उत्तराखंड का ट्यूलिप गार्डन बटोर रहा वाहवाही, उमर अब्दुल्ला ने तुलना करते कह दी ये बात
Dehradun News in Hindi

उत्तराखंड का ट्यूलिप गार्डन बटोर रहा वाहवाही, उमर अब्दुल्ला ने तुलना करते कह दी ये बात
यह पायलट प्रोजेक्ट मुनस्यारी में 1200 वर्गमीटर के क्षेत्र में विकसित किया गया है. (फोटो साभार: Twitter)

उत्तराखंड (Uttrakhand) के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) ने मुनस्यारी क्षेत्र में विकसित किए जा रहे ट्यूलिप गार्डन (Tulip Garden) की खूबसूरत तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की तो वे देखते ही देखते इंटरनेट पर वायरल हो गई.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड (Uttrakhand) के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) ने तीन दिन पहले राज्य के मुनस्यारी क्षेत्र में ट्यूलिप गार्डन (Tulip Garden) की खूबसूरत तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की. सीएम के तस्वीर शेयर करने के साथ ही देखते-देखते ये तस्वीरें इंटरनेट पर छा गईं. टि्वटर और फेसबुक पर इन तस्वीरों को देखकर बड़ी संख्या में लोग इसके प्रशंसक बन गए. लोगों ने न केवल इन तस्वीरों को पसंद किया, बल्कि जमकर तारीफ करते हुए इन्हें शेयर भी किया. दरअसल, यह पायलट प्रोजेक्ट मुनस्यारी में 1200 वर्गमीटर के क्षेत्र में विकसित किया गया है. इसके जनक और पिथौरागढ़ के प्रभागीय वन अधिकारी विनय भार्गव ने बताया कि इस परियोजना के लिए 7000 ट्यूलिप बल्ब हॉलैंड से मंगवाए गए और सभी अंकुरित भी हो गए. इस पर सीएम रावत ने ट्वीट कर इससे पर्यटन क्षेत्र में बदलाव की उम्मीद जताई.

मुनस्यारी क्षेत्र में पर्यटन में होगा बदलाव

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्यूलिप गार्डन की तस्वीर शेयर करते हुए अपने ट्वीट में लिखा,‘‘ मैं अपनी स्वप्न परियोजना-मुनस्यारी स्थित ट्यूलिप गार्डन- के सफल पायलट प्रोजेक्ट की पहली तस्वीरें साझा करते हुए बहुत खुश हूं . पंचाशूली रेंज की पृष्ठभूमि से सजा यह गार्डन दुनिया के सबसे बड़े ट्यूलिप गार्डन में से एक है और यह मुनस्यारी क्षेत्र में पर्यटन में बड़ा बदलाव लाएगा.'
पार्क में मिलेगी ये सुविधामुख्यमंत्री ने लिखा, ‘‘30 हेक्टेयर में फैले 'मुनस्यारी नेचर एजुकेशन एंड इको पार्क सेंटर' का एक हिस्सा ट्यूलिप गार्डन के रूप में विकसित किया जा रहा है और यह पिथौरागढ़ में बन रहे ट्यूलिप गार्डन से अलग है. इस पार्क में हट के साथ टेंट में रहने की सुविधा भी उपलब्ध है .'




उमर अब्दुल्ला ने भी दी बधाई

रंग-बिरंगे ट्यूलिप के चित्र देख कर जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला भी सीएम रावत को बधाई देने से खुद को रोक नहीं सके. अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘पंचाशूली की पृष्ठभूमि में उगाए जा रहे फूल सुंदर हैं, लेकिन हमारे श्रीनगर का ट्यूलिप गार्डन इससे कहीं ज्यादा सुंदर हैं.’’ रावत ने अब्दुल्ला के इस ट्वीट पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

स्थानीय विधायक प्रकाश पंत का था सपना

उन्होंने बताया कि शुरुआत में इस परियोजना को विकसित करने का सपना दिवंगत स्थानीय विधायक और पूर्व कैबिनेट मंत्री प्रकाश पंत ने देखा था. लेकिन पिछले साल जून में उनके अचानक निधन के बाद  पिथौरागढ के प्रभागीय वन अधिकारी विनय भार्गव ने इस परियोजना का प्रस्तुतिकरण मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के सामने दिया, जिसे उन्होंने तत्काल सहमति प्रदान कर दी.

परियोजना को विस्तारित करने की है योजना

भार्गव ने कहा कि उनका प्रयास इस परियोजना को विस्तारित करने का है, जिसमें उत्तराखंड में पाए जाने वाले दूसरे खूबसूरत फूल जैसे आइरिस, लिलियम, रेननकुलुस, डेफोडिल आदि भी उगाए जाएंगे. उन्होंने कहा कि इस परियोजना को इस तरह से विकसित किया जाएगा जिससे पर्यटन के साथ ही स्थानीय लोगों को रोजगार भी प्राप्त हो.

ये भी पढ़ें: 

Covid-19 Effect: करीब 24 हज़ार स्टूडेंट्स को इस साल स्कॉलरशिप मिलनी मुश्किल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज