Home /News /uttarakhand /

उत्तराखंड सरकार ने हंस फाउंडेशन के साथ किया एमओयू साइन

उत्तराखंड सरकार ने हंस फाउंडेशन के साथ किया एमओयू साइन

सोमवार को उत्तराखण्ड सरकार और द हंस फाउंडेशन के बीच प्रदेश में स्वास्थ्य, कृषि, शिक्षा, वन, जल, सफाई, विकलांग कल्याण से जुड़े विकास कार्यक्रमों के लिए करार किया गया.

सोमवार को उत्तराखण्ड सरकार और द हंस फाउंडेशन के बीच प्रदेश में स्वास्थ्य, कृषि, शिक्षा, वन, जल, सफाई, विकलांग कल्याण से जुड़े विकास कार्यक्रमों के लिए करार किया गया.

सोमवार को उत्तराखण्ड सरकार और द हंस फाउंडेशन के बीच प्रदेश में स्वास्थ्य, कृषि, शिक्षा, वन, जल, सफाई, विकलांग कल्याण से जुड़े विकास कार्यक्रमों के लिए करार किया गया.

    सोमवार को उत्तराखण्ड सरकार और द हंस फाउंडेशन के बीच प्रदेश में स्वास्थ्य, कृषि, शिक्षा, वन, जल, सफाई, विकलांग कल्याण से जुड़े विकास कार्यक्रमों के लिए करार किया गया.

    न्यू कैंट रोड़ स्थित मुख्यमंत्री आवास में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री हरीश रावत की उपस्थिति में राज्य सरकार की ओर से अपर मुख्य सचिव एस राजू और द हंस फाउन्डेशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एसएन मेहता ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए.

    हंस फाउंडेशन के विजन 2020 के तहत शुरू हुए इन कार्यक्रमों में बहुत से अन्य गैर सरकारी संगठनों के साथ आने की उम्मीद है. इनमें मैक्स इंडिया फाउंउेशन, प्लान इंटरनेशनल, अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन, इंटरनेशनल सेंटर फाॅर इंटिग्रेटेड डेवलपमेंट, हिम्मथाॅन, सीबीएम, हेल्पेज इंडिया, क्राई, टाटा सस्टेनबिलिटी ग्रुप, चैरिटिज एड फाउंडेशन, इंटरनेशनल फंड फाॅर एग्रीकल्चरल डेवलपमेंट और अजीज प्रेमजी फाउंडेशन जैसे संगठन शामिल हैं.

    कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि इससे सरकार, हंस फाउंडेशन और अन्य गैर सरकारी संगठनों के बीच सामंजस्य बढ़ेगा. सीएम ने कहा कि ऐसी कार्यशालाएं हर साल होनी चाहिए.

    मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड सरकार नियमित तौर पर इनका आयोजन करेगी. सीएम रावत ने कहा कि एनजीओ ये प्रदेश के विकास में उत्प्रेरक का काम करते हैं.

    मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि हंस फाउंडेशन राज्य के गांव-गांव में मौजूद हैं. विकास कार्यों में जनसहभागिता से प्रशासनिक शिथिलता को दूर किया जा सकता है.

    मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास और सामाजिक सूचकों के अनुसार उत्तराखंड की स्थिति कमोबेश ठीक है. फिर भी काफी कुछ किए जाने की सम्भावना है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर