• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • बद्रीनाथ समेत चारों धामों में लौटी रौनक, दो दिन में जारी हुए 42 हजार से ज्यादा ई-पास

बद्रीनाथ समेत चारों धामों में लौटी रौनक, दो दिन में जारी हुए 42 हजार से ज्यादा ई-पास

एसओपी के तहत केदारनाथ धाम में प्रतिदिन 800 श्रद्धालुओं को ही दर्शन की इजाजत मिलेगी.

एसओपी के तहत केदारनाथ धाम में प्रतिदिन 800 श्रद्धालुओं को ही दर्शन की इजाजत मिलेगी.

Chardham Yatra : यात्रा के पहले दिन शनिवार को 1273 और रविवार को 1267 श्रदालुओं ने बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमनोत्री धामों के दर्शन किए. गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब/लोकपाल तीर्थ में भी रविवार को 72 श्रद्धालु मत्था टेकने पहुंचे.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

देहरादून. उत्तराखंड में शनिवार से शुरू हुई चारधाम यात्रा जोर पकड़ने लगी है. देवस्थानम बोर्ड के अनुसार चारों धामों में शुरुआती दो दिन में ढाई हजार से अधिक लोग दर्शन कर चुके हैं. जबकि, देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट से चारों धामों के लिए अभी तक 42 हजार से अधिक ई-पास जारी हो चुके हैं. सीएम पुष्कर सिंह धामी, पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने चारधाम यात्रा के सफलतापूर्वक शुरू होने पर खुशी जाहिर की है. यात्रा के पहले दिन शनिवार को 1273 और रविवार को 1267 श्रदालुओं ने बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमनोत्री धामों के दर्शन किए. गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब/लोकपाल तीर्थ में भी रविवार को 72 श्रद्धालु मत्था टेकने पहुंचे.

नैनीताल हाईकोर्ट ने गुरुवार 16 सितंबर को चारधाम यात्रा शुरू करने का फैसला दिया. इसके बाद प्रदेश सरकार ने 18 सितंबर से चारधाम यात्रा को हरी झंडी दे दी. पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर के अनुसार चारधाम यात्रा से उत्तराखंड पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा. धर्मस्व सचिव एचसी सेमवाल ने कहा कि यात्रा के दौरान कोविड एसओपी का पूरी तरह पालन कराया जा रहा है.

ऐसे कराएं रजिस्ट्रेशन

एसओपी के तहत केदारनाथ धाम में प्रतिदिन 800, बद्रीनाथ धाम में 1000, गंगोत्री में 600, यमनोत्री धाम में कुल 400 श्रद्धालुओं को जाने की अनुमति दी गई है. चारधाम यात्रा के लिए उत्तराखंड से बाहर के श्रद्धालुओं के लिए देहरादून स्मार्ट सिटी पोर्टल http://smartcitydehradun.uk.gov.in में रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है और ई-पास के लिए देवस्थानम बोर्ड की साइट www.devasthanam.uk.gov.in या http:// badrinah-Kedarnath.uk.gov.in प्रत्येक श्रद्धालु को कोविड नेगेटिव रिपोर्ट या वैक्सीन की डबल डोज लगी होने का सर्टिफिकेट जमा करना होता है. उत्तराखंड के लोगों को स्मार्ट सिटी पोर्टल में पंजीकरण की आवश्यकता नहीं है.

इसे भी पढ़ें : केजरीवाल का ऐलान- AAP की सरकार बनी तो हर घर रोजगार, तब तक सबको 5000

विधायक बदरीनाथ और उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड के सदस्य महेंद्र भट्ट, आशुतोष डिमरी, श्रीनिवास पोस्ती, महेंद्र शर्मा, कृपाराम सेमवाल, जेपी उनियाल, गोविंद सिंह पंवार, चारधाम विकास परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष आचार्य शिवप्रसाद ममगाई ने चार धाम यात्रा शुरू होने पर खुशी जताई है.

इसे भी पढ़ें : 21 सितंबर से बजेगी प्राइमरी स्कूलों की घंटी, सरकार ने जारी की एसओपी

चारधाम यात्रा के दौरान पर्याप्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. मुनि की रेती, देवप्रयाग, टिहरी, उत्तरकाशी, बड़कोट, रूद्रप्रयाग, सोनप्रयाग, जोशीमठ, पांडुकेश्वर सहित चारों धामों के प्रवेश मार्गों पर पुलिस नजर रख रही है. देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डॉ. हरीश गौड़ ने बताया कि चार धाम के अलावा द्वितीय केदार रूद्रनाथ, तृतीय केदार तुंगनाथ, चतुर्थ केदार रूद्रनाथ और पंच बदरी योग बदरी पांडुकेश्वर, ध्यान बदरी उर्गम, भविष्य बदरी सुभाई (जोशीमठ) वृद्ध बदरी अणीमठ सहित देवस्थानम बोर्ड के अधीनस्थ मंदिरों में भी तीर्थ यात्री पहुंचे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन