उत्तराखंड ऊर्जा निगम के फरमान से आम उपभोक्ताओं में रोष

satendra bartwal | News18 Uttarakhand
Updated: August 26, 2019, 10:57 PM IST
उत्तराखंड ऊर्जा निगम के फरमान से आम उपभोक्ताओं में रोष
ऊर्जा निगम प्रबंधन ने 4 किलोवाट से ऊपर के घरेलू उपभोक्ताओं को हर महीने बिल जारी करने के आदेश जारी किए हैं.

उत्तराखंड में बिजली उपभोक्ताओं का ऊर्जा निगम के खिलाफ आक्रोश बढ़ता जा रहा है. उपभोक्ताओं ने निगम प्रबंधन से 1 से 4 किलोवाट तक के उपभोक्ताओं को भी राहत देते हुए प्रत्येक माह बिजली बिल उपलब्ध कराने की मांग की है.

  • Share this:
उत्तराखंड में बिजली उपभोक्ताओं (Electricity consumers)  का ऊर्जा निगम (UPCL) के खिलाफ आक्रोश बढ़ता जा रहा है. उपभोक्ताओं ने निगम प्रबंधन से 1 से 4 किलोवाट तक के कनेक्शन वाले उपभोक्ताओं को भी राहत देते हुए प्रत्येक माह बिजली बिल (Electricity bill) उपलब्ध कराने की मांग की है. ऊर्जा निगम प्रबंधन ने हाल में हुई बोर्ड की बैठक में 4 किलोवाट से ऊपर कनेक्शन वाले घरेलू उपभोक्ताओं को राहत देते हुए हर महीने बिजली बिल जारी करने के आदेश जारी किए हैं. इसके प्रथम चरण में देहरादून जिले से शुरुआत कर देहरादून के उपभोक्ताओं को लाभ मिलेगा.

कामर्शियल उपभोक्ताओं को पहले ही मिल चुकी सुविधा

बता दें कि राज्य के कामर्शियल उपभोक्ताओं (Commercial consumers) को पहले से ही यह सुविधा मिल रही है. प्रदेश में तकरीबन 25 लाख बिजली उपभोक्ता हैं और निगम के इस आदेश के बाद करीब 12 लाख उपभोक्ता सुविधा से वंचित रह जाएंगे. इससे उपभोक्ताओं में भारी आक्रोश है. प्रदेश के सभी आम उपभोक्ताओं ने ऊर्जा निगम प्रबंधन से हर महीने बिल मुहैया कराने की सुविधा का लाभ देने की मांग की है.

इस संबंध में आरकेडिया निवासी आरटीआई कार्यकर्ता गीता ने उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग के अध्यक्ष को पत्र लिखकर उन्हें भी हर माह बिजली बिल भुगतान की सुविधा का लाभ दिए जाने की मांग की है. गीता का कहना है कि ऊर्जा निगम खास लोगों को ही सुविधा देने का निर्णय ले रहा है, जबकि आम उपभोक्ता यह मांग लंबे समय करते आ रहे हैं. उन्होंने इस सुविधा को पूरे प्रदेश में लागू करने की मांग की है.

वहीं समाज सेवी बीरु बिष्ट ने भी यूपीसीएल के इस दोहरे चरित्र पर सवाल उठाया है. बिष्ट का कहना है कि जब सुविधा मिले तो सब को मिलनी चाहिए. इसमें आम और ख़ास के लिए अलग अलग क्यों ?

ये भी पढ़ें - जानिए पुलिसवालों को क्यों घर भेज रही है उत्तराखंड पुलिस

ये भी पढ़ें - एसडीआरएफ की मदद से बिहार के युवक को 13 साल बाद मिला परिवार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 1:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...