लाइव टीवी

भाजपा की यात्रा के दौरान कईं सीटों पर उठी परिवर्तन की मांग

Yogesh Yogi | ETV UP/Uttarakhand
Updated: December 14, 2016, 4:37 PM IST
भाजपा की यात्रा के दौरान कईं सीटों पर उठी परिवर्तन की मांग
File Photo

भाजपा ने सत्ता परिवर्तन के लिए पूरे प्रदेश में परिवर्तन यात्रा निकाली. इस यात्रा से भाजपा ने अपने कार्यकर्ताओं को चुनाव में जुट जाने का संदेश दिया. प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के लिए जान लगा देने की अपील की, लेकिन इस यात्रा के दौरान कईं जगहों पर पार्टी के भीतर भी परिवर्तन की मांग उठी. कईं सीटों पर दावेदारों के समर्थक आमने-सामने आये तो कईं सीटिंग विधायकों की कार्यप्रणाली को लेकर कार्यकर्ताओं में गुस्सा है.

  • Share this:
भाजपा ने सत्ता परिवर्तन के लिए पूरे प्रदेश में परिवर्तन यात्रा निकाली. इस यात्रा से भाजपा ने अपने कार्यकर्ताओं को चुनाव में जुट जाने का संदेश दिया. प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के लिए जान लगा देने की अपील की, लेकिन इस यात्रा के दौरान कईं जगहों पर पार्टी के भीतर भी परिवर्तन की मांग उठी. कईं सीटों पर दावेदारों के समर्थक आमने-सामने आये तो कईं सीटिंग विधायकों की कार्यप्रणाली को लेकर कार्यकर्ताओं में गुस्सा है.

पांच साल के वनवास के बाद भाजपा एक बार फिर से सत्ता में लौटने को बेताब है. भाजपा की परिवर्तन यात्रा का समापन हो गया. पार्टी के लिए यह यात्रा इस लिहाज से खासी महत्वपूर्ण साबित हुई कि इसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष समेत केंद्रीय मंत्रियों की भागेदारी कार्यकर्ताओं में उत्साह और विश्वास जगाने में सफल रही.

वर्ष 2012 में कांग्रेस से महज एक सीट के अंतर के कारण सत्ता गंवाने वाली भाजपा इस बार कोई चूक नहीं करना चाहती. इसलिए कांग्रेस से काफी पहले ही भाजपा ने चुनाव का बिगुल फूंक दिया है. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कईं स्थानों पर कहा भी है कि जनता में सत्ता परिवर्तन यात्रा को लेकर जबरदस्त उत्साह है.

यात्रा से काफी आगे बढ़ी है और पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने को तैयार है. लेकिन सब कुछ फीलगुड जैसा नहीं है. कांग्रेस या दूसरे दलों से टक्कर तो विधानसभा चुनाव में होगी लेकिन इससे पहले भाजपा को अपने ही कार्यकर्ताओं से निपटना होगा.

हरिद्वार जिले की रानीपुर विधानसभा सीट पर कईं भाजपा कार्यकर्ता अपने ही विधायक आदेश चौहान के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं. इस सीट पर जब परिवर्तन यात्रा पहुंची तो एक कार्यकर्ता राखी सजवाण ने तो आदेश चौहान के परिवर्तन की ही मांग उठा डाली थी.

हरिद्वार शहर सीट पर जीत की हैट्रिक लगाने वाले विधायक मदन कौशिक का टिकट इस बार भी पक्का माना जा रहा है लेकिन उनके लिए भी यह चुनाव पिछले चुनावों से अलग होने जा रहा है. भाजपा का एक धड़ा हरिद्वार में उनका टिकट काटे जाने की मांग कर रहा है.

निशंक के हरिद्वार से सांसद बनने के बाद मदन विरोधी कार्यकर्ताओं को एक मजबूत मंच भी मिल गया है. रुड़की में भाजपा कार्यकर्ता अभी यह समझने में लगे हैं कि टिकट किसे मिलेगा. 18 मार्च के राजनीतिक घटनाक्रम से पहले यहां से पूर्व विधायक सुरेश जैन की दावेदारी मजबूत मानी जा रही थी, लेकिन 18 मार्च के बाद सारे समीकरण बदल गये.
Loading...

सुरेश जैन को हराकर कांग्रेस के सिंबल पर चुनाव जीतने वाले प्रदीप बत्रा बागी होकर भाजपा में आ मिले और अब भाजपा से टिकट के पक्के दावेदार हैं. विधानसभा चुनाव की जंग से पहले रुड़की में जैन और बत्रा के बीच टिकट के लिए जंग होनी है. यहां पर कार्यकर्ताओं का एक गुट निष्ठा का हवाला देते हुए सुरेश जैन को टिकट देने की मांग कर रहा है.

जबकि दूसरा गुट परिवर्तन की मांग करते हुए बत्रा को प्रत्याशी बनाये जाने की वकालत कर रहा है. ऐसे में प्रदीप बत्रा के टिकट की राह आसान नहीं मानी जा सकती है. भगवानपुर में कांग्रेस विधायक ममता राकेश के देवर सुबोध राकेश ने भाजपा से टिकट की दावेदारी कर दी है, जिसके चलते यहां पर भाजपा के पुराने कार्यकर्ता खुद को ठगा सा महसूस कर रहे हैं.

भाजपा के लिए राकेश परिवार से लोहा लेते आये कईं कार्यकर्ता नहीं चाहते कि पार्टी कुछ दिन पहले आये नये-नवेले सुबोध राकेश को टिकट दे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चम्‍पावत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 14, 2016, 4:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...