Home /News /uttarakhand /

VIDEO में देखें, फंसे चार धाम यात्रियों को कैसे किया गया रेस्क्यू; बद्रीनाथ, केदारनाथ में हज़ारों श्रद्धालु रोके गए

VIDEO में देखें, फंसे चार धाम यात्रियों को कैसे किया गया रेस्क्यू; बद्रीनाथ, केदारनाथ में हज़ारों श्रद्धालु रोके गए

बद्रीनाथ नेशनल हाईवे के पास उफनते नाले में गिरी एक कार को रेस्क्यू किया गया.

बद्रीनाथ नेशनल हाईवे के पास उफनते नाले में गिरी एक कार को रेस्क्यू किया गया.

Heavy Rains in Uttarakhand : उत्तराखंड में बारिश के कहर के वीडियो सामने आ रहे हैं, जिनमें हादसों या मुश्किलों में फंसे लोगों को ​बचाया जा रहा है. वहीं, भारी बारिश के हालात के मद्देनज़र चार धाम यात्रियों को फिलहाल रोक दिया गया है.

    देहरादून. उत्तराखंड में भारी बारिश के कहर की दिल दहलाने वाली तस्वीरें सामने आने का सिलसिला जारी है. खासकर चार धाम यात्रा से जुड़े इलाकों से बारिश के कारण फंसे श्रद्धालुओं या पर्यटकों की ऐसी तस्वीरें आ रही हैं, जो चेताने के लिए काफी हैं. इसी कारण चार धाम यात्रियों को रोका गया है और अपील की जा रही है कि बारिश के हालात सामान्य होने तक श्रद्धालु यात्रा पर न जाएं. हज़ारों चार धाम यात्रियों को अलग अलग पड़ावों पर रोका जा चुका है और एसडीआरएफ व पुलिस टीमें फंसे हुए श्रद्धालुओं को रेस्क्यू कर रही हैं.

    एसडीआरएफ और पुलिस ने सोमवार को भारी बारिश के कारण जंगल चट्टी में फंस गए करीब 22 श्रद्धालुओं को बचाने की मुहिम चलाई. समाचार एजेंसी एएनआई ने एक वीडियो ट्वीट करते हुए बताया कि केदारनाथ धाम से लौट रहे ये श्रद्धालु जंगल चट्टी में फंस गए थे. इन्हें यहां से राहत दलों द्वारा गौरी कुंड में शिफ्ट किया गया. इस दौरान एक 55 वर्षीय श्रद्धालु की हालत बिगड़ने पर उसे स्ट्रेचर पर रखकर कंधे पर लादकर शिफ्ट करवाया गया.

    दूसरी तरफ, एक और वीडियो में बताया गया कि चमोली ज़िले में भारी बारिश के चलते मंदाकिनी नदी किस तरह उफान पर आ गई है और लगातार उसका जलस्तर बढ़ रहा है. राज्य में कोसी समेत अन्य कई नदियां उफान पर हैं. नैनीताल में झील का पानी माल रोड तक आ गया है. श्रद्धालुओं और पर्यटकों को सुरक्षित स्थान पर रहने की अपील किए जाने के साथ ही खतरे में आए लोगों को शिफ्ट करवाया जा रहा है.

    बता दें कि बारिश के चलते राज्य भर में 65 से अधिक सड़के बंद हो गई थीं. सोमवार शाम होते-होते दस सड़कों को खोल दिया गया था, लेकिन पचास सड़कें फिर भी बंद बताई जा रही हैं. इनमें बद्रीनाथ हाईवे समेत पांच नेशनल हाईवे, सात स्टेट हाईवे शामिल हैं. हालांकि, सड़कों को खोलने का काम जारी है, लेकिन बारिश और लगातार भू-स्खलन से समस्या बड़ी हो रही है.

    एक और वीडियो में बद्रीनाथ नेशनल हाईवे के पास लांबागढ़ नाले में एक कार के गिरने का हादसा पेश आया. इसका वीडियो जारी करते हुए एजेंसी ने बताया कि सोमवार को इस हादसे के शिकार लोगों और कार को बीआरओ ने रेस्क्यू किया. इधर, अलर्ट के मददेनजर चारधाम यात्रियों को भी यात्रा पर न जाने की सलाह दी जा रही है. आपदा प्रबंधन मंत्री धन सिंह रावत के अनुसार सोमवार तक बद्रीनाथ में 2000, केदारनाथ में 2700 के आसपास यात्रियों को हालात सामान्य होने तक रोका गया.

    Tags: Badrinath Yatra, Char Dham Yatra, Kedarnath Dham, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर