उत्तराखंड: निरंजनपुर सब्जी मंडी सील, हरा धनिया 60 तो अदरक 140 रुपये किलो तक पहुंचा
Dehradun News in Hindi

उत्तराखंड: निरंजनपुर सब्जी मंडी सील, हरा धनिया 60 तो अदरक 140 रुपये किलो तक पहुंचा
मंडी समिति के सचिव विजय थपलियाल का कहना है कि सब्जी और फल की किल्लत न हो इसके लिए शहर के बाहर ननूरखेड़ा और डांडा लखौंड में बाहर से आ रही सप्लाई को अनलोड किया जा रहा है.

देहरादून (Dehradun) के अलग-अलग इलाकों में फुटकर व्यापारियों को शनिवार को फल और सब्जी की खेप नहीं मिल पाई.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
देहरादून. निरंजनपुर सब्जी मंडी (Niranjanpur Vegetable Market) में आढ़तियों समेत उनके कांटेक्ट के करीब 47 लोगों के कोराना पॉजीटिव निकलने के बाद प्रशासन ने पूरी मंडी को 11 जून तक के लिए सील कर दिया है. मंडी में करीब 250 आढ़ती हैं. इसी मंडी से देहरादून और पहाड़ के अधिकतर स्थानों पर फल और सब्जी की सप्लाई होती है. लेकिन, गुरुवार को मंडी के सील होने के बाद सप्लाई चेन टूट गई है.

ऐसे में देहरादून के अलग-अलग इलाकों में फुटकर व्यापारियों को शनिवार को फल और सब्जी की खेप नहीं मिल पाई. उन्होंने मौजूदा स्टॉक से ही काम चलाया. कुछ व्यापारियों ने हरिद्वार की ज्वालापुर मंडी से फल और सब्जी मंगाकर काम चलाया. अधिकांश फल और सब्जी विक्रेताओं के पास सब्जी का पूरा स्टॉक नहीं था. पुराना ही माल पड़ा हुआ था. स्टॉक में कमी और डिमांड अधिक होने के कारण अब फल और सब्जी के दामों में अचानक से उछाल आ गया है. हरा धनिया फुटकर मार्केट में 30 रुपये किलो मिलता था, उसकी कीमत अब दोगुनी हो गई है. इसी तरह 70 रुपए किलो बिकने वाला अदरक भी 140 रुपए तक पहुंच गया है. अगले एक दो दिनों में इसमें और तेजी आने की संभावना है.

बाहर से सप्लाई आने का दावा
मंडी समिति के सचिव विजय थपलियाल का कहना है कि सब्जी और फल की किल्लत न हो इसके लिए शहर के बाहर ननूरखेड़ा और डांडा लखौंड में बाहर से आ रही सप्लाई को अनलोड किया जा रहा है. यहां से मंडी के रजिस्टर्ड वाहनों के माध्यम से शहर भर में फल, सब्जी की सप्लाई की जा रही है. लेकिन, फुटकर व्यापारियों का कहना है कि उनमें से अधिकांश को ये जानकारी नहीं है कि कब और कहां ट्रक अनलोड हो रहे हैं. इसमें भी सब्जियों की वेरायटी मिलेगी या नहीं ये भी एक बड़ी समस्या है.



मंडी इंस्पेक्टरों के नेतृत्व में बनी टीमें


मंडी समिति का कहना है कि ओवर रेटिंग न हो इसके लिए मंडी इंस्पेक्टरों के नेतृत्व में दो टीमें बनाई गई हैं, जो ओवर रेटिंग की शिकायत पर कार्यवाही करेंगी. अब ये अलग बात है कि शहर भर में एक भी सब्जी की दुकान ऐसी नजर नहीं आई,  जिस पर रेट लिस्ट टंकी हुई हो..यानि कि मंडी बंद रहने तक सब्जी और फल के नाम पर लोगों की जेब ढीली होने वाली है.

ये भी पढ़ें- 

झारखंड में तुगलकी फैसला मजदूरों से कहा-काम करने बाहर जाना है तो पहले लो मंजूरी

झारखंड में कोरोना विस्फोट, एक दिन रिकॉर्ड 79 मामले मिले, 922 पर पहुंचा आंकड़ा
First published: June 7, 2020, 7:32 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading