ने कमर कस ली है.

तीन मार्च से शुरू होने जा रही उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा की तैयारी पूरी कर ली गई है. नकलविहीन परीक्षा संपन्न करवाने को लेकर शिक्षा विभाग ने कमर कस ली है.

तीन मार्च से शुरू होने जा रही उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा की तैयारी पूरी कर ली गई है. नकलविहीन परीक्षा संपन्न करवाने को लेकर शिक्षा विभाग ने कमर कस ली है.

जहां इस बार की हाईस्कूल और इंटर की बोर्ड परीक्षा में पिछले साल के मुकाबले छात्रों की संख्या 15 हजार कम आंकी गई है तो वहीं परीक्षा के लिए प्रदेश भर में 1317 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं. इसमें से 245 परीक्षा केन्द्र संवेदनशील घोषित किए गए हैं.

3 मार्च से उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा की शुरुआत होने जा रही है. शांतिपूर्ण तरीके से नकलविहनी परीक्षा करवाने के शिक्षा विभाग के दावे हैं. इस बार हाईस्कूल और इंटरमीडिएट दोनों में कुल मिलाकर 3 लाख 2 हजार के करीब परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं. परीक्षा को लेकर शासन स्तर पर भी सख्त निर्देश जारी किए गए हैं.

जहां शिक्षा विभाग में शिक्षकों की हड़ताल की आशंका के चलते एस्मा लगाया गया है तो वहीं सभी जिलों को भी कड़े निर्देश जारी किए गए हैं.

परीक्षा की शुरुआत 3 मार्च को इंटरमीडिएट की कृषि हिन्दी की परीक्षा से होने जा रही है जो कि सुबह 10 से दोपहर 1 बजे तक चलेगी. इस बार इंटरमीडिएट में संस्थागत और व्यक्तिगत दोनों मिलाकर कुल 1,35,650 परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं तो वहीं हाईस्कूल में 1,67,022 परीक्षार्थी परीक्षा में बैठेंगे.

मूल्यांकन को लेकर शासन से सख्त निर्देश, विशेषज्ञ शिक्षक करें मूल्यांकन

3 मार्च से शुरु होने वाली परीक्षा 2 अप्रैल तक चलेगी. इस बार मूल्यांकन को लेकर भी शासन सख्त है. स्वंय मुख्यमंत्री हरीश रावत और शिक्षा मंत्री प्रसाद नैथानी ने भी व्यवस्था को चुस्त बनाने के साथ ही अच्छा रिजल्ट देने की विभाग से उम्मीद जताई है.

निदेशक माध्यमिक शिक्षा की माने तो विभाग की ओर से मूल्यांकन पर खास फोकस रहेगा. जहां पर विषय विशेषज्ञ शिक्षकों की तैनाती कापियां जांचने के लिए की जाएगी ताकि किसी भी प्रकार की कोई त्रुटि की संभावना न हो और छात्रों की मेहनत के साथ पूरा न्याय भी हो सकेंगे.

शिक्षकों का भविष्य भी तय करेंगे बोर्ड परीक्षा के नतीजे

करीब एक महीने तक चलने वाली बोर्ड परीक्षा को लेकर शिक्षा विभाग तैयारी पूरी कर चुका है और कोशिशें हैं कि किसी भी तरीके से बिना नकल के बेहतरीन रिजल्ट दिया जाए.

ऐसा नहीं है कि पिछले सालों की तुलना में बोर्ड के रिजल्ट में सुधार न आयो हो बल्कि साल दर साल रिजल्ट और बेहतर हो रहा है. शायद ये ही वजह है कि विभाग से और बेहतर की उम्मीद है और काफी हद तक बोर्ड परीक्षा के ये नतीजे शिक्षकों के भी भविष्य का भी फैसला करेंगे.

दरअसल, शासन की ओर से यह भी निर्देशित किया गया है कि शिक्षकों का एसीआर और तबादले भी बोर्ड परीक्षा के रिजल्ट के आधार पर ही तय किए जाएं.

Tags: Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर