लाइव टीवी

सदन में उठी ‘कांग्रेस की आधी सरकार’ की बात, तो मदन कौशिक ने किया किसकी तरफ़ इशारा?

Kishore Kumar Rawat | News18 Uttarakhand
Updated: December 6, 2019, 5:22 PM IST
सदन में उठी ‘कांग्रेस की आधी सरकार’ की बात, तो मदन कौशिक ने किया किसकी तरफ़ इशारा?
उप नेता प्रतिपक्ष करण माहरा ने कहा कि इस सरकार में तो आधी सरकार हमारी (कांग्रेस की) है तो कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने भी मज़े लेते हुए अपनी ही सरकार के एक मंत्री की ओर इशारा कर दिया.

उत्तराखंड के राजनीतिक हलकों में पिछले कुछ समय सेआशंका जताई जा रही है कि 2016 में कांग्रेस से बगावत कर आए नेता वापस जा सकते हैं.

  • Share this:
देहरादून. शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन रोडवेज़ बसों की खरीद में सवाल पर चर्चा के दौरान उस समय पूर्व कांग्रेसियों के लिए असहज स्थिति पैदा हो गई जब उप नेता प्रतिपक्ष करण माहरा ने कह दिया कि इस सरकार में तो आधी सरकार हमारी (कांग्रेस की) है. सदन में ठहाके इसलिए भी लगे क्योंकि कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने भी मज़े लेते हुए अपनी ही सरकार के एक कैबिनेट मंत्री की ओर इशारा कर दिया जिन्हें इशारों में सफ़ाई भी देनी पड़ी.

'आधी सरकार' के जाने का डर 

कांग्रेस ने आज रोडवेज़ की नई बसों की खरीद का मामला उठाया था जिस पर प्रश्नकाल के बाद नियम 58 के तहत चर्चा हो रही थी. इसी दौरान सदन में प्रतिपक्ष उप नेता करण माहरा ने अपनी बात करते हुए कहा रोडवेज़ की नई बसों में चलने से चालक परिचालक डर रहे हैं. इनमें सफर करना खतरनाक है. बसों की खरीद की एसआइटी जांच कराने के साथ दोषियों पर कार्रर्वाई की जाए.

माहरा ने कहा, “त्रिवेंद्र सरकार में आधी सरकार हमारी है. अब सरकार को डर है कि हमारी सरकार को आधे लोग छोड़कर न जाएं इसलिए सरकार भ्रष्टाचार को संरक्षण दे रही है. NH 74 घोटाले का दबाया गया, सफ़ेदपोशों को सरकार बचा रही है.”

कौशिक का इशारा, मंत्री जी की सफ़ाई 

करण माहरा के आधी सरकार की बात पर सदन में खड़े होकर मदन कौशिक ने आधी सरकार का इशारा यशपाल आर्य की तरफ किया. मदन कौशिक के इशारे पर यशपाल आर्य ने हैरानी जताई और इशारों ही इशारों में पूरी तरह साथ होने की बात कही. त्रिवेंद्र सरकार में आधी सरकार कांग्रेसी होने पर सदन में खूब लगे ठहाके.

बता दें कि उत्तराखंड के राजनीतिक हलकों में पिछले कुछ समय से पुराने कांग्रेसियों के बीजेपी में घुटन महसूस करने की बात चल रही है और यह आशंका जताई जा रही है कि 2016 में कांग्रेस से बगावत कर आए नेता वापस जा सकते हैं.8 में 4 मंत्री 2016 के कांग्रेसी बागी 

इन अफ़वाहों को इसलिए भी बल मिला है क्योंकि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी कह चुके हैं कि अगर किसी को आना है तो अभी वापस आए जब पार्टी को ज़रूरत है, बाद में आने का कोई मतलब नहीं रहेगा. हरीश रावत यह भी कह चुके हैं कि पार्टी के हित के लिए उसे भुला देंगे जो बागियों ने उनके साथ किया था.

दरअसल त्रिवेंद्र रावत सरकार के आठ मंत्रियों में चार मंत्री वह हैं जो 2016 में हरीश रावत सरकार से बगावत करके आए थे. ये हैं हरक सिंह रावत, यशपाल आर्य, सुबोध उनियाल और रेखा आर्य. यानी आधे मंत्री पूरेव कांग्रेसी हैं और राजनीतिक हलकों में जो इनकी नाराज़गी की जो बात चल रही है माहरा का इशारा उसी ओर था.

ये भी देखें: 

सुबोध उनियाल के ‘नेता जी’ और ‘गांधी’ पर कटाक्ष से सदन में हंगामा, कार्यवाही से हटाई टिप्पणी 

हैदराबाद एनकाउंटर पर बीजेपी-कांग्रेस के एक सुर... विधायकों ने कहा पुलिस ने ठीक किया

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 6, 2019, 5:06 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर