Home /News /uttarakhand /

मिशन 2017: इस विधानसभा सीट पर शक्तिमान घोड़ा भी है चुनावी मुद्दा

मिशन 2017: इस विधानसभा सीट पर शक्तिमान घोड़ा भी है चुनावी मुद्दा

मसूरी में प्रचार करते भाजपा प्रत्याशी गणेश जोशी

मसूरी में प्रचार करते भाजपा प्रत्याशी गणेश जोशी

पहाड़ों की रानी मसूरी में मौसम का मिजाज भले ही ठंडा हो, लेकिन राजनीतिक पारा गर्म है. भाजपा और कांग्रेस सहित निर्दलीयों ने प्रचार-प्रसार तेज कर दिया है. मसूरी विधानसभा की चुनावी राजनीति में इस बार घोड़ा शक्तिमान कांड से लेकर तिरंगा विवाद भी चुनाव मुद्दा बन गया है.

अधिक पढ़ें ...
    पहाड़ों की रानी मसूरी में मौसम का मिजाज भले ही ठंडा हो, लेकिन राजनीतिक पारा गर्म है. भाजपा और कांग्रेस सहित निर्दलीयों ने प्रचार-प्रसार तेज कर दिया है. मसूरी विधानसभा की चुनावी राजनीति में इस बार घोड़ा शक्तिमान कांड से लेकर तिरंगा विवाद भी चुनाव मुद्दा बन गया है. गौरतलब है कि पिछले साल एक प्रदर्शन के दौरान मसूरी सीट से भाजपा विधायक और प्रत्याशी गणेश जोशी पर पुलिस के घोड़े शक्तिमान की टांग तोड़ने का आरोप लगाया था.

    मसूरी विधानसभा राजधानी की सबसे हॉट विधानसभा है. विधानसभा में करीब 125410 मतदाता है. मसूरी विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी गोदावारी थापली ने कहा कि विकास के मुद्दों के साथ ही चुनाव में इस बार शक्तिमान कांड सहित मसूरी का तिरंगा विवाद भी उठेगा है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के विकास कार्यो के आधार पर भी लोगो से वोट मांग रहे हैं.

    युकेडी प्रत्याशी जयप्रकाश उपाध्याय ने कहा कि भाजपा कांग्रेस ने प्रदेश को लूटने का काम किया है. जनता का भरोसा जीतने में दोनों दल नाकाम रहे हैं. भाजपा के बागी राजकुमार जायसवाल का कहना है कि भाजपा विधायक ने जो वादे 2012 के चुनाव में जनता से किए थे उनको पूरा करने में नाकाम रहे हैं.

    भाजपा प्रत्याशी गणेश जोशी ने कहा कि विपक्ष के पास कोई मुददा नही है. इसलिए इस तरह के मुददे उठाकर जनता को बरगलाने का काम कर रहे है. गणेश जोशी ने कहा कि इस बार विपक्ष उनके सामने चुनौती नहीं है. चुनौती सिर्फ जीत के अंतर को पिछली बार से दुगुना करना है. भाजपा प्रत्याशी ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने हमेशा मसूरी विधानसभा क्षेत्र के विकास कार्यों में रोड़ा अटकाने का काम किया है. जनता इस बात को भी समझ चुकी है.

    भाजपा-कांग्रेस प्रत्याशियों में आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरु हो गया है. राजनीतिक आरोपों के बीच विकास के मुद्दे गायब हो गये हैं. लेकिन असली फैसला तो जनता को ही करना है. अब देखना होगा कि 11 मार्च को जब मतपेटी खुलेगी तो मसूरी की जनता किसको अपना विधायक चुनती है.

    Tags: Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर