Assembly Banner 2021

लाइट, कैमरा एक्शन के साथ आग बुझाते वन मंत्री सोशल मीडिया में हुए ट्रोल

Forest Fire: वन मंत्री हरक सिंह रावत के झाड़ी लेकर आग बुझाने का वीडियो हुआ वायरल.

Forest Fire: वन मंत्री हरक सिंह रावत के झाड़ी लेकर आग बुझाने का वीडियो हुआ वायरल.

Harak Singh Rawat Video: उत्तराखंड के वन मंत्री हरक सिंह रावत ने झाड़ी का गट्ठर लेकर आग बुझाने का वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया तो हुए ट्रोल. लोगों ने इसे पब्लिसिटी स्टंट करार देकर उड़ाया मजाक.

  • Share this:
देहरादून. यूपी में अपराधी की घेराबंदी कर उसे पकड़ने के लिए मुंह से 'ठांय-ठांय' की आवाज निकालने वाले पुलिसकर्मी का किस्सा तो आपको याद होगा? यूपी पुलिस का यह वीडियो खूब वायरल हुआ था. कुछ ऐसा ही मजेदार वीडियो आज उत्तराखंड से भी आया है. उत्तराखंड के जंगलों में इन दिनों आग लगी हुई है, जिसे बुझाने के लिए सरकार ने सेना के हेलिकॉप्टर मंगाए हैं. वन विभाग के 5000 से ज्यादा कर्मचारी, दो से ढाई हजार पंचायतों के लोग और दो हेलिकॉप्टरों की मदद से आग पर काबू पाने का प्रयास किया जा रहा है. केंद्र सरकार भी उत्तराखंड की वन संपदा को बचाने के लिए गंभीर है. ऐसे में प्रदेश के वन मंत्री को भी जंगल की चिंता हो, यह लाजिमी है.

लेकिन वन मंत्री ने जिस अंदाज में जंगल की आग बुझाने का प्रयास किया, उसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. दरअसल, उत्तराखंड के वन मंत्री हरक सिंह रावत सोमवार को गढ़वाल क्षेत्र के दौरे पर थे. श्रीनगर से पौड़ी जाते समय रास्ते में वन मंत्री का सामना जंगल की आग से हो गया. फिर क्या था, वन मंत्री गाड़ी से उतरे और आग बुझाने में जुट गए. इस वायरल वीडियो में आप देख सकते हैं कि वन मंत्री हरक सिंह रावत झाड़ियों के गट्ठर से आग बुझा रहे हैं.

मंत्री जी चूंकि जंगल की आग बुझाने के प्रति 'गंभीर' हैं, इसलिए उन्होंने अपने प्रयास की वीडियोग्राफी भी कराई. फिर बाकायदा जंगल की आग बुझाने का यह वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड भी किया. मंत्री ने इस वीडियो के जरिये सरकारी अधिकारियों, कर्मचारियों के साथ-साथ आम लोगों से अपील भी की कि वे सभी आग बुझाने के लिए आगे आएं. सोशल मीडिया पर इस वीडियो के अपलोड होते ही मंत्री ट्रोल होने लगे.



Youtube Video

सोशल मीडिया पर इस वीडियो को लेकर लोग वन मंत्री का मजाक उड़ा रहे हैं. यूजर्स इसे फॉरेस्ट मिनिस्टर का पब्लिसिटी स्टंट करार दे रहे हैं. लोगों का कहना है कि वन मंत्री लाइट, कैमरा, एक्शन के साथ जंगल की आग बुझा रहे हैं. पब्लिसिटी पाने के लिए वन मंत्री के एक-एक एक्शन को कैमरे में कैप्चर किया गया है. आपको बता दें कि जंगल की आग से सबसे अधिक वन मंत्री का गृह जिला पौड़ी ही प्रभावित है. पौड़ी जिले में आग लगने की सबसे अधिक 385 घटनाएं हो चुकी हैं. दूसरे नंबर पर टिहरी जिला है, जहां आग लगने की अभी तक 133 घटनाएं दर्ज की गई हैं.

उत्तराखंड के जंगलों में आग लगने की अभी तक लगभग डेढ़ हजार घटनाएं सामने आ चुकी हैं. प्रदेश के करीब 1757 हेक्टेयर क्षेत्रफल में फैली वन संपदा आग से प्रभावित हुई है. वन विभाग अब आम  लोगों से मदद के लिए आगे आने की अपील कर रहा है. वन विभाग के हजारों कर्मचारियों, ढाई हजार पंचायतों के लोग इस आग बुझाने के काम में जुटे हैं. राज्य सरकार ने वायुसेना से आग बुझाने में मदद के लिए दो हेलिकॉप्टर भी मांगे हैं, जो जंगलों पर पानी का छिड़काव कर आग बुझाने में लगे हैं. फिर भी आग का तांडव जारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज