Home /News /uttarakhand /

what is manaskhand mandirmala mission how roads of thousands of crores will save your time know details

मानसखंड Mandir Mala Mission: करोड़ों की ये सड़कें बचाएंगी आपके कई घंटे, कैसे बदलेगी Uttarakhand की तकदीर?

उत्तराखंड की सड़कों के कायाकल्प की योजना के बारे में जानिए.

उत्तराखंड की सड़कों के कायाकल्प की योजना के बारे में जानिए.

हज़ारों करोड़ के इस प्रोजेक्ट का नाम है मानसखंड या मंदिरमाला प्रोजेक्ट. इसके ज़रिये कुमाऊं की इंटरनल सड़कों का चौड़ीकरण तो किया ही जाएगा, गढ़वाल और कुमाऊं के बीच रोड कनेक्टिविटी को और सुगम बनाने की योजना है. देखिए इस प्रोजेक्ट से कैसे सड़कों से रचा जाएगा उत्तराखंड का भविष्य.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने हालिया दिल्ली दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के दौरान जिस “मानसखंड मंदिरमाला मिशन” को मंज़ूरी देने का अनुरोध किया है, उस मिशन को उत्तराखंड और खासकर कुमाऊं के विकास की दृष्टि से मील का पत्थर माना जा रहा है. अरबों के इस प्रोजेक्ट के तहत इन्फ्रास्ट्रक्चर के दो प्लान हैं, जो राज्य की तकदीर बदलने का दावा कर रहे हैं. पहला प्लान है सड़कों का जाल. आखिर क्या है मानसखंड मंदिर माला मिशन? और इसके तहत सड़कों की योजना के बारे में ठीक से समझें.

देवभूमि में गढ़वाल को केदारखंड तो कुमाऊं को मानसखंड के नाम से जाना जाता है. केदारखंड में चार धाम गंगोत्री, यमुनोत्री, बद्रीनाथ, केदारनाथ हैं. इन तक कनेक्टिविटी बनाने को चारधाम रोड परियोजना का काम करीब-करीब अंतिम चरण में हैं. चारों धामों के हाईवे को फोर लेन में कन्वर्ट किया जा रहा है, तो ऋषिकेश से कर्णप्रयाग रेल लाइन का काम भी प्रगति पर है. गढ़वाल का सूरते हाल बदला तो कुमाऊं क्यों छूट जाए? इसी नज़रिये से तैयार की गई मंदिरमाला योजना.

मानसखंड Mandir Mala Mission : कुमाऊं के 28 मंदिरों, 16 Rope-ways और ‘पर्वतमाला’ का क्या है कनेक्शन?

Uttarakhand temple, Uttarakhand tour, Uttarakhand places to visit, Uttarakhand tourism, Uttarakhand roads, उत्तराखंड सड़क परियोजना, उत्तराखंड के जिले, उत्तराखंड की राजधानी, चार धाम हाईवे, कुमाऊं के प्रसिद्ध मंदिर, aaj ki taza khabar, UK news, UK news live today, UK news india, UK news today hindi, UK news english, Uttarakhand news, Uttarakhand Latest news, उत्तराखंड ताजा समाचार

उत्तराखंड में कुमाऊं के लिए कुछ अहम रोड प्रोजेक्ट्स.

गढ़वाल के चार धामों के बरक्स कुमाऊं में कई ऐतहासिक और पौराणिक मंदिर हैं, जहां तीर्थाटन और पर्यटन की संभावनाएं हैं, लेकिन कनेक्टिविटी ठीक न होने से लोग पहुंच नहीं पाते. कई धरोहरें तो कभी एक्सप्लोर भी नहीं हो सकीं. अब बीजेपी सरकार अपने विज़न डॉक्यूमेंट की घोषणा के मुताबिक मंदिरमाला प्रोजेक्ट के तहत कनेक्टिविटी को सुगम बनाने के लिए यहां एक लेन की सड़कों को दो लेन तक कन्वर्ट करेगी तो दो लेन सड़कों को फोर लेन में.

कैसे होगा सड़कों का कायाकल्प?
– कुमाऊं के काशीपुर-रामनगर-मोहान होते हुए गढ़वाल के पौड़ी में बुआखाल तक 201 किलोमीटर लंबी सड़क को एक हज़ार करोड़ की लागत से चौड़ा किया जाएगा. इससे गढ़वाल और कुमाऊं के बीच एक घंटे का सफर कम हो जाएगा.

– कुमाऊं के ज्योलीकोट-अल्मोड़ा-रानीखेत से होते हुए गैरसैंण-कर्णप्रयाग तक 171 किलोमीटर लंबी सड़क को 2000 करोड़ से टू लेन में कन्वर्ट किया जाएगा. सफर में दो घंटे की बचत होने का अनुमान है.

– गढ़वाल के सिमली-ग्वालदम से कुमाऊं के बैजनाथ-मुनस्यारी-जौलजीबी तक 288 किलोमीटर लंबे राज्य मार्ग को टू लेन में कन्वर्ट किया जाएगा.

– रामनगर-लालढांग-झिरना-पाखरौ-कोटद्वार की 88 किलोमीटर लंबी इस सड़क को 700 करोड़ की लागत से टू लेन में बदला जाएगा.

लोक निर्माण विभाग के एचओडी चीफ इंजीनियर एयाज़ अहमद का कहना है कि मानसखंड कॉरिडोर के इस पूरे प्रोजेक्ट का प्रेजेंटेशन मुख्यमंत्री धामी को दिया जा चुका है. मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री के सामने प्रोजेक्ट रखा है. इनमें से कई सड़कें बीआरओ के पास हैं. उनके चौड़ीकरण का प्रस्ताव भी है. यदि केंद्र मंज़ूरी देता है, तो चरणबद्ध तरीके से इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया जाएगा.

Tags: Hindu Temples, Kumaon, Roads, Uttarakhand Tourism

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर