होम /न्यूज /उत्तराखंड /कांग्रेस ने दिया बीजेपी को वॉकओवर! बड़े मुद्दों पर भी ख़ामोश रह गई विपक्षी पार्टी

कांग्रेस ने दिया बीजेपी को वॉकओवर! बड़े मुद्दों पर भी ख़ामोश रह गई विपक्षी पार्टी

देहरादून स्थित उत्तराखंड कांग्रेस मुख्यालय में बैठे पार्टी अध्यक्ष  प्रीतम सिंह और  अन्य नेता (फ़ाइल फ़ोटो)

देहरादून स्थित उत्तराखंड कांग्रेस मुख्यालय में बैठे पार्टी अध्यक्ष प्रीतम सिंह और अन्य नेता (फ़ाइल फ़ोटो)

बीते हफ्ते भर कांग्रेस के सभी बड़े नेता दिल्ली में अपनी उलझनें सुलझाने में लगे रहे.

    पिछले एक महीने में भाजपा के कई बड़े नेताओं के खिलाफ बड़ी कार्रवाई हुई हैं जो विपक्ष को सत्ता में बैठी पार्टी की घेराबंदी का पूरा मौका देती हैं. लेकिन प्रदेश की विपक्षी पार्टी कांग्रेस तो जैसे स्लीपिंग मोड में है.

    नोटबंदी के बाद भाजपा नेता अनिल गोयल के पास बड़ी मात्रा में काला धन मिला, भाजपा के महानगर अध्यक्ष विनय गोयल का एक विडियो वायरल हुआ जिसमें वह दलितों के खिलाफ अपशब्द का इस्तेमाल कर रहे हैं और #मीटू में फंसे भाजपा के संगठन महामंत्री संजय कुमार पर मुकदमा दर्ज हो गया. इसके अलावा रामनगर में एक किसान ने कर्ज़ की वजह से आत्महत्या कर ली और बीजेपी सरकार आने के किसानों की आत्महत्या की संख्या दहाई में पहुंच गई. इतना कुछ हुआ लेकिन विपक्ष खामोश है.

    बीते हफ्ते भर कांग्रेस के सभी बड़े नेता दिल्ली में अपनी उलझनें सुलझाने में लगे रहे. जो उत्तराखण्ड में थे भी वह पार्टी लाइन से अलग कार्यक्रम कर रहे थे. न सड़कों पर कांग्रेस दिखाई दे रही है और न ही मीडिया की सुर्खियों में नज़र आ रही है. ऐसा लग रहा है पार्टी अपनी प्रतिद्वंद्वी भाजपा से कोई आघोषित याराना निभा रही हो.

    पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत लोकसभा चुनावों से पहले पार्टी एकता की बातों को यह कहकर हवा में उजड़ा देते हैं कि संगठन का काम. प्रदेश अध्यक्ष ही जानें.

    लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस को केंद्र और राज्य सरकार के ख़िलाफ़ मुद्दों को धार देनी चाहिए थी लेकिन वह अपने ही झगड़े नहीं सुलटा पा रही है. ज़ाहिराना तौर पर इसका फ़ायदा बीजेपी को मिल रहा है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट कहते हैं कि कांग्रेस तो कबीलाई पार्टी है.

    बड़े इम्तेहान के लिए तैयारी पुख्ता होनी चाहिए लेकिन लोकसभा चुनावों के समर की तैयारी के लिए कांग्रेस शायद आखिरी दिन का इंतज़ार कर रही है या किसी चमत्कार का जिससे पार्टी में गुटबाज़ी ख़त्म हो जाएगी और सब पूरी ऊर्जा के साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे.

    यह भी  पढ़ें - चुनाव समितियां बताएंगी उत्तराखंड कांग्रेस का में है किस गुट का वर्चस्व

    यह भी पढ़ें - VIDEO: गुटबाज़ी साफ़ नज़र आई कांग्रेस की रैली में, हरीश रावत के सामने ही भिड़े कार्यकर्ता

    Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Sexual Abuse, Uttarakhand BJP, Uttarakhand Congress, Uttarakhand news

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें