उत्तराखंड : 30 तक कोरोना की वजह से बंद रहेंगे 5 जिलों के उच्च शिक्षण संस्थान, ऑनलाइन पढ़ाई होगी

उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने कहा कि 30 तक पांच जिलों के उच्च शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे. (फाइल फोटो)

उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने कहा कि 30 तक पांच जिलों के उच्च शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे. (फाइल फोटो)

राज्य के 5 जनपदों देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल, उधमसिह नगर और कोटद्वार भाबर के सभी राजकीय, निजी शिक्षण संस्थानों को 30 अप्रैल 2021 तक बन्द रखने का निर्देश दिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2021, 11:52 PM IST
  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड के देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल, उधमसिह नगर और कोटद्वार भाबर के सभी उच्च शिक्षण संस्थान (Higher educational institutions) 30 अप्रैल तक बंद कर दिए गए हैं. इन संस्थानों में विद्यार्थियों की ऑनलाइन पढ़ाई (online education) जारी रहेगी. लेकिन राज्य के दूसरे जनपदों के शिक्षण संस्थान खुले रहेंगे और ऑफलाइन व ऑनलाइन दोनों मोड में पढ़ाई होगी. उत्तराखंड के उच्च शिक्षा विभाग ने यह निर्देश जारी कर दिया है.

उच्च शिक्षा मंत्री ने जारी किया आदेश

उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत का कहना है कि ज्यादा जनसंख्या वाले मैदानी जनपदों में कोरोना का प्रभाव अधिक देखा गया है. इसको देखते हुए राज्य के 5 जनपदों देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल, उधमसिह नगर और कोटद्वार भाबर के सभी राजकीय, निजी शिक्षण संस्थानों को 30 अप्रैल 2021 तक बन्द रखने का निर्देश दिया गया है. इसी के साथ इन शिक्षण संस्थानों में छात्र-छात्राओं की पढ़ाई ऑनलाइन कराए जाने का निर्देश भी दिया गया है. राज्य के अन्य जनपदों में समस्त उच्च शिक्षण संस्थान खुले रहेंगे, लेकिन छात्र-छात्राओं को कॉलेज आने की बाघ्यता नहीं होगी. इन शिक्षण संस्थानों में ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों मोड में पढ़ाई जारी रहेगी.

4जी नेटवर्क से जुड़े राजकीय उच्च शिक्षण संस्थान
विभागीय मंत्री ने कहा कि उन्होंने कोरोना के प्रभाव को देखते हुए बीते वर्ष ही राज्य के सभी राजकीय महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों के साथ ही निजी शिक्षण संस्थानों को भी ऑनलाइन शिक्षा व्यवस्था को मजबूत करने का निर्देश दे दिया था. जिसका परिणाम यह रहा कि वर्तमान में राज्य के लगभग सभी राजकीय महाविद्यालय और विश्वविद्यालयों को 4जी नेटवर्क सेवा से जोड़ दिया गया है, जबकि निजी शिक्षण संस्थानों ने भी अपने स्तर से ऑनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था की है. ताकि छात्र-छात्राओं को अध्ययन करने में किसी तरह का व्यवधान उत्पन्न न हो.

शासन स्तर पर की जाएगी ऑनलाइन पढ़ाई की मॉनिटरिंग

विभागीय मंत्री रावत ने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए अब छात्रों और शिक्षकों को कोविड संक्रमण के नियमों का पालन करते हुए पठन-पाठन का कार्य जारी रखना होगा. हम सबको इन्हीं परिस्थिति में जीने की आदत डालनी होगी, तभी हम आगे बढ़ सकते हैं. उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में ऑनलाइन पढ़ाई को बेहतर ढंग से कराए जाने के लिए शासन स्तर से मॉनिटरिंग की भी व्यवस्था की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज