उत्तराखंड Corona नियमों का उल्लंघन करने पर 4779 केस दर्ज, 15 करोड़ का जुर्माना वसूला पुलिस ने

उत्तराखंड पुलिस के डीजी (कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार ने बताया कि उत्तराखंड पुलिस ने अभी तक 11,738 पुलिसकर्मियों का COVID-19 टेस्ट कराया है.
उत्तराखंड पुलिस के डीजी (कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार ने बताया कि उत्तराखंड पुलिस ने अभी तक 11,738 पुलिसकर्मियों का COVID-19 टेस्ट कराया है.

1121 पुलिसकर्मी कोरोना पॉज़िटिव पाए गए, जिनमें से 765 पुलिसकर्मी स्वस्थ हो गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2020, 3:12 PM IST
  • Share this:
देहरादून. कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के बाद लगे लॉकडाउन और अनलॉक में नियमों का उल्लंघन करने पर उत्तराखंड पुलिस ने अब तक 4779 केस दर्ज कर कुल 3 लाख 54 हज़ार 454 लोगों पर कार्रवाई की गई है. विभिन्न मामलों में पुलिस ने कुल मिलाकर 15 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला है. उत्तराखंड पुलिस के डीजी (कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार ने सोमवार को यह जानकारी दी. उन्होंने यह भी बताया कि अब तक ग्यारह सौ से ज़्यादा पुलिसकर्मी कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं और तकरीन पांच हज़ार को क्वारंटीन किया गया है.

1121 पुलिसकर्मी कोरोना पॉज़िटिव 

उत्तराखंड पुलिस ने फ़्रंटलाइन कोरोना वॉरियर की तरह काम किया है. पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार ने बताया कि चूंकि पुलिसकर्मी लगातार फ़ील्ड में रहे हैं और कानून-व्यवस्था बनाए रखने, लोगों की मदद करने के दौरान उनके संक्रमित होने की आशंका भी बनी रहती है. इसलिए उत्तराखंड पुलिस ने अभी तक 11,738 पुलिसकर्मियों का COVID-19 टेस्ट कराया है.



एहतियातन अभी तक 4646 पुलिसकर्मियों को क्वारंटाइन किया गया, जिसमें से क्वारंटइन अवधि पूर्ण करने के बाद 4041 पुलिसकर्मी वापस ड्यूटी पर आ गए हैं. 1121 पुलिसकर्मी कोरोना पॉज़िटिव पाए गए, जिनमें से 765 पुलिसकर्मी स्वस्थ हो गए हैं और 623 पुलिसकर्मी वापस ड्यूटी करने लगे हैं.
साढ़े तीन लाख से ज़्यादा पर कार्रवाई 

डीजी (कानून-व्यवस्था) ने बताया कि लॉकडाउन और अनलॉक के नियमों का उल्लंघन साढ़े तीन लाख से ज़्यादा लोगों के ख़िलाफ़ कार्रवाई की गई है. प्रदेश में अभी तक सोशल डिस्टेंसिंग के उल्लंघन पर 49852, मास्क न पहनने पर 3 लाख 3 हज़ार 448, क्वारंटाइन का उल्लंघन करने पर 942 और सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने पर 212 लोगों पर केस दर्ज किए गए या चालान किए गए.

अब तक कुल 4779 केस दर्ज किए गए हैं. साथ ही पुलिस एक्ट के अन्तर्गत 2 करोड़, एमवी एक्ट के अन्तर्गत 9 करोड़, डीएम एक्ट और माहमारी विनियमावली के अन्तर्गत 4 करोड़ रुपये यानी कुल 15 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज