स्थापना दिवस पर उत्तराखंड को CNG-PNG का तोहफ़ा, 22 से होगा काम शुरू

पहले चरण में हरिद्वार और देहरादून को गैस पाइपलाइन से जोड़ा जाएगा.

News18 Uttarakhand
Updated: November 9, 2018, 6:36 PM IST
स्थापना दिवस पर उत्तराखंड को CNG-PNG का तोहफ़ा, 22 से होगा काम शुरू
मुख्यमंत्री ने बताया कि उत्तराखंड में सीएनजी की पाइप लाइन बिछाने का काम इसी महीने की 22 तारीख से शुरू हो जाएगा.
News18 Uttarakhand
Updated: November 9, 2018, 6:36 PM IST
उत्तराखंड जल्द ही उन राज्यों की सूची में जुड़ने वाला है जहां सीएनजी से वाहन दौड़ेंगे और पीएनजी से चूल्हे जलेंगे. राज्य की स्थापना की 18वीं वर्षगांठ पर केंद्र से राज्य सरकार को यह तोहफ़ा मिला है. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुक्रवार को यह जानकारी दी.

मुख्यमंत्री ने बताया कि उत्तराखंड में सीएनजी की पाइप लाइन बिछाने का काम इसी महीने की 22 तारीख से शुरू हो जाएगा. उन्होंने यह जानकारी बीजेपी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में दी. मुख्यमंत्री ने बताया 22 तारीख को शाम चार बजे प्रधानमंत्री दिल्ली से शिलान्यास करेंगे और मुख्यमंत्री समेत प्रदेश सरकार के प्रतिनिधि देहरादून में मौजूद रहेंगे.

मुख्यमंत्री ने इसके लिए केंद्र सरकार का धन्यवाद करते हुए बताया कि पहले चरण में हरिद्वार और देहरादून को गैस पाइपलाइन से जोड़ा जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि दून घाटी को प्रदूषण मुक्त करने की दिशा में यह बड़ा कदम साबित होगा. उन्होंने कहा कि पर्यावरण की चिंता करने वाले लोगों को यह ख़बर सुनकर ज़रूर राहत मिलेगी.

मुख्यमंत्री ने बताया कि उम्मीद जताई कि पाइपलाइन बिछाने का काम का काम दो वर्ष में पूरा कर लिया जाएगा. न सिर्फ़ वाहनों के लिए सीएनजी पंप बनाए जाएंगे बल्कि घर-घर तक गैस पाइपलाइन भी पहुंचेगी. इससे एलपीजी सिलेंडर का बोझ भी कम होगा.

केंद्र का यह तोहफ़ा सही मौके पर मिला लगता है. इस दिवाली पर देहरादून में प्रदूषण का स्तर सामान्य के मुकाबले 15 गुना तक पहुंच गया है. सीएनजी और पीएनजी से न सिर्फ़ प्रदूषण के स्तर में कमी आएगी बल्कि गाड़ी चलाने का खर्च भी घटेगा. यह भी उम्मीद की जा रही है कि शहरी क्षेत्रों में से हटकर गैस सिलेंडर ग्रामीण क्षेत्रों के लिए उपलब्ध हो सकेंगे.

(किशोर रावत की रिपोर्ट)

गौ उत्पादों को आय से जोड़ेंगे, CM  ने यूपी से मांगी गोबर से CNG की तकनीक
Loading...
इस दिवाली दिल्ली के नज़दीक पहुंच गया दून... प्रदूषण 10 गुना से ज़्यादा रहा
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर