Home /News /uttarakhand /

अमित शाह का MIssion Uttarakhand: हरीश रावत को ललकारा, ये भी कहा 'कांग्रेस सरकार में हाईवे रोककर होती थी नमाज़'

अमित शाह का MIssion Uttarakhand: हरीश रावत को ललकारा, ये भी कहा 'कांग्रेस सरकार में हाईवे रोककर होती थी नमाज़'

उत्तराखंड दौरे पर अमित शाह ने जनसभा को संबोधित किया.

उत्तराखंड दौरे पर अमित शाह ने जनसभा को संबोधित किया.

Uttarakhand Election 2022 : 'पीएम मोदी का 5 नवंबर का केदारनाथ दौरे (PM Modi Kedarnath Tour) का कार्यक्रम पक्का है.' इस कार्यक्रम की पुष्टि करने और उत्तराखंड में फिर बहुमत से सरकार बनाने का दावा करने के साथ ही अमित शाह ने विपक्षी पार्टी कांग्रेस पर खुलकर हमला बोला. घसियारी योजना (Ghasiyari Yojna) के शुभारंभ के बाद जनसभा में अपने चिर परिचित अंदाज़ में बोलते हुए शाह ने भाजपा के लिए चुनावी माहौल (BJP Poll Campaign) बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. शाह के दौरे के एक दिन पहले ही राज्य में सांप्रदायिक माहौल को लेकर विपक्ष ने विरोधी लहर बनाई थी, शाह ने शब्दश: क्या कहा और क्यों महत्वपूर्ण समझा जा रहा है? जानिए ​सभी डिटेल्स.

अधिक पढ़ें ...

    देहरादून. भाजपा के लिए उत्तराखंड चुनाव अभियान का बिगुल फूंकने एक दिन के दौरे पर आए केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने एक तरफ कांग्रेस की पिछली सरकार पर तुष्टिकरण का बड़ा आरोप लगाया तो दूसरी तरफ पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को खुली चर्चा के लिए ललकारा. उत्तराखंड सरकार की महत्वाकांक्षी ‘घसियारी कल्याण योजना’ का शुभारंभ करने के बाद देहरादून में जनसभा में अमित शाह ने पूरे तेवरों के साथ कार्यकर्ताओं से कहा कि फिर राज्य में बहुमत के साथ भाजपा की सरकार बनानी है. इससे पहले अमित शाह ने सहकारिता मंत्रालय की योजना के साथ ही छोटी इकाइयों में कंप्यूटीकरण अभियान का भी उद्घाटन किया.

    हरीश रावत चाहें तो कर लें डिबेट
    कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत को चुनौती देते हुए अमित शाह ने खुले विचार विमर्श के लिए ललकारा. शाह के बयान के संबंध में सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए समाचार एजेंसी एएनआई ने लिखा, ‘मैं हरीश रावत जी को चैलेंज देता हूं कि वो खुली डिबेट कर लें कि कांग्रेस ने अपने कितने वादे निभाए और भाजपा ने अपने घोषणापत्र के कितने. मेरा दावा है कि भाजपा ने जो कुछ घोषणापत्र में कहा था, उसका 85 फीसदी करके दिखाया है.’ इस बयान को इसलिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि हरीश रावत ही नहीं, बल्कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तक हाल में, भाजपा के वादों को जुमला कह चुके हैं और कांग्रेस के वादों को गारंटी.

    ‘तब हाईवे रोककर होती थी नमाज़’
    एक और महत्वपूर्ण बयान देते हुए अमित शाह ने कांग्रेस की पिछली उत्तराखंड सरकार पर तुष्टिकरण के आरोप लगाए. शाह ने कहा, ‘जब मैं पिछली बार कांग्रेस सरकार के समय में यहां आया था, तब कुछ लोग मुझसे आकर मिले और मुझसे पूछा कि आपको पता है, यहां शुक्रवार को क्या होता है? उनका कहना था कि यहां हाईवे बंद कर दिया जाता है ताकि नमाज़ अदा की जा सके. कांग्रेस केवल तुष्टिकरण की राजनीति करती रही है. ये लोग देवभूमि से न्याय नहीं कर सकते.’

    इसके अलावा, कांग्रेस को चुनावी बरसात में मेंढ़कों की तरह दिखने का आरोप भी अमित शाह ने लगाया. शाह ने कहा, कोविड 19 का दौर रहा हो या उत्तराखंड में जलप्रलय का, कांग्रेसी कहीं नहीं दिखाई दिए लेकिन चुनाव आते ही ये लोग निकल आते हैं और प्रेस कॉन्फ्रेंस करने लगते हैं. कुल मिलाकर अमित शाह अपने तेवरों और बयानों से उत्तराखंड में भाजपा को आगामी चुनाव जिताने के लिए और पीएम मोदी के दौरे के लिए भरपूर ज़मीन तैयार करते दिखे.

    ‘पक्का है पीएम मोदी का कार्यक्रम’
    आदि शंकराचार्य की प्रतिमा के अनावरण सहित अन्य कार्यक्रमों के लिए 5 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के केदारनाथ दौरे को कन्फर्म करते हुए शाह ने कहा कि पीएम मोदी ज़रूर आएंगे. बता दें कि केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण के सिलसिले में पीएम ड्रीम प्रोजेक्ट के पहले चरण का काम पूरा हो चुका है. दूसरी तरफ, राज्य के विकास को लेकर शाह ने दावा किया कि पिछले चार साल में भाजपा सरकार ने चहुंमुखी विकास किया है. यह कहते हुए उन्होंने सीएम पुष्कर​ सिंह धामी की तारीफ भी की.

    amit shah in uttarakhand, 2022 Uttarakhand Assembly Elections, Uttarakhand Assembly Election, UK Polls, उत्तराखंड विधानसभा चुनाव, अमित शाह का उत्तराखंड दौरा, UK Polls 2022, UK Assembly Elections, UK Vidhan sabha chunav, उत्तराखंड ताजा समाचार, Vidhan sabha Chunav 2022, UK Assembly Election News, UK Assembly Election Updates, आज की ताजा खबर, aaj ki taza khabar

    अमित शाह के बयान के संबंध में एएनआई का ट्वीट.

    अमित शाह के उत्तराखंड दौरे पर आयोजित हुए कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने वक्तव्य में कहा कि केंद्र सरकार ने राज्य में आपदा के लिए काफी मदद दी. धामी ने कहा कि प्राकृतिक आपदा का पूर्वानुमान मिलने के बाद राज्य ने फौरन चार धाम यात्रियों से कुछ दिन के लिए रुक जाने को कहा, जिसका लाभ यह हुआ कि किसी भी चार धाम यात्री की जान नहीं गई.

    Tags: Amit shah news, Amit shah rally, Uttarakhand Assembly Election 2022, Uttarakhand BJP, Uttarakhand news, Uttarakhand politics

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर