• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • युवा मतदाता तय करेंगे उत्तराखंड में किसकी बनेगी अगली सरकार

युवा मतदाता तय करेंगे उत्तराखंड में किसकी बनेगी अगली सरकार

उत्तराखंड में युवा वोटरों की तादाद पचास फीसदी से अधिक है

उत्तराखंड में युवा वोटरों की तादाद पचास फीसदी से अधिक है

उत्तराखंड में युवा वोटर प्रदेश का भविष्य तय करने जा रहे हैं. राज्य में युवा वोटरों की तादाद पचास फीसदी से अधिक है. निर्वाचन आयोग ने प्रदेश में 15 फरवरी को होने वाले मतदान को लेकर अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं. मतदान को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की जा रही है.

  • Share this:
उत्तराखंड में युवा वोटर प्रदेश का भविष्य तय करने जा रहे हैं. राज्य में युवा वोटरों की तादाद पचास फीसदी से अधिक है. निर्वाचन आयोग ने प्रदेश में 15 फरवरी को होने वाले मतदान को लेकर अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं. मतदान को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की जा रही है.

प्रदेश में विधानसभा चुनाव के मतदान की उल्टी गिनती शुरू हो गई है. निर्वाचन आयोग ने मतदाताओं की अंतिम सूची तैयार कर ली है. प्रदेश में मतदाताओं की संख्या 74 लाख 95 हजार 688 हो गई है. जिसमें 39 लाख 23 हजार 492 पुरुष मतदाता, 35 लाख 72 हजार 45 महिला मतदाता हैं. जबकि 1 लाख 4 हजार सर्विस वोटर है.

इस तरह से अगर देखा जाय तो कुल करीब 76 लाख मतदाता इस बार उत्तराखंड में नई सरकार के गठन के लिए चुनाव करेंगे. जिसमें युवा मतदाताओं की काफी अहम भूमिका होगी. क्योकिं 21 लाख 57 हजार 486 ऐसे मतदाता है, जिनकी उम्र 20 से 30 साल के बीच है. पूरे प्रदेश में 151 मतदाता थर्ड जेंडर के हैं. जिसमें 90 मतदाता अकेले देहरादून जिले के हैं.

प्रदेश के 10 हजार 854 पोलिंग बूथ पर मतदान होगा. वही 488 मतदान केन्द्र ऐसे हैं, जो हिमपात वाले क्षेत्रों में बनाये गये हैं जहां फरवरी के महीने में भी बर्फबारी होती है. राधा रतूड़ी मुख्य निर्वाचन अधिकारी का कहना है कि मतदान के लिए सभी तैयारियां की जा रही हैं.

दूसरी तरह प्रशासन जहां कडाई के साथ चुनाव आचार संहिता को लागू कराने में जुटा है तो वही प्रदेश स्तर पर 318 वीआईपी को मिले गनर को भी हटाने के आदेश जारी किये गये हैं. जिनकी समीक्षा भी की जा रही है प्रमुख सचिव गृह ने आलाधिकारियों के साथ बैठक की है. जिसमें राजनीतिक रैलियां की सुरक्षा के साथ साथ मतदान की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त पुलिस जवानों की तैनाती के मसले पर चर्चा की गई है.

पुलिस ने 128 सुरक्षा जवानों की कंपनी की मांग की है जिसमें 15 हजार होमगार्ड जवानों की तैनाती की बात कही जा रही है. इस तरह से विधानसभा चुनाव के दौरान करीब 62 हजार कर्मियों की तैनाती की जायेगी. हां राजनीतिक हैसियत बढ़ाने के लिए अब गनर नहीं मिलेंगे. फिलहाल निर्वाचन आयोग जहां शांतिपूर्ण तरीके से मतदान कराने के लिए शिद्दत के साथ काम कर रहा है. फिलहाल इतना तय है कि विधानसभा चुनाव में युवा मतदाताओं की किसी भी पार्टी की सरकार बनाने में निर्णायक भूमिका में रहेंगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज