विधायक यौन शोषण और ब्लैकमेलिंग मामले में नया मोड़, अब मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज होगा महिला का बयान
Dehradun News in Hindi

विधायक यौन शोषण और ब्लैकमेलिंग मामले में नया मोड़, अब मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज होगा महिला का बयान
पुलिस इस हाईप्रोफाइल मामले में हरकदम फूंक-फूंक कर रख रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

इस मामले में अब बाल आयोग (Children's commission) ने भी देहरादून एसएसपी को एक लेटर लिखा है, जिसमें बच्चे की आईडेंटिटी पर सवाल उठने को लेकर कार्रवाई के आदेश जारी किए गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 23, 2020, 5:16 PM IST
  • Share this:
देहरादून. राज्य की सुर्खियों में शुमार द्वारहाट से बीजेपी विधायक (BJP MLA) महेश नेगी (Mahesh Negi) यौन शोषण (sexual exploitation) और ब्लैकमेलिंग (blackmailing) मामले में अब नया मोड़ देखने को मिल रहा है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जिस महिला पर विधायक की पत्नी ने ब्लैकमेलिंग के आरोप लगाए थे, वह महिला अपने बयान बार-बार बदल रही है. महिला द्वारा दी गई तहरीर और महिला के बयानों में भी विरोधाभास मिला है. मामला हाईप्रोफाइल होने के कारण अब पुलिस विधिक राय लेकर महिला के मजिस्ट्रियल बयान दर्ज करवा सकती है और उन्हीं बयानों के आधार पर पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी.

बाल आयोग ने लिखा एसएसपी को पत्र

वहीं इस मामले में अब बाल आयोग ने भी देहरादून एसएसपी को एक लेटर लिखा है, जिसमें बच्चे की आईडेंटिटी पर सवाल उठने को लेकर कार्रवाई के आदेश जारी किए गए हैं. साथ ही महिला द्वारा कहा गया था कि उन्होंने अपने पति के साथ बच्चे के डीएनए मैच किए हैं. क्या ये डीएनए लीगली हुए हैं या फिर नहीं. उसकी जांच का भी आदेश दिया गया है. अगर इलीगल हुआ तो सम्बंधित फर्म पर भी कार्रवाई हो जिसने पहले डीएनए किया है.



फूंक-फूंक कर पुलिस रख रही कदम
मामला हाईप्रोफाइल होने के चलते पुलिस हर कदम फूंक-फूंक कर रखती दिखाई दे रही है. मामले से जुड़े हर व्यक्ति से पूछताछ की जा रही है और अब महिला की मां और पति से जल्द बयान लिए जाएंगे. साथ ही सोमवार को सीओ सदर अनुज कुमार आरोपी महिला की भाभी से भी बयान दर्ज करवाएगी. मामले में लंबी पूछताछ के बाद आरोपी महिला, विधायक की पत्नी और बेटे सहित तीन लोगों के बयान दर्ज होने के बाद विधायक महेश नेगी का बयान भी कलमबद्ध हो चुका है. इसके अलावा जांच अधिकारी को दोनों ही पक्षों की ओर से जिन बातों पर शक हो रहा है, वे उन मामलों पर बारी-बारी से पूछताछ कर रहे हैं. ताकि इस केस की सत्यता सामने आ सके.

हर एंगल से की जा रही जांच

वहीं मामले में एसएसपी अरुण मोहन जोशी का कहना है कि बाल आयोग से भी उनको एक जांच का आदेश हुआ है. जिसपर कार्रवाई करते हुए रिपोर्ट बाल आयोग को भेजी जाएगी. वहीं मामले की गंभीरता को देखते हुए दोनों ही पक्षों से लगातार पूछताछ चल रही है. संवेदनशील आरोपों की हर एंगल से जांच व विवेचना कर पूरे मामले की सच्चाई उजागर करने का पुलिस प्रयास कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज