उत्तराखंड: 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव के वादों को लेकर आपस में उलझे कांग्रेसी नेता

उन्होंने कहा कि कांग्रेस एनडी तिवारी स्टाइल की राजनीति करती है, क्योंकि तिवारी जी वही वादे करते थे जो पूरा हो सकते हैं.
उन्होंने कहा कि कांग्रेस एनडी तिवारी स्टाइल की राजनीति करती है, क्योंकि तिवारी जी वही वादे करते थे जो पूरा हो सकते हैं.

कांग्रेस नेताओं (Congress Leaders) का ये रणनीतिक कंफ्यूजन पार्टी के लिए बेहतर संकेत नहीं हैं. ये कंफ्यूजन 2022 के लिए पार्टी की रणनीति को कमजोर कर सकता है.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड (Uttarakhand) में 2022 के विधानसभा चुनावों (Assembly Elections) की बिसात अभी से बिछने लगी है. बीजेपी (BJP) जहां राज्य और केंद्र सरकार के द्वारा किए गए कामों के सहारे जनता के बीच जाने की तैयारी में है, वहीं विपक्षी कांग्रेस में एक हैरान करने वाली असमंजस की स्ठिति दिख रही है. क्योंकि कांग्रेस के बड़े नेता चुनावों को लेकर अभी तक कोई रणनीति नहीं बना पाए हैं. यहां तक कि वादों और दावों में भी कांग्रेस नेताओं में एका नहीं दिख रहा. कांग्रेस के दो बड़े नेताओं हरीश रावत और इंदिरा हृदयेश में इसको लेकर मतभेद खुलकर दिख रहे हैं.

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत खुलेआम जनता से वादे कर रहे हैं कि 2022 में कांग्रेस सरकार बनते ही बिजली का सरचार्ज माफ किया जाएगा. बिजली 200 यूनिट तक फ्री दी जाएगी. पानी 25 लीटर तक फ्री देंगे. राज्य में सभी खाली पड़े सरकारी पदों में सरकार बनने के दो साल के भीतर भर्तियां कर दी जाएंगी और सरकारी नौकरियों में 20 फीसदी अतिरिक्त पद बनाए जाएंग, जिससे राज्य के युवाओं को ज्यादा से ज्यादा सरकारी नौकरी मिल सके. लेकिन इसके ठीक उलट नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश हरीश रावत के इन वादों को खारिज कर रही हैं. इंदिरा ने कहा है कि कांग्रेस का ऐसा कोई वादा नहीं है. इंदिरा ने कहा है कि कांग्रेस वही वादे चुनावों के समय जनता से करेगी जो पूरे कर सकेगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस एनडी तिवारी स्टाइल की राजनीति करती है, क्योंकि तिवारी जी वही वादे करते थे जो पूरा हो सकते हैं.

कंफ्यूजन पड़ सकता है भारी
कांग्रेस नेताओं का ये रणनीतिक कंफ्यूजन पार्टी के लिए बेहतर संकेत नहीं हैं. ये कंफ्यूजन 2022 के लिए पार्टी की रणनीति को कमजोर कर सकता है. इस कंफ्यूजन का फायदा सत्तारूढ़ बीजेपी साफ-साफ तौर पर उठा सकती है.





बीजेपी ने साधा निशाना 
चुनावी वादों के मुद्दो पर कांग्रेस नेताओं की अलग-अलग राय से सत्तारूढ़ बीजेपी को राजनीतिक हमले का मौका मिल गया है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि कांग्रेस 10 साल तक राज्य की सत्ता में रह चुकी है. लेकिन कांग्रेस ने कोई वादा पूरा नहीं किया. 2022 में जनता कांग्रेस के झूठ के झांसे में नहीं आने वाली. भगत ने कांग्रेस नेताओं को नसीहत दी है कि पहले तय कर लें कि जनता से कहेंगे क्या फिर अपना मुंह खोलें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज