Home /News /uttarakhand /

ranibagh bridge will function from 15 august know its importance for kumaun localuk nodark

15 अगस्त से शुरू हो रहा रानीबाग पुल, मैदान को पहाड़ों से जोड़ने वाला ये ब्रिज 'कुमाऊं' के लिए कितना जरूरी?

विभाग के अधिशासी अभियंता एमएम पुंडीर ने बताया कि पुल पर आरसीसी बिछाने का कार्य लगभग पूरा कर लिया गया है. निर्माण कार्य अंतिम चरण में है. पुल पर आवागमन सुचारू होने से स्थानीय लोगों के साथ-साथ पर्यटकों को भी लाभ मिलेगा.

पवन सिंह कुंवर

हल्द्वानी. उत्तराखंड के हल्द्वानी शहर को कुमाऊं का प्रवेश द्वार कहा जाता है और अब कुमाऊं में रहने वाले लोगों के लिए एक अच्छी खबर है. ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि अब रानीबाग पुल (Ranibagh Bridge in Haldwani) बनकर तैयार हो गया है. यह पुल 15 अगस्त से शुरू हो जाएगा, जिससे कुमाऊं के पहाड़ी जिलों की यात्रा करने वाले यात्रियों को सुविधा मिलेगी. यह पुल पूरे कुमाऊं को जोड़ता है.

रानीबाग में बन रहा नया पुल अब पूरी तरह से तैयार हो चुका है. अब तक रानीबाग पुल में पहाड़ जाने वाले यात्रियों को घंटों जाम में फंसा रहना पड़ता था, लेकिन अब पहाड़ जाने वाले यात्रियों को जाम की समस्या से भी छुटकारा मिल जाएगा.

इन जगहों को मिलेगा बड़ा फायदा
भीमताल, भवाली, रामगढ़, मुक्तेश्वर, अल्मोड़ा, रानीखेत, बागेश्वर, लोहाघाट, पिथौरागढ़, चंपावत, धारचूला आने-जाने वाले पर्यटकों को इसका लाभ मिलेगा. वहीं, विभाग के अधिशासी अभियंता एमएम पुंडीर ने बताया कि पुल पर आरसीसी बिछाने का कार्य लगभग पूरा कर लिया गया है. निर्माण कार्य अंतिम चरण में है. पुल पर आवागमन सुचारू होने से स्थानीय लोगों के साथ-साथ पर्यटकों को भी लाभ मिलेगा.

स्थानीय निवासी इंद्रजीत सिंह ने बताया कि पुल पूरी तरह से बनकर तैयार हो चुका है. अब तक पुरानापुल वनवे होने से लोग जाम में घंटों फंसे रहते थे, लेकिन अब नया पुल बन जाने से जाम से लोगों को राहत मिलेगी.

स्थानीय निवासी इमरान का कहना है कि पुल बनने से कुमाऊं में आवाजाही करने वाले स्थानीय लोगों के साथ-साथ पर्यटकों को भी इस पुल से लाभ मिलेगा और जाम की समस्या से भी निजात मिलेगी.

Tags: Haldwani news

अगली ख़बर