Home /News /uttarakhand /

Uttarakhand Election: 'लड़ना नहीं, लड़ाना चाहता हूं' कहने वाले हरीश रावत क्या चुनाव लड़ेंगे? हां, तो कहां से?

Uttarakhand Election: 'लड़ना नहीं, लड़ाना चाहता हूं' कहने वाले हरीश रावत क्या चुनाव लड़ेंगे? हां, तो कहां से?

हल्द्वानी में एक चुनावी सभा में हरीश रावत.

हल्द्वानी में एक चुनावी सभा में हरीश रावत.

Politics of Uttarakhand : उत्तराखंड में कांग्रेस के सबसे बड़े नेता हरीश रावत के ताज़ा बयान से एक बार फिर BJP समेत सभी को मौका मिल गया है कि वो पसोपेश में दिख रहे रावत को टारगेट कर सकें. पिछले दिनों हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat) के कांग्रेस में लौटने की चर्चाएं गर्म थीं और दिल्ली से पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा (Vijay Bahuguna) उत्तराखंड दौरे पर आए थे, तब रावत ने कहा था कि बहुगुणा जहां से चुनाव लड़ें, वह भी वहीं से मुकाबला (Harish Rawat Constituency) करने को तैयार रहेंगे. हालांकि यह ज़ुबानी जमा खर्च था, लेकिन फिर रावत ने इस चर्चा को हवा दे दी है कि वो चुनाव लड़ना क्यों नहीं चाहते!

अधिक पढ़ें ...

हल्द्वानी. कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत 2022 में विधानसभा चुनाव लड़ेंगे या नहीं? इसको लेकर अब भी संशय बरकरार है. रावत के चुनाव लड़ने की कहानी को खुद रावत ने ही पेचीदा बना दिया है. रावत के ताज़ा बयान के मुताबिक उनकी इच्छा चुनाव लड़ने से ज्यादा कांग्रेस के प्रत्याशियों को चुनाव लड़ाने की है. हालांकि उन्होंने अंतिम फैसला कांग्रेस आलाकमान सोनिया गांधी पर ही छोड़ा है. न्यूज़18 से बातचीत करते हुए रावत ने बड़ा बयान ​यह दिया कि विधानसभा सीट के अनुसार स्थानीय चेहरों को तवज्जो देना उनकी प्राथमिकता होगी, फिर भी आखिरी फैसला हाईकमान का होगा.

उत्तराखंड में कांग्रेस कैंपेन कमेटी के चेयरमैन हरीश रावत ने न्यूज़18 से कहा कि उनकी आदत किसी तरह की राजनीतिक सनसनी फैलाने की नहीं है. ‘मैं चाहता हूं कि मैं 2022 का विधानसभा चुनाव लड़ने के बजाय कांग्रेस के प्रत्याशियों को मज़बूती से खड़ा करूं ताकि कांग्रेस के ज्यादा से ज्यादा प्रत्याशी विधानसभा में पहुंचें. कांग्रेस की बड़ी बहुमत वाली सरकार उत्तराखंड में बने.’ रावत ने यह भी कहा, ‘कांग्रेस को चुनाव के लिए स्थानीय चेहरे की ज़रूरत पड़ेगी तो इस पर मैं पूरी तरह से तैयार हूं. इसके बावजूद अगर कांग्रेस आलाकमान ने कहा, तो हरीश रावत चुनाव लड़ने के लिए भी तैयार है.’

लड़े तो कहां से चुनाव लड़ेंगे हरीश रावत?
हालांकि हरीश रावत चुनाव लड़ने से ज्यादा लड़ाने की इच्छा ज़ाहिर कर रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद चुनावी मैदान में उतरते हैं, तो वह कहां से प्रत्याशी होंगे? इसे लेकर राजनीतिक क़यासों का बाज़ार गर्म है. साल 2017 के विधानसभा चुनाव में उत्तराखंड की दो विधानसभाओं हरिद्वार ग्रामीण और ऊधम सिंह नगर की किच्छा से चुनाव लड़ने के बावजूद हरीश रावत को दोनों जगह से हार का सामना करना पड़ा था. ऐसे में हरीश रावत साल 2022 में कहां से चुनाव लड़ेंगे, यह सवाल बड़ा हो गया है.

क़यास लगाए जा रहे हैं कि हरीश रावत हरिद्वार ग्रामीण सीट से दोबारा चुनाव लड़ सकते हैं या फिर किसी नई सीट का चयन कर सकते हैं. इनमें सबसे ज्यादा चर्चा रामनगर, सल्ट और धारचूला सीट को लेकर है. धारचूला से तो हरीश रावत विधायक भी रह चुके हैं और फिलहाल इस सीट पर कांग्रेस मज़बूत है क्योंकि पिछली दो बार से यहां हरीश धामी ​चुनाव जीत रहे हैं.

बीजेपी के निशाने पर आए हरदा
बीजेपी लगातार सवाल पूछ रही है कि हरीश रावत कहां से चुनाव लड़ेंगे. रावत के हालिया बयान से बीजेपी को एक बार फिर सवाल उठाने का मौका मिल गया है. केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट ने लड़ने-लड़ाने की बात कहने वाले रावत की कांग्रेस पार्टी में हैसियत पर सवाल खड़ा किया है. भट्ट के मुताबिक ‘जिस पार्टी का शीर्ष नेता तय नहीं कर पा रहा हो कि वह खुद चुनाव लड़ेगा या नहीं, उस पार्टी का क्या हाल होगा? यह 2022 के विधानसभा चुनाव के परिणामों में साफ दिख जाएगा.’

Tags: Harish rawat, Uttarakhand Assembly Election 2022, Uttarakhand Congress, Uttarakhand news, Uttarakhand politics

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर