लाइव टीवी

Covid-19: सीएम रावत से विधायकों ने की शिकायत, कहा- लोग हैं परेशान, नहीं सुनते अधिकारी
Dehradun News in Hindi

भाषा
Updated: March 25, 2020, 6:41 PM IST
Covid-19: सीएम रावत से विधायकों ने की शिकायत, कहा- लोग हैं परेशान, नहीं सुनते अधिकारी
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि दिल्ली और मुंबई स्थित उत्तराखंड भवन में राज्य के लोगों के रहने और खाने के लिए व्यवस्था की गई है.

उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) ने बुधवार को सदन में विधायकों की शिकायत सुनने के बाद अपना फोन नंबर साझा किया.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) ने बुधवार को सदन में विधायकों के साथ अपना फोन नंबर साझा किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि वह अपना फोन खुद रिसीव करते हैं और जरूरत पड़ने पर उनसे संपर्क किया जा सकता है. कोरोना संकट के बीच वर्ष 2021-22 के लिए प्रदेश का बजट पारित करने के लिये बुलाए गये राज्य विधानसभा के एक घंटे के विशेष सत्र के दौरान नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदयेश तथा अन्य विपक्षी सदस्यों ने जिलाधिकारियों के फोन न रिसीव करने का मामला उठाते हुए सरकार से इस संबंध में उन्हें परामर्श जारी करने कहा. इस पर सीएम ने कहा कि उनका फोन नंबर तो सभी विधायकों के पास होगा और जरूरत पड़ने पर उनसे संपर्क किया जा सकता है. विधानसभा के इस विशेष सत्र में विनियोग विधेयक बजट पास हो गया है.

विधायकों की शिकायत पर कही ये बात
विपक्षी विधायकों के यह कहने पर कि उनके पास उनका नंबर नहीं हैं, रावत ने कहा, ‘‘मेरे पास एक ही नंबर है. मेरा नंबर नोट कीजिए. मैं खुद अपना फोन उठाता हूं. अगर न उठे तो आप अपने नाम के साथ मैसेज कर दें. मैं खुद संपर्क करूंगा और मामले को देखूंगा.'’

कोरोना संकट के बीच लोग हैं परेशान, नहीं सुनते अधिकारी



इससे पहले, ह्रदयेश ने मुख्यमंत्री रावत से आग्रह किया कि कोरोना संकट के चलते कई लोग अपने घर वापस आ रहे हैं लेकिन उन्हें यातायात का साधन उपलब्ध नहीं हो पा रहा है. उन्होंने कहा कि जिलाधिकारियों को जब इस संबंध में फोन किया जाता है तो वे फोन नहीं उठता.



नैनीताल जिले में 10 लोगों को अंतिम संस्कार में शामिल होने की अनुमति
नैनीताल जिले में अंतिम संस्कार में लोगों की संख्या पर पाबंदी लगाई गई है. प्रशासन ने ये कदम सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखकर दिया है. इसके अलावा आदेश मिला है कि अंतिम संस्कार दो घंटे में पूरा करना पड़ेगा. इसके साथ ही इसमें 10 लोगों को शामिल होने की अनुमति मिलेगी. प्रशासन के आदेश के अनुसार, अंतिम संस्कार के लिए पहले प्रशासन से अनुमति लेनी होगी. खास बात ये है कि प्रशासन अंतिम संस्कार के लिए दो घंटे का वक्त दे रहा है. जिसमें केवल 10 ही लोग शामिल हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें:- अंतिम संस्कार में 10 से ज्यादा लोगों पर रोक, दो घंटे में करना होगा क्रियाकर्म

भारत से नेपाल जाने के सभी रास्ते बंद, उत्तराखंड में फंसे हजारों नेपाली नागरिक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 4:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading