लाइव टीवी

उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला, गुटखा और पान मसाला पर लगा प्रतिबंध

News18 Uttarakhand
Updated: October 19, 2019, 2:02 PM IST
उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला, गुटखा और पान मसाला पर लगा प्रतिबंध
उत्तराखंड सरकार ने यह बड़ा फैसला लिया है. (फाइल फोटो)

उत्तराखंड सरकार (Uttarakhand Government) ने गुटखा जैसे पदार्थों और तंबाकू एवं निकोटिन की उच्च मात्रा वाले पान मसाला के उत्पादन, भंडारण, वितरण और बिक्री को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया है.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड सरकार (Uttarakhand Government) ने गुटखा जैसे पदार्थों और तंबाकू एवं निकोटिन की उच्च मात्रा वाले पान मसाला के उत्पादन, भंडारण, वितरण और बिक्री को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया है. खाद्य सुरक्षा आयुक्त नितेश कुमार झा ने शुक्रवार की शाम इस संबंध में एक आदेश जारी किया. यह फैसला तंबाकू एवं निकोटिन युक्त गुटखा और पान मसाला जैसे पदार्थों के मानव स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभावों के मद्देनजर लिया गया है.

आदेश में प्रतिबंध के कारणों के बारे में विस्तार से बताया गया है कि भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण मानव उपभोग के किसी भी उत्पाद में तंबाकू एवं निकोटिन के प्रयोग को प्रतिबंधित करता है और यह पाया गया कि गुटखा, पान मसाला और विभिन्न नामों के तहत बेचे जा रहे कई अन्य उत्पादों में इनकी मात्रा बहुत ज्यादा है.



नशे की गिरफ्त से लोगों को बचाना मकसद
Loading...

सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि एक साल तक इस पर अमल कर जनता की प्रतिक्रिया लेना हमारा मकसद है. उन्होंने कहा कि तंबाकू उत्पाद और उनका सेवन युवाओं को नशे की गर्त में धकेल देता है. मुख्यमंत्री ने कहा कि युवा पीढ़ी के जो लोग अब तक तंबाकू के सेवन से दूर हैं, उनको इससे दूर ही रखना हमारा पहला लक्ष्य है. उन्होंने कहा कि दूसरा उद्देश्य यह है कि उन्हें बचाया जाय, जो नशे की, तंबाकू की गिरफ्त में हैं.

(इनपुट भाषा से)

ये भी पढ़ें-

कमलेश तिवारी हत्याकांड: दुबई में रची गई साजिश, हत्या के लिए सूरत से खरीदी पिस्टल- गुजरात ATS

कमलेश तिवारी हत्याकांड: गुजरात ATS ने सूरत से 6 लोगों को हिरासत में लिया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2019, 2:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...