उत्तराखंड: अनिल बलूनी की पहल पर चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी ने महत्वाकांक्षी पुल का किया शिलान्यास

रामनगर में धनगढ़ी नाले पर पुल बनने की मांग लंबे वक्त से की जा रही थी. (फाइल फोटो)
रामनगर में धनगढ़ी नाले पर पुल बनने की मांग लंबे वक्त से की जा रही थी. (फाइल फोटो)

अधिकारियों के अनुरोध पर अनिल बलूनी (BJP MP Anil Baluni) ने साफ कर दिया कि पुल का शिलान्यास वे नहीं करेंगे. उनका कहना था कि ये काम नागरिकों के लिए है.

  • Share this:
देहरादून. शिलान्यास और उद्घाटन राजनेताओं के लिये हमेशा से शान की बात रही है. देश में कई ऐसे मौके भी देखे गए हैं, जहां कि शिलान्यास और फीता काटने के लिए दो राजनेताओं में भिड़ंत तक हो गयी. लेकिन इससे ठीक उलट बीजेपी सांसद अनिल बलूनी (BJP MP Anil Baluni) ने एक बड़ा उदाहरण लोगों के सामने पेश किया है. मौका था उत्तराखंड के रामनगर के निकट जिम कॉर्बेट पार्क (Jim corbett park) क्षेत्र में स्थित राजमार्ग पर दो पुलों के शिलान्यास का. बीजेपी सांसद अनिल बलूनी के लंबे प्रयास के बाद जिम कॉर्बेट पार्क के निकट दो राजमार्ग पर दो पुलों के निर्माण की शुरुआत की गई. पुलों के निर्माण की पूरी कवायद सांसद अनिल बलूनी ने की. ऐसे में एनएच के अधिकारी और निर्माण कंपनी के संचालक चाहते थे कि इस पुल का शिलान्यास (Foundation Stone) अनिल बलूनी खुद करें. लेकिन अनिल बलूनी ने शिलान्यास करने से सीधे मना कर दिया.

अधिकारियों के अनुरोध पर अनिल बलूनी ने साफ कर दिया कि पुल का शिलान्यास वे नहीं करेंगे. उनका कहना था कि ये काम नागरिकों के लिए है. ऐसे में केवल दिखावा और खुद श्रेय लेने का कोई मतलब नहीं है. ऐसे में अगर इस तरह के काम का शिलान्यास अगर आम जनता करे तो ज्यादा बेहतर होगा. उसके बाद सांसद अनिल बलूनी की पहल पर पहली बार चतुर्थ श्रेणी के एक कर्मचारी से पुलों का शिलान्यास कराया गया.  ये अपने आप में एक अनूठा प्रयास रहा है. जब सांसद और नेताओं के रहते हुए एक आम जनता ने एक पूल का शिलान्यास किया हो.

अनिल बलूनी की मुहिम लाई रंग
रामनगर में धनगढ़ी नाले पर पुल बनने की मांग लंबे वक्त से की जा रही थी. राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी की कोशिशों की वजह से ही धनगढ़ी नाले पर पुल निर्माण कार्य की शुरुआत हुई है. इस नाले पर पुल नहीं होने की वजह से वहां रहने वाले लोगों को बड़ी समस्या का सामना करना पड़ता है. बरसात के मौसम में धनगढ़ी नाला उफान पर बहता है. हर साल इसमें कई वाहन बह जाते हैं. बरसात के मौसम में इस राजमार्ग पर धनगढ़ी और पनौद नालों पर जल का बहाव विकराल रूप ले लेता है, जिस कारण रामनगर से गढ़वाल के पौड़ी और चमोली तथा कुमाऊं के अल्मोड़ा और बागेश्वर जिलों को जोड़ने वाला यह मार्ग अवरुद्ध हो जाता है. जाल माल की भारी हानि होती है.




इस मुसीबत से निजात मिलने वाला है
लेकिन राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी की प्रयास की वजह से अब जल्द वहां के लोगों को इस मुसीबत से निजात मिलने वाला है. लोगों के दिक्कतों को देखते हुए पिछले साल ही सांसद अनिल बलूनी ने केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री से यहां पर पुल बनाने का अनुरोध किया था. जिसके बाद जुलाई 2020 में इसके टेंडर जारी किए गए. धनगढ़ी नाला गढ़वाल और कुमाऊं के पौड़ी चमोली अल्मोड़ा और बागेश्वर को जोड़ता है. पुल का निर्माण 13 करोड़ रुपये की लागत से होगा,  जबकि इसका निर्माण काम 18 महीने के भीतर पूरा हो जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज