होम /न्यूज /उत्तराखंड /

आपदा राहत घोटाला: जांच की सिफारिश करने वाले सूचना आयुक्त को मिली धमकी

आपदा राहत घोटाला: जांच की सिफारिश करने वाले सूचना आयुक्त को मिली धमकी

उत्तराखंड के राज्य सूचना आयुक्त अनिल कुमार शर्मा को जान से मारने की धमकी मिल रही है. केदारनाथ त्रासदी घोटाले की जांच की सिफारिश करने वाले अनिल शर्मा ने केंद्रीय गृह सचिव को पत्र लिखकर सुरक्षा की गुहार लगाई है.

उत्तराखंड के राज्य सूचना आयुक्त अनिल कुमार शर्मा को जान से मारने की धमकी मिल रही है. केदारनाथ त्रासदी घोटाले की जांच की सिफारिश करने वाले अनिल शर्मा ने केंद्रीय गृह सचिव को पत्र लिखकर सुरक्षा की गुहार लगाई है.

उत्तराखंड के राज्य सूचना आयुक्त अनिल कुमार शर्मा को जान से मारने की धमकी मिल रही है. केदारनाथ त्रासदी घोटाले की जांच की सिफारिश करने वाले अनिल शर्मा ने केंद्रीय गृह सचिव को पत्र लिखकर सुरक्षा की गुहार लगाई है.

    उत्तराखंड के राज्य सूचना आयुक्त अनिल कुमार शर्मा को जान से मारने की धमकी मिल रही है. केदारनाथ त्रासदी घोटाले की जांच की सिफारिश करने वाले अनिल शर्मा ने केंद्रीय गृह सचिव को पत्र लिखकर सुरक्षा की गुहार लगाई है.

    उत्तराखंड में आपदा राहत घोटाले के मामले पर एक ओर सियासत तेज हो गई है, तो वहीं दूसरी ओर जांच की सिफारिश करने वाले आयुक्त और आरटीआई कार्यकर्ता को धमकी का सिलसिला शुरू हो गया है.

    29 मई को आरटीआई अपील का निस्तारण करने के बाद राज्य सूचना आयुक्त अनिल कुमार शर्मा को रात के वक्त कुछ युवकों ने रोकने की कोशिश की और अब लगातार धमकी भरे फोन आ रहे हैं. अनिल शर्मा को धमकी मामले में पहले भी तीन बार एफआईआर दर्ज कराई जा चुकी है.

    एनआरएचएम दवा खरीद घोटाला समेत अनिल शर्मा कई मामलों में जांच की सिफारिश कर चुके हैं. दूसरी ओर आरटीआई कार्यकर्ता भूपेंद्र कुमार ने भी खतरे की आशंका जताई है. भूपेंद्र के मुताबिक कॉलोनी में रात के समय टहलते वक्त कुछ युवकों ने उनका रास्ता रोकने की कोशिश की. पूरे मामले की जानकारी उन्होंने पुलिस अधिकारियों को भी दे दी है.

    राज्य सरकार पर सुरक्षा देने में लापरवाही का आरोप लगाते हुए अनिल कुमार शर्मा ने केंद्रीय गृह सचिव को पत्र लिखकर सुरक्षा देने की गुहार लगाई है. केंद्र से मिले निर्देशों के बाद देहरादून पुलिस ने भी कवायद तेज कर दी है.

    आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

     

     

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर