• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • यौन उत्पीड़न के आरोपों में घिरे MLA महेश नेगी फिर नहीं हुए पेश, कैसे दर्ज होगा बयान?

यौन उत्पीड़न के आरोपों में घिरे MLA महेश नेगी फिर नहीं हुए पेश, कैसे दर्ज होगा बयान?

महेश नेगी मुश्किलों में पड़ सकते हैं. (फाइल फोटो)

महेश नेगी मुश्किलों में पड़ सकते हैं. (फाइल फोटो)

उत्तराखंड पुलिस (Uttarakhand Police) बीजेपी विधायक महेश नेगी (BJP MLA Mahesh Negi) को बयान दर्ज करने के लिए बुला रही है, लेकिन वे पेश नहीं हो रहे हैं. नेगी पर एक महिला ने यौन उत्पीड़न (Sexual Harassment) का आरोप लगाया है.

  • Share this:
देहरादून. बीजेपी विधायक महेश नेगी (BJP MLA Mahesh Negi) एक बार फिर से उत्तराखंड (Uttarakhand Police) पुलिस के सामने पेश नहीं हुए. उत्तराखंड पुलिस लगातार महेश नेगी को बयान दर्ज करने के लिए बुला रही है, लेकिन नेगी पेश नहीं हो रहे हैं. महेश नेगी पर एक महिला ने यौन उत्पीड़न (Sexual Harassment) का आरोप लगाया है. यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली पीड़िता विधायक से अपनी और अपनी बच्ची की जान को खतरा बता रही है. पीड़िता ने उत्तराखंड पुलिस पर भेदभाव करने का आरोप लगाया है. साथ ही कहा कि पुलिस उसकी बात नहीं सुन रही है. पीड़िता ने कहा कि विधायक महेश नेगी की पत्नी की तहरीर पर तो पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली, लेकिन उसकी तहरीर को ठंडे बस्ते में डाल दिया है.

MLA पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगा है
विधायक महेश नेगी को पुलिस सोमवार को भी बयान दर्ज करवाने के लिए थाने बुलाया था. जिस पर विधायक ने मंगलवार तक की मोहलत मांगी थी, लेकिन मंगलवार को भी पुलिस के जांच अधिकारी इंतजार करते रहे पर विधायक नहीं आए. नेहरु कॉलोनी चौकी पर देर शाम तक भी विधायक का कोई आता पता नही चल पाया.

पुलिस जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं MLA!
उत्तराखंड के द्वाराहाट विधानसभा से बीजेपी विधायक महेश नेगी पर प्रीति बिष्ट नाम की महिला ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगया है. उत्तराखंड की राजनीति में आज-कल यह मामला काफी तूल पकड़ रखा है. महिला के बीजेपी विधायक के कथित सम्बन्ध होने के मामला अब सियासती रंग लेने लगा है. इस मामले में कांग्रेस ने बीजेपी को घेरने की पूरी कोशिश कर रही है. कांग्रेस के नेता महिला को इंसाफ दिलाने की बात कह रहे हैं. वहीं मामले में पीड़ित महिला ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस उसकी तहरीर पर कोई भी कार्रवाई नही कर रही.

विधायक दूसरी बार पुलिस के सामने पेश नहीं हुए
दूसरी ओर पुलिस को भी विधायक के बयान दर्ज कराने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. क्योंकि, विधायक को लगातार बुलाने के बाबजूद भी विधायक मामले से जुड़े बयानों को दर्ज नही करवा रहे हैं. पुलिस ने मामले से जुड़े साक्ष्यों को जुटाने में लगी है. उत्तराखंड पुलिस ने उस रेस्टोरेंट पर जाकर पूछताछ की है जहां विधायक पत्नी और आरोप लगाने वाली महिला प्रीति बिष्ट की आपसी मुलाकात हुई थी. साथ ही पुलिस ने विधायक पर आरोप लगाने वाली महिला के फोन की कॉल डिटेल भी खंगाली, जिसमे पुलिस को पता चला है कि महिला ने 8 और 9 अगस्त को विधायक और उसके बेटे को दो दो बार कॉल की है. इस कॉल में 3 से 5 मिनट तक बात होना भी बताया जा रहा है.

महिला के आरोप से विधायक का इनकार
पुलिस ने ब्लैकमेलिंग मामले में महिला के पति को भी शामली से देहरादून बयानों को देने के लिए बुलाया है. जिसका बड़ा कारण यह है कि महिला के पति का नाम भी विधायक की पत्नी ने तहरीर में दर्ज करवाया था. जिसके लिए बयान देने के लिए तीन दिनों का समय दिया गया है. वहीं पुलिस द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक अब विधायक के बेटे से भी पुलिस जल्द पूछताछ करेगी.

पीड़ित महिला ने विधायक की डीएनए जांच की मांग
बता दें कि शुक्रवार 14 अगस्त को आरोपी महिला प्रीति के खिलाफ नेहरु कॉलोनी थाने में FIR दर्ज करवाई गई थी, जिसमे आरोप लगाया गया है कि महिला, विधायक पर शोषण का आरोप न लगाने की एवज में पांच करोड़ रूपए की फिरौती मांग रही थी. वहीं मामला प्रकाश में आने पर पुलिस ने महिला को थाने में बुलाकर पूछताछ की थी. महिला ने शनिवार को विधायक के खिलाफ जांच करने और FIR दर्ज करने की मांग की है. 5 पेजों वाली इस तहरीर में महिला ने दावा किया कि विधायक महेश नेगी ने उसको मदद के नाम पर उसके साथ दुराचार किया था और बाद में उसको डरा धमका कर नेपाल, मसूरी, यूपी हल्द्वानी के अलग अलग इलाकों में ले जा कर शाररिक संबंध बनाये थे.

ये भी पढ़ें: सुशांत केस की जांच CBI करेगी या मुंबई पुलिस, रिया की अर्जी पर कल सुप्रीम कोर्ट देगा फैसला

महिला का दावा है कि उसके बच्ची के पिता विधायक महेश नेगी हैं. लिहाजा कोर्ट के माध्यम से बच्ची का DNA टेस्ट करवाया जाए. पुलिस का कहना है कि सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है. वहीं डीआईजी अरुण मोहन जोशी का कहना है कि मामले में 4 एप्लीकेशन उनको मिल चुकी है, जिनमें से पहली एप्लिकेशन पर मुकदमा दर्ज हुआ था और अन्य पर जांच चल रही हैं. जांच के बाद जो सामने आएगा कार्रवाई की जाएगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज