लाइव टीवी

आपदा घोटाला: पढ़ें, CBI जांच की मांग अब कैसे नरकंकालों पर ठहरी

ETV UP/Uttarakhand
Updated: June 14, 2015, 9:50 AM IST
आपदा घोटाला: पढ़ें, CBI जांच की मांग अब कैसे नरकंकालों पर ठहरी
आपदा घोटाले की सीबीआई जांच की मांग से शुरू हुई और अब सूबे की सियासत अब नरकंकालों पर जा ठहरी है.

आपदा घोटाले की सीबीआई जांच की मांग से शुरू हुई और अब सूबे की सियासत अब नरकंकालों पर जा ठहरी है.

  • Share this:
आपदा घोटाले की सीबीआई जांच की मांग से शुरू हुई और अब सूबे की सियासत अब नरकंकालों पर जा ठहरी है.

केदारनाथ धाम में शवों को लेकर अब सूबे की सिसायत गरमा गई है. खासतौर से भाजपा सांसद रमेश पोखरियाल निशंक के आरोपों और खुली चुनौती ने इस आग को और हवा देने का काम किया है. दरअसल भाजपा सांसद रमेश पोखरियाल निशंक ने प्रदेश सरकार को खुली चुनौती देते हुए कहा कि केदरानाथ मंदिर परिसर के आस-पास के भवनों में अब भी कई लाशें दबी हुई हैं जिन्हें सरकार ने निकालने का प्रयास नहीं किया.

निशंक ने सरकार को खुली चुनौती दी कि अगर मंदिर के आप-पास के इन भवनों की सफाई से लाशें नहीं निकलती हैं तो वे लोकसभा से इस्तीफा दे देंगे लेकिन अगर लाशें निकलती हैं तो मुख्यमंत्री बताएं कि वो कितने घण्टे बाद अपना इस्तीफा देंगे. भाजपा सांसद के ये बयान कांग्रेस को रास नहीं आ रहे हैं और मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार सुरेन्द्र अग्रवाल ने यहां तक कह डाला कि भाजपा सांसद निशंक अब लाशों पर राजनीति कर रहे हैं.

वहीं आरोपों को दरकिनार करते हुए भाजपा ने इसे आपदा के बाद की प्रदेश सरकार की सबसे बड़ी लापरवाही करार दिया है. भाजपा नेता मुन्ना सिंह चौहान का कहना है कि ये बात साबित हो चुकी है कि सरकार ने आपदा के बाद रेस्क्यू में लापरवाही बरती, जिससे कई लोगों की जानें गई.

बहरहाल आरटीआई के जरिए हुए आपदा घोटाले के खुलासे के बाद सूबे कि सियासत में मचा बवंडर शांत होने का नाम नहीं ले रहा है और आरोप प्रत्यारोप के दौर के साथ ही सियासी हमले भी बदस्तूर जारी हैं. देखने वाली बात होगी कि आपदा घोटाले का ये सियासी खेल आगे और क्या गुल खिलाता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 14, 2015, 9:50 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर