उत्तराखंड: उल्कापिंड दिलाने के नाम पर आर्मी के रिटायर्ड जवान से डेढ़ करोड़ की ठगी
Dehradun News in Hindi

उत्तराखंड: उल्कापिंड दिलाने के नाम पर आर्मी के रिटायर्ड जवान से डेढ़ करोड़ की ठगी
बाद में पता चला कि मामला फ्रॉडगिरी का है.

शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने मामले की छानबीन कर थाना केंट में मुकदमा दर्ज कर लिया है. सीओ सदर अनुज कुमार के अनुसार, उल्कापिंड (Meteorite) के नाम पर ठगी के इस मामले में पुलिस को 9 पेज की तहरीर मिली है.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड की राजधानी देहरादून (Dehradun) में पुलिस के सामने एक पेचीदा मामला आया है, जिसमें बताया गया है कि आर्मी के एक रिटायर्ड जवान के साथ करीब डेढ़ करोड़ रुपए की ठगी हुई है. दरअसल, पीड़ित खिलाफ सिंह बिष्ट (Singh Singh Bisht against) को यूनिवर्सल माइंस एन्ड मिंलर्स टर्नर कॉरपोरेशन इन इंडिया कम्पनी का एक व्यक्ति साल 2017 में उनसे मिला था. उस व्यक्ति ने खिलाफ सिंह बिष्ट को बताया कि उसका एक क्लाइंट है, जो जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में काम करता है. उसके पास उल्कापिंड (Meteorite) है जिसका बाजार में 5 हजार करोड़ रुपए कीमत है. लेकिन वह उसको 10 करोड़ रुपए में बेचेगा.

उस व्यक्ति ने खिलाफ सिंह बिष्ट से कहा कि उल्कापिंड के साइंटिफिक परीक्षण में करीब 10 लाख रुपये लगेंगे, जिसको बेचकर करोड़पति बन जाएगा. इसी के लालच में आकर पीड़ित ने अलग- अलग तरीके से करीब डेढ़ करोड़ रुपये कम्पनी को दिए. लेकिन बाद में पता चला कि मामला फ्रॉडगिरी का है. उनके साथ चिटिंग हुई है. ऐसे में बिष्ट ने पुलिस में तहरीर दी है.

छानबीन कर थाना केंट में मूकदमा दर्ज किया है
शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने मामले की छानबीन कर थाना केंट में मुकदमा दर्ज किया है. सीओ सदर अनुज कुमार के अनुसार, उल्कापिंड के नाम पर ठगी के इस मामले में पुलिस को 9 पेज की तहरीर मिली है, जिसमें लिखा गया है कि कैसे उल्कापिंड के नाम से ठगों ने उसको 5 हजार करोड़ रुपए का मालिक बनाने के सपने दिखाए. इसके चलते झांसे में आकर पीड़ित ने कई बार में डेढ़ करोड़ रुपये दिए. लेकिन उसे न तो उल्कापिंड मिला और न ही पैसा वापस आया. अब पुलिस ने शिकायत दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है. पुलिस ने बताया कि आरोपी ने एंटीक पीस को उल्कापिंड बताकर ठगी की है. बता दें कि देहरादून में ठगी का ये पहला मामला नहीं है, लेकिन देखना दिलचस्प होगा कि पुलिस इस मामले में कब तक आरोपियों को सलाखों के पीछे भेज पाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज