Home /News /uttarakhand /

what is manaskhand mandirmala mission how ropeways of thousands of crores will connect parvatmala kumaon

मानसखंड Mandir Mala Mission : कुमाऊं के 28 मंदिरों, 16 Rope-ways और 'पर्वतमाला' का क्या है कनेक्शन?

उत्तराखंड में रोपवे की कनेक्टिविटी के जाल से जुड़ी योजना के बारे में जानिए.

उत्तराखंड में रोपवे की कनेक्टिविटी के जाल से जुड़ी योजना के बारे में जानिए.

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात के बाद केंद्र से मंदिरमाला मिशन की मंज़ूरी का इंतज़ार है. कुमाऊं के अंदर दर्जनों मंदिर व पर्यटन स्थल ऐसे हैं, जहां सड़क नहीं पहुंच सकती. यहां रोपवे के प्रोजेक्ट कारगर होंगे. देखिए इस प्रोजेक्ट से कैसे रचा जाएगा उत्तराखंड का दशक.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. कुमाऊं के मंदिरों को मानसखंड मंदिरमाला के तहत कनेक्टिविटी दी जाएगी. कुमाऊं में बाराही धाम देवीधूरा, रीठा साहिब, चंपावत गोल्ज्यू मंदिर, पूर्णागिरी धाम, पिथौरागढ़ स्थित मोस्टमानू देवता मंदिर, हाट कालिका मंदिर, पाताल भुवनेश्वर मंदिर, बेणीनाग मंदिर, बागेश्वर में बागनाथ, बैजनाथ, कोट भ्रामरी मंदिर, अल्मोड़ा में जागेश्वर मंदिर समूह, कटारमल सूर्य मंदिर, नंदा देवी मंदिर, कसार देवी मंदिर, बिनसर महादेव मंदिर, हैराखान मंदिर जैसे ऐतिहासिक और पौराणिक महत्व के दर्जनों मंदिर हैं. हर साल लाखों टूरिस्टों व श्रदालुओं की भीड़ देखने वाले कैंची धाम के लिए बाईपास बनेगा, तो इनमें से कई मंदिर रोपवे से कनेक्ट होंगे.

पर्यटन विभाग के सचिव दिलीप जावलकर के अनुसार मानसखंड मंदिर माला मिशन एक मेगा प्रोजेक्ट होगा, जिसमें केंद्र सरकार की विभिन्न स्कीमों को शामिल किया जाएगा. केंद्र के पर्वतमाला प्रोजेक्ट को भी इसमें जोड़कर रोपवे को बढ़ावा दिया जाएगा. उत्तराखंड में पर्वतमाला प्रोजेक्ट के तहत 39 रोप वे प्रस्तावित हैं. इनमें से कुमाऊं के हिस्से में 16 हैं. इन सभी प्रस्तावों पर केंद्र सरकार की एजेंसी NHLML ने फिजीबिलिटी टेस्ट भी शुरू कर दिया है. कुमाऊं के हिस्से में किस तरह रोपवे आए हैं?

मानसखंड Mandir Mala Mission: करोड़ों की ये सड़कें बचाएंगी आपके कई घंटे, कैसे बदलेगी Uttarakhand की तकदीर?

— नैनीताल में 2
— अल्मोड़ा में 7
— बागेश्वर में 2
— पिथौरागढ़ में 3
— चंपावत में 2

Uttarakhand temple, Uttarakhand tour, Uttarakhand places to visit, Uttarakhand tourism, Uttarakhand roads, kumaon famous temples, उत्तराखंड सड़क परियोजना, उत्तराखंड के जिले, उत्तराखंड की राजधानी, चार धाम हाईवे, कुमाऊं के प्रसिद्ध मंदिर, aaj ki taza khabar, UK news, UK news live today, UK news india, UK news today hindi, UK news english, Uttarakhand news, Uttarakhand Latest news, उत्तराखंड ताजा समाचार

कुमाऊं के मंदिरों में पर्यटन के लिए रोपवे के बड़े प्रोजेक्ट्स के प्रस्ताव रखे जा चुके हैं.

इन 7 रोपवे के काम ने पकड़ी रफ्तार
सोनप्रयाग-गौरीकुंड-केदारनाथ रोपवे
गोविंदघाट-घांघरिया-हेमकुंड साहिब रोपवे
पंचकोटी से बौराड़ी, नई टिहरी
बलाटी बैंड-से खलिया टॉप, पिथौरागढ़
ऋषिकेश से नीलकंठ, पौड़ी
औली से गोरसों, चमोली
रानीबाग से हनुमान मंदिर, नैनीताल

पर्यटन विभाग के एसीईओ पीके पात्रो के मुताबिक इन 7 रोपवे का प्रस्ताव एडवांस स्टेज में पहुंच गया है. इनमें से भी केदारनाथ और हेमकुंड साहिब रोपवे पर तेज़ी से काम हो रहा है. हाल में यहां लैंड ट्रांसफर के लिए वाइल्डलाइफ बोर्ड की मीटिंग में हरी झंडी दी जा चुकी है.

मानसखंड मंदिरमाला मिशन में कुमाऊं के छह जिलों के 28 से अधिक धार्मिक स्थलों को शामिल किया गया है. इनकी कनेक्टिविटी के लिए रोड और रोपवे प्रोजेक्ट के प्रस्ताव तैयार हैं. कुल मिलाकर इस महत्वाकांक्षी मेगा प्रोजेक्ट को हरी झंडी मिली तो अगले दस सालों में न सिर्फ कुमाऊं बल्कि उत्तराखंड के पर्यटन कारोबार की तकदीर और तस्वीर बदल जाएगी. प्रधानमंत्री मोदी अपने उत्तराखंड दौरे पर कह चुके हैं, ‘यह दशक उत्तराखंड का होगा.’ मानसखंड मंदिरमाला मिशन मिशन इसी दिशा में उठाया गया कदम है.

Tags: Hindu Temples, Kumaon, Rope Way, Uttarakhand Tourism

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर