Home /News /uttarakhand /

Uttarakhand Election Results 2019: बीजेपी-कांग्रेस के अलावा नहीं बची किसी की जमानत

Uttarakhand Election Results 2019: बीजेपी-कांग्रेस के अलावा नहीं बची किसी की जमानत

बीजेपी, कांग्रेस के अलावा उत्तराखंड में अमूमन किसी को इतने वोट भी नहीं मिलते कि ज़मानत बच जाए.

बीजेपी, कांग्रेस के अलावा उत्तराखंड में अमूमन किसी को इतने वोट भी नहीं मिलते कि ज़मानत बच जाए.

2014 के चुनावों में पांच सीटों पर कुल 74 प्रत्याशी मैदान में थे जिनमें से 64 की ज़मानत ज़ब्त हो गई थी.

    उत्तराखंड में हमेशा से ही बीजेपी और कांग्रेस में मुख्य मुकाबला रहा है. हरिद्वार और ऊधम सिंह नगर के मैदानी क्षेत्रों में ज़रूर बीएसपी का कुछ असर रहा और पार्टी यहां विधायक बनाने में कामयाब रही है. कांग्रेस की विजय बहुगुणा-हरीश रावत सरकार में तो बीएसपी और निर्दलीय किंगमेकर की भूमिका में भी रहे हैं. लेकिन लोकसभा में यह सारा खेल बदल जाता है. आंकड़े बताते हैं कि लोकसभा चुनावों में  बीजेपी और कांग्रेस के अलावा कोई भी पार्टी या प्रत्याशी यहां ज़मानत तक नहीं बचा पाता.

    बता दें कि ज़मानत राशि बचाने के लिए कुल मतदान के छठे हिस्से जितने वोट पाना ज़रूरी होता है. लेकिन उत्तराखंड में जहां वोट दो ही पार्टियों के बीच बंटते हों यह संख्या बहुत बड़ी लगती है.

    ऐसे कर्तव्यवीर को सलाम... पीठ का ऑपरेशन हुआ तो लेटकर संभाला मतगणना का काम

    इस बार के लोकसभा चुनावों में पांच लोकसभा सीटों पर 52 प्रत्याशी मैदान में थे. लेकिन हरिद्वार को छोड़कर बागकी सीटों पर लगभग 95 फ़ीसदी वोट बीजेपी-कांग्रेस के बीच ही बंट गए. हरिद्वार में ज़रूर बीएसपी ने 13 फ़ीसदी से ज़्यादा वोट हासिल किए लेकिन उसका प्रत्याशी भी ज़मानत नहीं बचा पाया.

    Uttarakhand Loksabha Election Results 2019: एक फ़ीसदी से ज़्यादा वोट पड़े नोटा पर

    इस बार चुनाव लड़ने वाले 52 प्रत्याशियों में से 42 की ज़मानत ज़ब्त हो गई इसका अर्थ यह हुआ कि सिर्फ़ बीजेपी और कांग्रेस ही ज़मानत राशि बचा पाए. हरिद्वार और ऊधम सिंह नगर में बीएसपी प्रत्याशी के अलावा किसी भी उम्मीदवार को एक प्रतिशत भी वोट नहीं मिले.

    कौन बनेगा केंद्र में मंत्री? अजय भट्ट ने ‘सब प्रभु पर छोड़ा’

    इससे पहले हुए चुनावों में भी स्थिति बहुत अलग नहीं रही है. 2014 के चुनावों में पांच सीटों पर कुल  74 प्रत्याशी मैदान में थे जिनमें से 64  की ज़मानत ज़ब्त हो गई थी. इसका मतलब कि पिछली बार भी वोट बीजेपी-कांग्रेस के बीच ही बंटे थे.

    Uttarakhand Loksabha Election Results 2019: सभी सीटों पर जीत का मार्जिन बढ़ा

    2009 के आम चुनावों में 76 प्रत्याशियों ने किस्मत आज़माई थी. 2019 और 2014 के विपरीत 2009 में सभी सीटें कांग्रेस ने जीती थीं. उस चुनाव में 12 प्रत्याशी ज़मानत बचाने में सफल रहे थे. इसका अर्थ यह हुआ कि बीजेपी-कांग्रेस के अलावा दो और प्रत्याशी इतने वोट हासिल कर पाए थे कि ज़मानत बचा पाएं.

    (पंकज राणा की रिपोर्ट)

    Uttarakhand Loksabha Election Results 2019: जानिए क्यों ख़ास रहा पौड़ी का चुनाव, क्या फ़र्क है तीरथ-मनीष में

    Uttarakhand Loksabha Election Results 2019: अपनी-अपनी डफली बजाते रहे कांग्रेसी दिग्गज, पार्टी का हुआ बंटाधार

    Uttarakhand Loksabha Election Results 2019: जानिए कौन से मिथक तोड़े ऐतिहासिक जनादेश ने

    Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

     

    Tags: Lok Sabha Election Result 2019, Uttarakhand BJP, Uttarakhand Congress, Uttarakhand Lok Sabha Elections 2019, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर