Home /News /uttarakhand /

women hospital haldwani free test details localuk

Haldwani के महिला अस्पताल में कौन-कौन सी जांचें हैं मुफ्त? ये है पूरी डिटेल

इस अस्पताल का दावा है कि यहां सरकारी योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को अस्पताल लाने-छोड़ने के साथ ही प्रसव के बाद जच्चा-बच्चा को घर तक छोड़ने की निःशुल्क सेवा भी है. यहां आने वाले मरीज़ों ने बताया कि जांचें और दवाएं कैसे उन्हें मुफ्त मिल रही हैं.

अधिक पढ़ें ...

    (रिपोर्ट- पवन सिंह कुंवर)

    हल्द्वानी. उत्तराखंड के हल्द्वानी शहर का महिला अस्पताल (Women Govt Hospital Haldwani) महिलाओं को लगातार बेहतर सुविधाएं मुहैया करा रहा है. अस्पताल में हर रोज करीब 500 ओपीडी होती हैं. यहां महिलाओं की सभी प्रकार की जांचें मुफ्त होती हैं. गर्भवती महिलाओं को लेकर भी अस्पताल में खास एहतियात बरते जाते हैं. दूरदराज से आने वाले लोगों को आपातकालीन स्थिति में इलाज व जांच में प्राथमिकता भी दी जाती है.

    लालकुआं के नजदीक हल्दूचौड़ से इलाज के लिए आईं शिखा मिश्रा ने कहा कि हल्द्वानी के सरकारी महिला अस्पताल में HIV से लेकर अल्ट्रासाउंड तक, उनकी सभी जांचें मुफ्त हुई हैं. सारी सेवाएं मुफ्त मिल रही हैं और समय पर मिल रही हैं. सितारगंज से इलाज के लिए आईं बिमला गहतोड़ी ने कहा कि उन्हें सभी जांचें मुफ्त मिलीं. थायराइड, अल्ट्रासाउंड, एचआईवी और ब्लड की जांच समेत सारे टेस्ट फ्री में हो गए. इस अस्पताल में महिलाओं का काफी ध्यान रखा जाता है. काफी दवाइयां भी मुफ्त दी जाती हैं.

    महिला अस्पताल की सीएमएम उषा जंगपांगी ने कहा कि हॉस्पिटल में CBC, HIV, वायरल मार्कर्स, अल्ट्रासाउंड समेत लगभग सभी जांचें मुफ्त होती हैं. अस्पताल में थायराइड की जांच नहीं होती है. इसके लिए राज्य सरकार ने चंदन डायग्नोस्टिक लैब से करार किया है. थायराइड की मुफ्त जांच वहां से हो जाती है. उन्होंने कहा कि आशा वर्कर्स के ज़रिये सभी को पता रहता है कि महिला अस्पताल में सभी जांचें फ्री हो रही हैं.

    बताते चलें कि महिला अस्पताल में ‘खुशियों की सवारी योजना’ के तहत महिलाओं को लाने-ले जाने की सुविधा उपलब्ध है. गर्भवती महिलाओं को जांच आदि के लिए अस्पताल लाने-छोड़ने व प्रसव के बाद जच्चा-बच्चा को घर तक छोड़ने की निःशुल्क सेवा भी उपलब्ध है. इसके लिए महिलाओं को अपने फोन से 102 नंबर पर कॉल करनी होती है और अपना पता व अस्पताल जाने का कारण बताना होता है. राज्य में यह योजना 2011 में शुरू हुई थी.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर