Home /News /uttarakhand /

कांग्रेस का उत्तराखंड रण : एक हफ्ते में स्क्रीनिंग कमेटी, इन सीटों के उम्मीदवारों की होगी पहली लिस्ट

कांग्रेस का उत्तराखंड रण : एक हफ्ते में स्क्रीनिंग कमेटी, इन सीटों के उम्मीदवारों की होगी पहली लिस्ट

उत्तराखंड कांग्रेस के नेता प्रीतम सिंह, गणेश गोदियाल और हरीश रावत.

उत्तराखंड कांग्रेस के नेता प्रीतम सिंह, गणेश गोदियाल और हरीश रावत.

Politics of Uttarakhand : कांग्रेस पार्टी ने उत्तराखंड के साथ मणिपुर और गोवा विधानसभा चुनावों (Assembly Elections) के लिए भी स्क्रीनिंग कमेटी बनाए जाने का ऐलान किया तो कांग्रेस के उत्तराखंड प्रभारी देवेंद्र यादव (Devendra yadav) ने कहा कि एक हफ्ते में कमेटी बन जाएगी. पहली लिस्ट में कौन से प्रत्याशियों के नाम शामिल होंगे, इस बारे में भी यादव ने बताया. इधर, दो हलचलें और चर्चा में रहीं. एक कांग्रेस नेताओं की प्रेस कॉन्फ्रेंस (Congress Press Conference) और दूसरा प्रदेश के कई बड़े कांग्रेसी चेहरों का बद्रीनाथ (Badrinath Yatra) साथ जाना. जानिए कि कांग्रेस किस तरह अपनी रणनीति ज़ाहिर कर रही है.

अधिक पढ़ें ...

    देहरादून. उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में अपने प्रत्याशियों के चयन और ऐलान से जुड़ी बड़ी घोषणा करते हुए कांग्रेस पार्टी ने कहा कि दिसंबर के आखिर तक प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी कर दी जाएगी. इसके लिए कांग्रेस ने उत्तराखंड में एक हफ्ते के भीतर स्क्रीनिंग कमेटी बना लिये जाने की बात कही. कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने यह ऐलान करते हुए कहा कि पहली लिस्ट में सिटिंग विधायकों, मज़बूत नेताओं के साथ ही उन सीटों के प्रत्याशियों के नाम का शुमार होगा, जहां टिकट के दावेदारों की संख्या ज़्यादा नहीं है. इसके साथ ही, कांग्रेस ने उत्तराखंड के चुनाव से जुड़े अपने घोषणा पत्र के भी जल्द लॉन्च होने की बात कही.

    कांग्रेस पार्टी ने शुक्रवार को उत्तराखंड के साथ ही मणिपुर और गोवा राज्यों में भी विधानसभा चुनाव के लिए स्क्रीनिंग कमेटी बनाए जाने का ऐलान किया. उत्तराखंड के लिए जो स्क्रीनिंग कमेटी बनाई जाएगी, उसके प्रमुख अविनाश पांडे होंगे और इस कमेटी में अजॉय कुमार और वीरेंदर सिंह राठौर शामिल होंगे. इनके अलावा इस कमेटी में देवेंद्र यादव के साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल और उत्तराखंड में नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह की भूमिका भी अहम रहेगी.

    तो क्या एकजुट हो गई कांग्रेस?
    प्रत्याशियों को टिकट देने के लिए चयन स्क्रीनिंग कमेटी के हाथ में होगा, लेकिन इससे पहले कांग्रेस ने ज़िलों के लिए जो पर्यवेक्षक नियुक्त किए थे, उन्हें काफी मतभेदों का सामना करना पड़ा था. कई सीटों पर बड़ी संख्या में टिकट के दावेदार सामने आए थे और प्रदेश के बड़े नेताओं के गुट बन जाने की खबरें भी आ रही थीं. लेकिन, हाल के कार्यक्रमों से कांग्रेस ने यह ज़ाहिर करने की कोशिश की है कि पार्टी की एकजुटता कायम है.

    बद्रीनाथ से देहरादून तक साथ दिखी पूरी टीम
    इंदिरा गांधी की जयंती पर कार्यक्रम हो या देहरादून स्थित कांग्रेस भवन में लगी प्रदर्शनी का कार्यक्रम रहा हो, उत्तराखंड कांग्रेस के सभी दिग्गज नेता एक साथ एक मंच पर दिखाई दिए. यही नहीं, देवेंद्र यादव, गोदियाल, प्रीतम सिंह और दीपिका पांडे जैसे बड़े नेता एक साथ बद्रीनाथ धाम पहुंचे और वहां भी उन्होंने कांग्रेस के एकजुट होने का बड़ा संदेश दिया. इसके अलावा, शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी बीजेपी को कोसने के लिए तमाम चेहरे एक मंच पर नज़र आए.

    ‘ये सरकार नाकाम है, हम देंगे करप्शन मुक्त सरकार’
    कांग्रेस के नेताओं ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कृषि कानूनों को वापस लिये जाने को किसानों और कांग्रेस हाईकमान की जीत बताया. प्रीतम सिंह ने कहा कि बीजेपी सरकार विफल हुई, जिसके कार्यकाल में बेरोज़गारी से लोग और समस्याओं से किसान परेशान हैं. सिंह ने प्रदेश में करप्शन मुक्त और बेहतर सरकार देने का दावा किया. वहीं, गोदियाल ने कहा कि मैनिफेस्टो जल्द आएगा और कोई भी नागरिक इसके लिए सीधे सुझाव पार्टी को दे सकता है. इस मौके पर कांग्रेस नेताओं ने एक टोल फ्री नंबर और एक वेबसाइट लॉन्च की.

    Tags: Uttarakhand assembly, Uttarakhand Assembly Election 2022, Uttarakhand Congress, Uttarakhand news, Uttarakhand politics

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर