लाइव टीवी

उत्तराखंड को नहीं चाहिए ऐसे उत्पाती टूरिस्ट

Rajesh Dobriyal | News18 Uttarakhand
Updated: June 18, 2019, 7:15 PM IST
उत्तराखंड को नहीं चाहिए ऐसे उत्पाती टूरिस्ट
सोमवार को मसूरी में शराब पीकर आए मेरठ के दो युवकों ने जमकर बवाल काटा था. जिसके बाद स्थानीय लोगों ने उनकी जमकर धुनाई कर दी थी.

पर्यटन पर आधारित अर्थव्यवस्था वाले उत्तराखंड के लिए ऐसे उत्पाती पर्यटकों को झेलना क्या मजबूरी है?

  • Share this:
मसूरी में सोमवार शाम मेरठ से आए युवकों के शराब पीकर हंगामा करने की वजह से आज दिन भर मसूरी शहर की सारी व्यवस्था चौपट रही. पुलिस पर एकतरफ़ा कार्रवाई का आरोप लगाकर कर्मचारी छुट्टी पर चले गए थे इसलिए मसूरी की सफ़ाई व्यवस्था ठप हो गई थी, मालरोड के प्रवेश द्वार खुले हुए थे और वाहन बेरोक-टोक उसमें जा रहे थे. आखिर मसूरी कोतवाली प्रभारी को फ़ोर्स लीव पर भेजे जाने के बाद कर्मचारी मंगलवार शाम काम पर लौटे. लेकिन इस प्रकरण से अनियंत्रित पर्यटन को लेकर सवाल खड़े हो गए हैं.

यह था बवाल 

दरअसल यह सारा बवाल तब शुरु हुआ जब सोमवार दोपहर मेरठ से आए तीन युवकों ने माल रोड पर प्रवेश शुल्क देने से इनकार कर दिया. इनमें से दो शराब पीकर टुल्ल थे. पालिकाकर्मियों के समझाने पर ये पालिकाकर्मियों के साथ गाली-गलौज करने लगे. स्थानीय लोगों ने हस्तक्षेप किया तो ये शराबी युवक उनसे भी भिड़ गए. इस पर गुस्साए लोगों और पालिकाकर्मियों ने इन दोनों की जमकर धुनाई कर दी थी.

शराबी युवकों की पिटाईः मसूरी पालिकाकर्मियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई पर कोतवाली प्रभारी को फ़ोर्स लीव

इस मामले पर पुलिस कार्रवाई और कर्मचारियों के आंदोलन से इतर सवाल यह भी उठ रहे हैं कि क्या पर्यटन पर आधारित अर्थव्यवस्था वाले उत्तराखंड के लिए ऐसे उत्पाती पर्यटकों को झेलना क्या मजबूरी है?

गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं 

मसूरी नगरपालिका अध्यक्ष अनुज गुप्ता कहते हैं कि कम से कम मसूरी को तो ऐसे उत्पाती टूरिस्ट नहीं चाहिए. वह कर्मचारियों के आंदोलन का समर्थन करते हैं और कहते हैं कि सर्दी-गर्मी-बरसात झेलकर व्यवस्था बनाने के लिए काम करने वाले कर्मचारी गालियां तो नहीं खाएंगे न. वह कहते हैं कि इन लोगों की हरकतों की वजह से पूरी मसूरी बदनाम हो गई. न मसूरी को ऐसे टूरिस्ट चाहिए, न उत्तराखंड को.
Loading...

उत्तराखंड होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप साहनी कहते हैं हमेशा एक-दो फ़ीसदी ऐसे टूरिस्ट आ जाते हैं जो उपद्रवी होते हैं, उत्पाती होते हैं. अच्छा यह होता है कि जब भी ऐसा कोई मामला सामने आए इस पर सख़्ती से कार्रवाई करके, उन्हें कंट्रोल कर पुलिस को सौंप देना चाहिए.

VIDEO: इन पर्यटकों के लिए सफल हो गया मसूरी आना... जमकर हुई बर्फ़बारी

साहनी कहते हैं सात-आठ साल पहले पुलिस-प्रशासन ने शहर के लोगों के साथ मिलकर यह फ़ैसला किया था कि कांवड़ियों को मसूरी में नहीं आने दिया जाएगा. इस फ़ैसले का बहुत अच्छा असर पड़ा क्योंकि वह आकर यहां बवाल कर देते थे. इस तरह के कदम उठाए जाने चाहिए.

लच्छीवाला में कार्रवाई 

lachchhiwala, देहरादून के लच्छीवाला में पर्यटकों की गाड़ियां चेक करते वनकर्मी.
लच्छीवाला में पर्यटकों की गाड़ियां चेक करते वनकर्मी.


इसी तरह देहरादून के लच्छीवाला टूरिस्ट स्पॉट में भी बीते हफ़्ते कुछ उत्पाती युवकों के गाड़ी खोलकर ज़ोर-ज़ोर से गाना बजाते, हुक्का-शराब पीते हुए एक स्थानीय निवासी ने वीडियो बनाकर वन विभाग के अधिकारियों को भेज दिया था. वन क्षेत्र में पड़ने वाले इस टूरिस्ट स्पॉट के इंचार्ज डीएफ़ओ राजीव धीमान ने तुरंत एक्शन लिया और अगले ही दिन से सभी गाड़ियों की चेकिंग होने लगी कि कोई नशे का या आपत्तिजनक सामान तो नहीं ले जा रहा है.

धीमान कहते हैं कि ऐसे तत्वों की रोकथाम के लिए जागरुक नागरिकों को भी कदम उठाने चाहिए और लच्छीवाला की तरह संबंधित अधिकारियों को सूचित कर देना चाहिए.

शराब में धुत्त युवकों का मसूरी मालरोड पर बवाल, स्थानीय लोगों ने की धुनाई

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 18, 2019, 7:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...