उत्तराखंडः जाते हुए बरसेंगे मेघ, 25 के बाद देवभूमि से विदा हो सकता है मॉनसून

मॉनसून अब विदाई की बेला में है और मौसम विभाग के अनुसार जाते हुए मेघ फिर बरसने की संभावना है.
मॉनसून अब विदाई की बेला में है और मौसम विभाग के अनुसार जाते हुए मेघ फिर बरसने की संभावना है.

इस बार सामान्य बारिश का आंकड़ा भी नहीं छू पाए 10 जिले

  • Share this:
देहरादून समेत बेहद उमस भरी गर्मी झेल रहे प्रदेश के ज़्यादातर इलाक़ों के लिए राहत की ख़बर है. जल्द ही प्रदेश को फिर बारिश की सौगात मिल सकती है. दरअसल मॉनसून अब विदाई की बेला में है और मौसम विभाग के अनुसार जाते हुए मेघ फिर बरसने की संभावना है. मौसम विभाग के अनुसार उत्तराखंड में 25 तारीख के बाद प्रदेश से मॉनसून की विदाई हो सकती है. भले ही मॉनसून सीज़न में बारिश ने कई रिकॉर्ड तोड़े हों लेकिन सिर्फ 3 ज़िले ऐसे रहे जहां औसत से ज़्यादा बारिश रिकॉर्ड दर्ज की गई है.

17% कम बारिश 

मौसम विभाग के अनुसार कुमाऊं के ज़िलों में तेज बारिश के साथ ही ओलावृष्टि की भी संभावना है. यानी मॉनसून विदाई से पहले एक बार फिर बारिश देकर जाएगा. मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के निदेशक विक्रम सिंह ने बताया कि इस बार प्रदेश सामान्य बारिश का रिकॉर्ड नहीं छू पाया. उत्तराखंड में इस साल मॉनसून सीजन में 17% कम बारिश दर्ज हुई है.



प्रदेश के चंपावत जिले में सबसे कम 592.1 मिलीमीटर बारिश ही हुई है जबकि सामान्य बारिश का रिकॉर्ड 1246.8 मिलीमीटर है. इसके अलावा उत्तरकाशी में 45% कम बारिश हुई है हालांकि मौसम विज्ञान केंद्र का अनुमान है कि 22 से 25 तारीख के बीच प्रदेश में अच्छी बारिश होगी.
एक नज़र 21 सितम्बर तक हुई बारिश पर









































































जिला सामान्य बारिश (मिलीमीटर में) 21 सितम्बर तक बारिश ((मिमी में))
देहरादून 1452.6 1095
नैनीताल 1341.9 898.9
हरिद्वार 928.5 779.4
अल्मोड़ा 781.2 593.3
बागेश्वर 781.2 1927.4
चमोली 738.6 825.4
पौड़ी 1168.4 635
चंपावत 1246.8 592.1
ऊधम सिंह नगर 1010 979.8
रुद्रप्रयाग 1441.8 954.5
उत्तरकाशी 1151.5 629.7
टिहरी 944.3 701.8
पिथौरागढ़ 1465 1499


प्रदेश में भले ही मॉनसून सीजन में कम बारिश हुई लेकिन अब भी मौसम वैज्ञानिक उम्मीद कर रहे हैं कि जाते-जाते मॉनसून अच्छी बारिश देकर जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज