COVID-19: उत्तराखंड के मंत्री की पत्नी निकली कोरोना पॉजिटिव, सरकारी आवास किया गया सील
Dehradun News in Hindi

COVID-19: उत्तराखंड के मंत्री की पत्नी निकली कोरोना पॉजिटिव, सरकारी आवास किया गया सील
देहरादून में स्थित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पेट्रोलियम में बुधवार को एक कोरोना टेस्टिंग लैब का उद्घाटन किया गया.

त्रिवेंद्र रावत कैबिनेट के सहयोगी मंत्री की पत्नी और पूर्व विधायक कोरोना पॉजीटिव निकली हैं. निजी लैब में उनका सैंपल लिया गया था. शनिवार शाम रिपोर्ट पॉजीटिव आते ही हड़कंप मच गया.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड में त्रिवेंद्र रावत कैबिनेट (Trivendra Rawat Cabinet) के सहयोगी मंत्री की पत्नी जो कि पूर्व विधायक भी रही हैं, कोरोना पॉजीटिव निकली हैं. बताया जा रहा है कि एक निजी लैब में उनका सैंपल लिया गया था. शनिवार शाम सैंपल रिपोर्ट पॉजीटिव आते ही हड़कंप मच गया. मंत्री शुक्रवार को हुई कैबिनेट बैठक में भी शामिल हुए थे. इससे अब पूरी कैबिनेट पर ही खतरा मंडरा रहा है. एहतियातन मंत्री के सरकारी आवास को भी सील किया जा रहा है. डीएम देहरादून (Dehradun) का कहना है कि रविवार को मंत्री का भी सैंपल लिया जाएगा. इसके साथ ही उनकी कांटेक्ट्र ट्रेसिंग भी शुरू कर दी गई है. मंत्री की पत्नी की ट्रेवल हिस्ट्री दिल्ली की बताई जा रही है.

इससे पहले 20 मई को मंत्री का सर्कुलर रोड स्थित आवास भी कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया था. उस समय बताया गया था कि मंत्री आवास पर चार लोग दिल्ली से आए हैं, जिसके कारण उनके आवास को क्वारंटाइन कर दिया गया है. मंत्री तब अपने सरकारी आवास में शिफ्ट हो गए थे.

लगातार बढ़ रहे मामले



उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. शनिवार शाम तक कोरोना पॉजीटिव मरीजों की कुल संख्या 749 पहुंच गई. इनमें से 639 एक्टिव केस हैं, जबकि अभी तक कोरोना संक्रमित पांच लोगों की मौत हो चुकी है. करीब पांच हजार कोरोना संदिग्ध लोगों की सैंपल रिपोर्ट आनी अभी बाकी हैं.



पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आने से बचे एक और मंत्री

इससे पहले कैबिनेट मंत्री एवं शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक भी कोरोना पॉजीटिव मरीज के संपर्क में आने से बाल-बाल बच गए थे. हरिद्वार में राशन वितरण के एक कार्यक्रम के दौरान क्वारंटाइन रखा गया व्यक्ति भी कार्यक्रम में पहुंच गया था. सैंपल रिपोर्ट आने के बाद ये व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव पाया गया था. कांटेक्ट ट्रेसिंग के दौरान जांच में पाया गया कि मंत्री के जाने से पहले संबंधित शख्स राशन लेकर कार्यक्रम से जा चुका था. मंत्री उसके संपर्क में नहीं आए. इसलिए मंत्री क्वारंटाइन होते-होते भी बच गए थे.

ये भी पढ़ें-

Lockdown: दिल्ली से 67000 प्रवासी लौटे उत्तराखंड, 2.5 लाख ने किया था आवेदन

उत्तराखंडः सार्वजनिक जगहों पर थूका या कूड़ा फेंका तो 500 से 5000 रुपए तक लगेगा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading