पिछले साल क्रिकेट में धाक जमाने वाले उत्‍तराखंड को BCCI ने दिया खास 'गिफ्ट'

भले ही प्रदेश में किसी भी क्रिकेट एसोसिएशन को अभी तक मान्यता ना मिला हो, लेकिन उत्तराखंड क्रिकेट का डंका पूरे देश में बज रहा है.

Robin Singh Chauhan | News18 Uttarakhand
Updated: August 5, 2019, 5:10 PM IST
पिछले साल क्रिकेट में धाक जमाने वाले उत्‍तराखंड को BCCI ने दिया खास 'गिफ्ट'
उत्‍तराखंड के पास शानदार क्रिकेट स्‍टेडियम है. (फोटो-पीटीआई)
Robin Singh Chauhan | News18 Uttarakhand
Updated: August 5, 2019, 5:10 PM IST
इस बार बीसीसीआई के घरेलू सत्र का कैलेंडर आया तो प्रदेश के लिए एक अच्छी खबर सामने आई. उत्तराखंड को विजय हजारे ट्रॉफी की मेजबानी का मौका मिला है, जिससे क्रिकेट प्रेमी बहुत उत्साहित नजर आ रहे हैं. जबकि उत्‍तराखंड इस बार विभिन्‍न टूर्नामेंट्स के करीब 60 मैचों की मेजबानी करेगा. वैसे पिछले साल ही उत्तराखंड को बीसीसीआई से मान्यता मिली थी, लेकिन प्रदेश के क्रिकेट खिलाड़ियों ने अपने दमदार प्रदर्शन से धाक जमा दी.

भले ही प्रदेश में किसी भी क्रिकेट एसोसिएशन को अभी तक मान्यता ना मिला हो, लेकिन उत्तराखंड क्रिकेट का डंका पूरे देश में बज रहा है. 2018 में ही बीसीसीआई ने उत्तराखंड क्रिकेट को मान्यता दी और क्रिकेट कमेटी ने सारे घरेलू मैच पूरे करवाए. पिछले साल हुए घरेलू मैचों में प्रदेश क्रिकेट टीम ने करीब 70 प्रतिशत मैच जीत कर अपना डंका बजवाया. जबकि उसे सबसे दमदार जीत बिहार के खिलाफ मिली थी. बिहार ( 60 और 169) को उत्‍तराखंड (227 और 4/0) ने दस विकेट से रौंदा था.

पिछले सीजन के स्टार खिलाड़ी
पिछले साल उत्‍तराखंड के लिए रजत भाटिया ( 8 मैचों में 700 रन), सौरभ रावत ( 9 मैचों में 593 रन), विनीत सक्‍सेना ( 9 मैचों में 545 रन), दीपक धपौला (8 मैचों में 45 विकेट), सन्‍नी राणा ( 9 मैचों में 29 विकेट) और करमवीर (विजय हजारे में पहला दोहरा शतक) ने शानदार प्रदर्शन किया था. यही वजह रही कि टीम अपने पहले ही सीजन में क्‍वार्टरफाइनल में जगह बनाने में सफल रही.

इस कारण खास रहा रणजी सीजन
रणजी ट्राफी सबसे खास रहा, क्‍योंकि पहली बार खेल रही उत्‍तराखंड की टीम ने अपने ग्रुप में टॉप किया और क्वार्टरफाइनल में पहुंची. उसने अपने 8 में से छह मैचों में बाजी मारी और 44 प्‍वाइंट्स के साथ नंबर 1 रही. हालांकि टीम क्‍वार्टरफाइनल में विदर्भ से एक पारी और 115 रन से पिटकर बाहर हो गई. जबकि इस बार वह वह प्‍लेट ग्रुप से प्रमोट होकर ग्रुप सी में खेलेगी.

बहरहाल, इस बार 9 दिसंबर से रणजी ट्रॉफी की शुरुआत होनी है और उत्‍तराखंड का सबसे पहला मैच जम्मू-कश्‍मीर से होना है.
Loading...

यूं उत्‍तराखंड बीसीसीआई की पसंद बना
क्रिकेट को लेकर प्रदेश में तैयार इंफास्ट्रक्चर की भी तारीफ हर जगह हो रही है. दरअसल, प्रदेश का देहरादून स्थित राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम इस समय बीसीसीआई की नजरों में है और यहां कई अंतरराष्ट्रीय मैच भी हुए हैं. साफ है कि यहां का न सिर्फ स्‍टेडियम बल्कि कई अन्‍य सुविधाएं भी बोर्ड के पैमाने पर खरी उतर रही हैं. आपको बता दें कि यह अफगानिस्‍तान क्रिकेट में टीम का अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए घरेलू मैदान भी है.

बीसीसीआई के देहरादून में प्रतिनिधि अमित पांड़े बताते है कि बीसीसीआई के कई ऑफिशियल इस समय देहरादून आना चाहते हैं. यकीनन देहरादून उनकी पहली पसंद बना हुआ है.

उत्तारखंड के मैच
रणजी मैच
9 से 12 दिसंबर- उत्तराखंड बनाम जम्मू एंड कश्मीर
3 से 6 जनवरी -उत्तराखंड बनाम असम
27 से 30 जनवरी- उत्तराखंड बनाम हरियाणा
4 से 7 फरवरी- उत्तराखंड बनाम सर्विसेज

सीके नायडू ट्रॉफी
14 से 17 दिसंबर- उत्तराखंड बनाम केरल
27 से 30 दिसंबर- उत्तराखंड बनाम छत्तीसगढ़
5 से 8 जनवरी -उत्तराखंड बनाम त्रिपुरा
6 से 9 फरवरी- उत्तराखंड बनाम गोवा

कूच बिहार ट्रॉफी
29 नवंबर से 2 दिसंबर- उत्तराखंड बनाम असम
6 से 9 दिसंबर- उत्तराखंड बनाम त्रिपुरा
27 से 30 दिसंबर- उत्तराखंड बनाम जम्मू एंड कश्मीर

विजय मर्चेंट ट्रॉफी
11 से 13 अक्टूबर- उत्तराखंड बनाम मध्य प्रदेश
23 से 25 अक्टूबर- उत्तराखंड बनाम विदर्भ
31 अक्टूबर से 2 नवंबर- उत्तराखंड बनाम छत्तीसगढ़

ये भी पढ़ें-Ashes: 16 साल की उम्र में हुआ था कैंसर, लंबे समय बाद वापसी कर जड़ दिया शतक

देहरादून में कश्मीरी छात्र-छात्राओं के फ़ोन हुए बंद, डीएम ने मांगी इंटेलिजेंस से रिपोर्ट
First published: August 5, 2019, 5:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...