कब होंगे 10वीं, 12वीं के एग्ज़ाम्स? शिक्षा विभाग का दावा तैयारियां पूरीं लेकिन स्थिति स्पष्ट नहीं
Dehradun News in Hindi

कब होंगे 10वीं, 12वीं के एग्ज़ाम्स? शिक्षा विभाग का दावा तैयारियां पूरीं लेकिन स्थिति स्पष्ट नहीं
उत्तराखंड बोर्ड की परीक्षाओं का इंतजार कर रहे 10वीं और 12वीं के बच्चे अभी तक परीक्षाओं के इंतज़ार में हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

शिक्षा सचिव ने 15 जून तक सभी सरकारी स्कूल में तब्दील किए गए क्वारंटीन सेंटर्स खाली करने को कहा है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
देहरादून. उत्तराखंड बोर्ड के एग्ज़ाम कब होंगे और फिर रिज़ल्ट कब तक आएंगे, इसको लेकर अभी तक स्थिति साफ़ नहीं हो पाई है. शिक्षा विभाग ने केंद्र से एक करोड़ रुपये के बजट की मांग की थी लेकिन वह अभी तक स्वीकृत नही हो पाए हैं. इस बीच शिक्षा विभाग दावा कर रहा है कि उसकी तैयारियां पूरी हैं. स्कूलों में बने क्वारंटीन सेंटर्स खाली करने को कह भी दिया गया है लेकिन लगातार बढ़ रहे कोरोना केसों के बीच अभी तक ये भी साफ़ नहीं है कि स्कूलों में क्वारंटीन सेंटर्स को खाली किया जा भी सकेगा या नहीं.

इंतज़ार और बेचैनी  

इस साल 10वीं के 5 और 12वीं के 8 पेपर बचे हैं. 10 में गणित, उर्दू, बंगाली,संस्कृत और पंजाबी के पेपर होने हैं. गणित की परीक्षा 96,348 बच्चों ने देनी है. 12वीं में संस्कृत, उर्दू, पंजाबी, बायोलॉजी, ज्योग्राफी, एग्रीकल्चर केमिस्ट्री,एग्रीकल्चर ज़ूलॉजी की परीक्षाएं होनी बाकी हैं.  ज्योग्राफ़ी की परीक्षा सबसे ज्यादा 36,327 बच्चों को देनी है.



उत्तराखंड  बोर्ड की परीक्षाओं का इंतजार कर रहे 10वीं और 12वीं के बच्चे अभी तक परीक्षाओं के इंतज़ार में हैं. वह न तो ठीक से पढ़ाई ही कर पा रहे हैं न ही लॉकडाउन में मिली छुट्टियों का मज़ा ले पा रहे हैं. अब ये इंतज़ार कितना लंबा चलेगा, कुछ पता नहीं है. जुलाई में स्कूल खुलने की संभावनाओं के बीच एक बार फिर इन परीक्षार्थियों के दिलों की धड़कनें तेज़ हो गई हैं.



शिक्षा विभाग की तैयारियां  

हालांकि शिक्षा सचिव ने 15 जून तक सभी सरकारी स्कूल में तब्दील किए गए क्वारंटीन सेंटर्स खाली करने को कहा है. लेकिन जैसे-जैसे प्रदेश में कोरोना पेशेंट बढ़ रहे हैं वैसे-वैसे सरकार को और क्वारंटाइन सेंटर की ज़रूरत पड़ रही है.

शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम हर बार यही कह रहे हैं कि बोर्ड परीक्षाओं को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. केंद्र सरकार से बात की जा चुकी है और सभी ज़िलाधिकारियों को भी यह निर्देशित किया जा चुका है कि 15 जून तक क्वारंटाइन सेंटर्स को खाली करवा दिया जाए. अगर जुलाई में एग्ज़ाम करवाने हैं तो 15 जून तक क्वारंटाइन सेंटर खाली होना ज़रूरी है क्योंकि उसके बाद ही सैनिटाइज़ेशन और साफ़-सफ़ाई का काम करवाया जाएगा.

ये भी देखें: 
First published: June 2, 2020, 10:55 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading