लाइव टीवी

उत्तराखंड पंचायत चुनावः बीजेपी ने सांसदों, विधायकों को सौंपी चुनाव जिताने की ज़िम्मेदारी

Kishore Kumar Rawat | News18 Uttarakhand
Updated: October 15, 2019, 11:10 AM IST
उत्तराखंड पंचायत चुनावः बीजेपी ने सांसदों, विधायकों को सौंपी चुनाव जिताने की ज़िम्मेदारी
उत्तराखंड बीजेपी ने अपने नेताओं को पंचायत चुनाव जिताने की ज़िम्मेदारियां बांट दी हैं.

पिछली बार कांग्रेस (Congress) ने 89 में से 50 क्षेत्र पंचायत (Kshetra Panchayat) पर कब्ज़ा किया था तो 12 में से 10 ज़िला पंचायत (Zila Panchayat) अध्यक्ष पार्टी के बने थे.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड (Uttarakhand) में छोटी सरकार पर भाजपा (BJP) का परचम लहराए इसके लिए बीजेपी ने अपने विधायकों (BJP MLA) और सांसदों (BJP MP) की जिम्मेदारी तय कर दी है. क्षेत्र पंचायत प्रमुख (Kshetra Panchayat Pramukh) और जिला पंचायत अध्यक्ष (Zila Panchayat Adhyaksh) भाजपा का बने इस के लिए खासतोर पर बीजेपी ने विधायकों और सांसदों को लॉबिंग और फील्डिंग करने को कहा है. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अभी तीसरे चरण का मतदान (third phase voting) बाकी है. मतदान ख़त्म होने से पहले से ही भाजपा ने लोकतंत्र की सबसे निचली पायदान पर भी कमल खिलाने की तैयारी शुरु कर दी है.

कोर टीम जाने कैसे करना है संपर्क 

पंचायत चुनावों के परिणाम आने के बाद त्रिस्तरीय पंचायतों में राजनीतिक दलों का सबसे बड़ा टारगेट  क्षेत्र पंचायत प्रमुख और ज़िला पंचायत अध्यक्ष बनाना होता है और भाजपा इसमें कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहती. प्रदेश के 89 क्षेत्र पंचायत प्रमुख और 12 ज़िला पंचायत अध्यक्ष बनाने में कोई गलती न हो इसके लिए पार्टी ने अपने विधायकों और सांसदों की ज़िम्मेदारी तय कर दी है.

panchayat election voting, प्रदेश में चुनाव प्रक्रिया अभी जारी है.
प्रदेश में चुनाव प्रक्रिया अभी जारी है.


भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट कहते हैं कि पंचायत चुनाव में सभी मंत्रियों, सांसदों, विधायकों, दायित्वधारियों, ज़िला अध्यक्षों की कोर टीम को दायित्व दिया है कि पंचायतें जिताना उनका काम है. हर हाल में ज़िला पंचायत जीतनी हैं और उसके लिए उन्हें यह देखना होगा कि प्रचार किस तरह करना है, प्रत्याशियों से संपर्क कैसे करना है.

पिछली बार कांग्रेस का था दबदबा 

दरअसल भाजपा कांग्रेस से पिछली बार का हिसाब चुकाना चाहती है. पिछले त्रिस्तरीय पंचायतों में कांग्रेस का लगभग 50 क्षेत्र पंचायत पर कब्ज़ा था तो 10 ज़िला पंचायत अध्यक्ष पार्टी के थे. बीजेपी विधायक कहते हैं कि पार्टी ने जो ज़िम्मदारी सौंपी है उसे वह पूरा करेंगे.  बीजेपी विधायक केदार सिंह रावत दावा करते हैं कि इस बार बीजेपी के क्षेत्र पंचायत प्रमुख और जिला पंचायत अध्यक्ष ज्यादा बनेंगे.
Loading...

panchayat election voting, त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में तीसरे चरण का मतदान अभी बाकी है.
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में तीसरे चरण का मतदान अभी बाकी है. (फ़ाइल फ़ोटो)


बीजेपी जानती है कि अगर छोटी सरकार पर उसका कब्ज़ा हुआ तो 2022 के विधानसभा चुनावों में उसकी  नींव और मजबूत हो जाएगी. इसलिए बीजेपी का पूरा दम छोटी सरकार बनाने में लगा हुआ है.

ये भी देखें: 

दो से ज़्यादा बच्चे वाले नहीं लड़ पाएंगे क्षेत्र पंचायत, ज़िला पंचायत चुनाव... यह है वजह

उत्तराखंड पंचायत चुनाव: हाईकोर्ट के फ़ैसले को बताया कांग्रेस ने इंसाफ़ की जीत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2019, 11:07 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...