उत्तराखंड में सिर्फ 13% वयस्कों को ही क्यों लगी वैक्सीन? क्या है खतरे की घंटी?

उत्तराखंड में कोविड 19 टीकाकरण की धीमी रफ्तार चिंताजनक मानी जा रही है.

Vaccination in Uttarakhand : उत्तराखंड के स्वास्थ्य मंत्री का दावा है कि माइक्रो लेवल पर प्लानिंग चल रही है और जल्द ही सब कुछ उम्मीद के मुताबिक हो जाएगा. लेकिन विशेषज्ञ इस स्थिति को चिंताजनक बता रहे हैं.

  • Share this:
    देहरादून. उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के खिलाफ चल रहे वैक्सीनेशन अभियान के आंकड़े धीमी रफ्तार ज़ाहिर कर रहे हैं. जो डेटा सामने आया है, उसके मुताबिक राज्य में वयस्कों की कुल आबादी करीब 77 लाख है, लेकिन पिछले साढ़े पांच महीनों में वैक्सीन केवल 13 फीसदी वयस्कों को लगी है यानी करीब 10 लाख लोगों को. एक खबर में कहा गया है कि उत्तराखंड के 13 ज़िलों में सबसे ज़्यादा वयस्क आबादी हरिद्वार में लेकिन वहां केवल 7.7 फीसदी लोगों को ही अब तक वैक्सीन लग चुकी है.

    हरिद्वार में 15.7 लाख वयस्कों की आबादी पर केवल 1.2 लाख लोगों को ही वैक्सीन लगी है. इसी तरह, उधमसिंह नगर में में 14 लाख वयस्कों के बीच करीब 97,000 का टीकाकरण पूरा हुआ है. टाइम्स ऑफ इंडिया ने इस डेटा के हवाले से अपनी रिपोर्ट में यह भी बताया कि टीकाकरण कार्यक्रम में शामिल लोगों के मुताबिक वैक्सीन की डिलीवरी की रफ्तार बेहद धीमी होने के चलते यह स्थिति है.

    ये भी पढ़ें : मास्क पैर में पहनने की तस्वीर वायरल, Twitter ने लगाई उत्तराखंड के मंत्री की क्लास

    Uttarakhand news, Uttarakhand vaccination, Uttarakhand third wave, Uttarakhand vaccine supply, उत्तराखंड न्यूज़, उत्तराखंड वैक्सीनेशन, उत्तराखंड में तीसरी लहर
    न्यूज़18 क्रिएटिव


    तीसरी लहर का खतरा बढ़ेगा?
    टीकाकरण की रफ्तार इतनी धीमी होने के चलते जानकार मान रहे हैं कि तीसरी लहर की चपेट में उत्तराखंड के आने की आशंका बढ़ी है. हरिद्वार के सीएमओ एसएन झा के हवाले से रिपोर्ट कहती है, 'पहले लोग वैक्सीन के बारे में गलत धारणाओं के शिकार थे, लेकिन अब डोज़ सीमित मात्रा में उपलब्ध होने की वजह से वैक्सीनेशन कार्यक्रम प्रभावित है.' बताया जाता है कि अब तक राज्य को करीब 50 लाख डोज़ की सप्लाई हुई और राज्य भर में करीब 28 लाख लोगों को अब तक पहला डोज़ भी नहीं लगा है.

    कहां कितना हुआ टीकाकरण?
    हरिद्वार और उधमसिंह नगर जहां वयस्कों को वैक्सीन के मामले में पीछे हैं तो सबसे बेहतर आंकड़े बागेश्वर और उत्तरकाशी के हैं. यहां करीब 23 फीसदी लोगों को वैक्सीन लग चुकी है. इसके अलावा, देहरादून में 16.7, चमोली में 17.2, पिथौरागढ़ में 13.6 और टिहरी में 14.6 फीसदी लोग टीका लगवा चुके हैं. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री धनसिंह रावत ने भरोसा दिलाया है कि हर महीने 20 लाख टीके मिलेंगे और दिसंबर के अंत तक पूरी आबादी को टीका लग जाएगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.