होम /न्यूज /उत्तराखंड /उत्तराखंड में बारिश से अंतिम संस्कार भी मुश्किल, चिता सजाने से पहले ही 3 लाशें बहा ले गई बाढ़

उत्तराखंड में बारिश से अंतिम संस्कार भी मुश्किल, चिता सजाने से पहले ही 3 लाशें बहा ले गई बाढ़

उत्तराखंड में भारी बारिश से कई नदियां उफान पर हैं, जिससे आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

उत्तराखंड में भारी बारिश से कई नदियां उफान पर हैं, जिससे आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

Uttarakhand Floods: उत्तराखंड के कई इलाकों में लगातार बारिश से बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं. आम जनजीवन प्रभावित हो रह ...अधिक पढ़ें

नैनीताल. मानसूनी बादल देश के कई हिस्सों में जमकर बरस रहे हैं. जहां एक ओर बारिश होने से लोगों ने राहत की सांस ली है. वहीं, दूसरी तरफ इस बारिश से कई लोगों के लिए मुसीबत भी खड़ी हो गई है. उत्तराखंड के कई इलाकों जैसे हल्द्वानी, नैनीताल और रानीबाग क्षेत्र में लगातार बारिश से जनजीवन पर बहुत ज्यादा असर पड़ा है. लगातार बारिश होने से नदियों का जलस्तर बढ़ गया है. इससे निचले इलाकों में बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं. बीते रविवार को इस वजह से एक अनहोनी हो गई. गौला नदी के पास अलग-अलग गांवों के लोग 3 शवों को अंतिम संस्कार के लिए लाए थे. नदी का जलस्तर इतना अधिक था कि पानी के तेज बहाव में 3 लाशें बह गई. इन शवों का अंतिम संस्कार भी न हो सका.

नैनीताल और आसपास के पर्वतीय इलाकों में रविवार को जमकर बारिश हुई. इस वजह से यहां का आम जनजीवन काफी प्रभावित हुआ है. बारिश के कारण सबसे ज्यादा हैरान करने वाली घटना रानीबाग इलाके में हुई. जानकारी के अनुसार गेठीया, गौलापार तथा कठघरिया क्षेत्र से लोग 3 शव लेकर अंतिम संस्कार करने रानीबाग आए थे. अंतिम संस्कार की तैयारियां की जा रही थीं. लेकिन नदी के तेज बहाव के कारण ऐसा संभव नहीं हो पाया. तीनों शव नदी के तेज बहाव में बह गए. शवों के पानी में बह जाने की सूचना बाद में प्रशासन को दी गई.

इलाके में लगातार बारिश और इस तरह की घटनाओं के बाद पुलिस और प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है. प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि नदियों का जलस्तर अचानक काफी बढ़ गया है. इसलिए कोई भी व्यक्ति नदी के आसपास के इलाकों में न जाए. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी भारी बारिश के बीच नैनीताल पहुंचे. उन्होंने लोगों से सतर्क रहने की अपील की.

Tags: Floods, Haldwani news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें