होम /न्यूज /उत्तराखंड /

Uttarakhand Election: क्या हरीश रावत को CM फेस घोषित करेगी कांग्रेस? पढ़ें इनसाइड स्टोरी

Uttarakhand Election: क्या हरीश रावत को CM फेस घोषित करेगी कांग्रेस? पढ़ें इनसाइड स्टोरी

हरीश रावत के समर्थकों ने 'उत्तराखंड करे पुकार, हरदा की सरकार इस बार' कैंपेन चलाया है.

हरीश रावत के समर्थकों ने 'उत्तराखंड करे पुकार, हरदा की सरकार इस बार' कैंपेन चलाया है.

Politics of Uttarakhand : उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव को लेकर कुछ ही समय शेष है और इससे ठीक पहले कांग्रेस पार्टी को चेतावनी देते हुए हरीश रावत के 22 दिसंबर के सिलसिलेवार ट्वीट्स के बाद राज्य कांग्रेस में संकट खड़ा हो गया था. डैमेज कंट्रोल के तौर पर उत्तराखंड के सभी प्रमुख कांग्रेसियों को दिल्ली तलब किया गया और आज बड़ी बैठकें होने वाली हैं. प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के फोन कॉल के बाद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) भी मामले में हस्तक्षेप कर सकते हैं. जानिए क्या हो सकती है कांग्रेस की रणनीति और क्यों?

अधिक पढ़ें ...

    देहरादून. विधानसभा चुनाव के मुहाने पर खड़ी कांग्रेस के भीतर मची अंतर्कलह को खत्म करने के लिए शुक्रवार को दिल्ली में कोई बड़ा फैसला हो सकता है. सूबे के तमाम नेता दिल्ली में जुटे हैं और बैठक करने वाले हैं और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ भी इनकी एक बैठक हो सकती है. सूत्रों के हवाले से माना जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी उत्तराखंड में मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर रावत के नाम का ऐलान कर डैमैज कंट्रोल कर सकती है. इस पूरी कवायद से पहले राज्यसभा सांसद और वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रदीप टम्टा खुलकर रावत के समर्थन में आ गए हैं और उन्होंने रावत को स्पष्ट तौर पर सीएम चेहरा बताया.

    कांग्रेस की महाचसिव और उत्तर प्रदेश के लिए चुनाव प्रभारी प्रियंका गांधी ने गुरुवार को रावत से बातचीत की थी और बताया गया था कि रावत की नाराज़गी को दूर किया था. गुरुवार को ही रावत ने जिस अंदाज़ में ट्वीट किया था, उससे यह भी समझा जा रहा था कि पार्टी ने उन्हें बड़ा भरोसा दे दिया है. आज शुक्रवार को दिल्ली में उत्तराखंड के चुनाव प्रभारी देवेंद्र यादव व अन्य नेताओं के साथ राज्य के नेता मुलाकात कर आपसी समस्याओं को सुलझाएंगे. दिल्ली में होने वाली बैठकों को लेकर हरीश रावत गुट काफी सकारात्मक नज़र आ रहा है.

    ‘पार्टी के पास अब भी वक्त है’

    प्रदीप टम्टा खुलकर हरीश रावत के समर्थन में आ गए हैं और सोशल मीडिया पर ‘जहां हरदा वहां हम’ कैंपेन भी चला चुके हैं. एक वीडियो जारी करते हुए टम्टा ने कहा, रावत के पास जब मुख्यमंत्री बनने का मौका था, तब भी उन्होंने पार्टी हाईकमान की सुनी क्योंकि व्यक्तिगत हित को उन्होंने हमेशा पार्टी हित के नीचे रखा… आज पहाड़ से लेकर मैदानी क्षेत्र तक हर कोई बस यही कह रहा है, “सबकी चाहत हरीश रावत.” टम्टा ने कहा कि रावत स्पष्ट तौर पर सीएम चेहरा हैं और पार्टी के पास अब भी वक्त है कि खुलकर ये ऐलान किया जाए.

    रावत की दिक्कतों को लेकर बात होगी

    वहीं, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल के हवाले से खबरों में कहा गया कि शुक्रवार की बैठक के बाद सकारात्मक नतीजों के साथ कांग्रेसी नेता उत्तराखंड लौटेंगे. दिल्ली की बैठक को लेकर गोदियाल ने बताया कि जिन कारणों से हरीश रावत को दिक्कत हो रही है, पार्टी के उन कुछ मामलों को लेकर बातचीत की जाएगी. टम्टा ने भी सूचना दी कि गोदियाल के साथ ही वह भी बैठक में मौजूद रहेंगे. बता दें कि दोनों ही बड़े नेता रावत गुट के माने जाते हैं.

    Tags: Assembly elections, Harish rawat, Uttarakhand Assembly Election, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर