यूपी से अलग होने के बाद उत्तराखंड की बदली किस्‍मत, 32 हजार करोड़ पहुंचा निवेश
Dehradun News in Hindi

यूपी से अलग होने के बाद उत्तराखंड की बदली किस्‍मत, 32 हजार करोड़ पहुंचा निवेश
राज्य गठन के दौरान जहां 15 हजार छोटे उद्योग चल रहे थे, जो अब 60 हजार से अधिक हो गए हैं.

राज्‍य के गठन के समय निवेश 8 हजार करोड़ था, जो अब बढ़कर 32 हजार करोड़ तक पहुंच चुका है.

  • Share this:
उत्तराखंड राज्य गठन के बाद राज्य में बड़े उद्योगों की संख्या में लगातार वृद्धि देखने को मिली है. जहां राज्य गठन के दौरान प्रदेश में केवल 38 बड़े उद्योग थे और अब उनकी संख्या बढ़कर करीब 300 तक पहुंच गयी है. उद्योगों के बढ़ने से राज्य में निवेश भी बड़ा है और 8 हजार करोड़ शुरुआती निवेश से बढ़कर अब 32 हजार करोड़ तक पहुंच चुका है. अगर एमएसएमई उद्योगों की बात करें तो शुरुआती दौर में राज्य में सात करोड़ का निवेश था जो अब करीब 13 हजार करोड़ तक पहुंच गया है.

इस वजह से बदले हालात
प्रदेश में राज्य गठन के बाद सरकारों ने उद्योग के क्षेत्र में इन्वेस्टर्स के लिए कई ठोस कदम उठाये हैं, जिसमे शुरुआती दौर में जमीनों को रियायती दरों पर देने के साथ इन्वेस्टर्स के लिए कई प्रकार की छूट भी दी गई. यकीनन इसका बड़ा असर देखने को भी मिला और राज्य में बाद छोटे व बड़े उद्योग तेजी से स्थापित होने लगे. अगर राज्य के उद्योग विभाग के आंकड़ों पर नजर डालें तो राज्य गठन के दौरान एमएसएमई उद्योग तेजी बढ़ोतरी हुई. राज्य गठन के दौरान जहां 15 हजार छोटे उद्योग राज्य में चल रहे थे, जो अब 60 हजार से अधिक हो गए हैं. एमएसएमई में जहां पहले 3800 लोगों को रोजगार मिलता था, अब उनकी संख्‍या बढ़कर करीब 30 लाख तक पहुंच गयी है.

बड़े उद्योगों हुआ बड़ा बदलाव



जबकि बड़े उद्योगों की बात करें तो राज्य गठन के दौरान इनकी संख्या मात्र 38 थी जो आज 300 तक पहुंच चुकी है. इनमें जहां पहले 30 हजार लोगों को रोजगार मिल रहा था, वो अब बढ़कर डेढ लाख तक पहुंच चुका है. जबकि राज्य का उद्योग विभाग अपनी एक बड़ी उपलब्धि मानता है. अब विभाग की नजरें बीते साल हुए इन्वेस्टर्स सम्मेलन पर है, जिसमें करीब 1 लाख 24 हजार करोड़ रूपये का निवेश आया था. इसे धरातल पर उतरने की विभाग कोशिश कर रहा है.



राज्य के उद्योग विभाग के निदेशक उद्योग सुधीर कुमार नौटियाल का कहना है कि इन्वेस्टर्स समिट के दौरान आये निवेशक से बातचीत चल रहे है और उनको जो भी सहायता चाहिए दी जा रही है. इसके लिए सिंगल विंडो सिस्टम बनाया गया है. इस निवेश के आने से राज्य में युवाओं के लिए रोजगार की संभावनाएं बढ़ेंगी.

यह भी पढ़ें- उत्तरकाशी में बच्ची के बलात्कार, हत्या के आरोप में स्थानीय मज़दूर गिरफ़्तार

पुलिस के हत्थे चढ़ा स्मैक तस्कर, बाजार में कीमत 20 लाख रुपये
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading