बेंगलुरु से हरिद्वार पहुंची ट्रेन में मिले 3 कोरोना संदिग्ध, बुधवार को भी 4 प्रवासी हुए थे आइसोलेट

बेंगलुरु से ट्रेन के हरिद्वार पहुंचने पर की गई थर्मल स्क्रीनिंग में तीनों का टेम्परेचर अधिक आया. तीनों को आइसोलेशन वॉर्ड में भेजा गया है.

बेंगलुरु से ट्रेन के हरिद्वार पहुंचने पर की गई थर्मल स्क्रीनिंग में तीनों का टेम्परेचर अधिक आया. तीनों को आइसोलेशन वॉर्ड में भेजा गया है.

COVID-19 के संक्रमण को लेकर उत्तराखंड आने वाले प्रवासियों की स्क्रीनिंग रेलवे स्टेशन पर ही की जा रही है. यहां से भेजे जाने के बाद विभिन्न जिलों में इन लोगों की जांच की जाती है.

  • Share this:
हरिद्वार. देश के अलग-अलग राज्यों से उत्तराखंड के प्रवासियों के लौटने के साथ ही प्रदेश में कोरोना वायरस (COVID-19) संक्रमण के मामले भी बढ़ रहे हैं. आज हरिद्वार में तीसरी ट्रेन अन्य प्रदेशों से प्रवासी उत्तराखंडियों को लेकर लौटी. कर्नाटक के बेंगलुरु से हरिद्वार पहुंची इस ट्रेन में कोरोना वायरस के 3 संदिग्ध मिले हैं. आज सुबह ट्रेन के हरिद्वार पहुंचने पर की गई थर्मल स्क्रीनिंग में तीनों के शरीर का टेंपरेचर अधिक पाया गया. हरिद्वार के रहने वाले तीनों लोगों को आइसोलेशन वॉर्ड में भेजा गया है. इन तीन मामलों के सामने आने के बाद ट्रेन से आए संदिग्ध प्रवासियों की संख्या हुई 7 हो गई है.

तालियां बजाकर स्वागत 

सुबह उत्तराखंड के प्रवासियों से भरी तीसरी श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन हरिद्वार पहुंची थी, जहां ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों ने ताली बजाकर यात्रियों का स्वागत किया. इस ट्रेन में 1341 कामगार सवार थे, जो कर्नाटक के अलग-अलग ज़िलों में काम करते हैं.

रेलवे स्टेशन पर इनके रजिस्ट्रेशन के बाद इन्हें बसों से इनके गृह ज़िलों को रवाना किया गया. इसमें सबसे ज्यादा कामगार टिहरी जनपद के हैं. रेलवे स्टेशन पहुंचते ही इन प्रवासी उत्तराखंडियों ने प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री के समर्थन में नारेबाज़ी की. साथ ही कहा कि अगर उत्तराखंड सरकार उन्हें यही पर रोजगार मुहैया करा दे तो उन्हें इस तरह बाहर रहकर काम नहीं करना पड़ेगा.
जिलों में होगी स्क्रीनिंग 

हरिद्वार एडीएम केके मिश्रा ने बताया कि हरिद्वार ज़िले के प्रवासियों की स्क्रीनिंग रेलवे स्टेशन पर ही की जा रही है. इनमें से संदिग्ध लक्षण पाए जाने पर 3 व्यक्तियों को मेला अस्पताल में बने कोविड सेंटर भेजा गया है. बाकी जिलों के रहने वाले प्रवासियों की स्क्रीनिंग उनके गृह ज़िलों की सीमा पर की जाएगी. आपको बता दें कि उत्तराखंड के पर्वतीय जिलों के हजारों प्रवासी लॉकडाउन में मिली छूट के बाद अपने राज्य लौट रहे हैं. राज्य सरकार ने प्रवासियों के आने के मद्देनजर कोरोना जांच में तेजी लाने का निर्देश दिया है.





ये भी पढ़ें-

पांडुकेश्वर से चली भगवान की डोली, सुबह 4.30 बजे खुलेंगे बदरीनाथ धाम के कपाट

COVID-19: उत्तराखंड में 'HOPE' बनेगा रोजगार का आधार, CM ने लॉन्च किया पोर्टल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज