अब रामदेव ने ज्योतिष को कहा 'आडंबर', भड़के ज्योतिषी बोले, 'अपने गिरेबान में झांकें'

न्यूज़18 क्रिएटिव. स्वामी रामदेव के बयान के बाद आयुर्वेद बनाम ज्योतिष बहस छिड़ी.

रामदेव के बयान पर उत्तराखंड के ज्योतिषाचार्यों ने तुरंत नाराज़गी ज़ाहिर की. कहा कि आयुर्वेद और योग के साथ ही, ज्योतिष भी हज़ारों साल पुरानी विद्या है. रामदेव को वेद और पुराण पढ़कर पूरी जानकारी के बाद बयानबाज़ी करना चाहिए.

  • Share this:
    हरिद्वार. एलोपैथी को आड़े हाथों लेने के बाद योग गुरु बाबा रामदेव ने ज्योतिष विद्या और ज्योतिषाचार्यों के रवैये की कड़ी आलोचना की. ज्योतिषियों पर लोगों को बहकाने का रामदेव ने सीधा आरोप लगाते हुए कहा कि किसी भी बड़ी घटना के बारे में ये विद्वान कोई भविष्यवाणी या अनुमान नहीं दे सके. दूसरी तरफ, रामदेव की इस आलोचना को ज्योतिष के जानकारों ने अनर्गल बयानबाज़ी बताते हुए पलटवार किया कि 'योग और आयुर्वेद के नाम पर रामदेव ने खुद अरबों की इंडस्ट्री खड़ी की है. उन्हें पहले अपने गिरेबान में झांकना चाहिए.' एलोपैथी बनाम आयुर्वेद के बाद अब ज्योतिष को लेकर बहस भी चल पड़ी है.

    एक योग शिविर में साधकों से बोलते हुए रामदेव ने ज्योतिषाचार्यों पर निशाना साधते हुए कहा कि काल, घड़ी और मुहूर्त के नाम पर ये लोगों को बहकाते हैं क्योंकि सारे मुहूर्त भगवान ने बना रखे हैं, इन्हें कोई अनुमान नहीं है. खबरों के मुताबिक रामदेव ने साफ कहा, 'न तो ये लोग कोरोना महामारी के बारे में कोई भविष्यवाणी दे सके न ही ब्लैक फंगस को लेकर और न ही तब कोई पूर्वानुमान दे पाए थे, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की थी.' रामदेव ने कड़ी निंदा करते हुए कहा कि ये बस बैठे बैठे किस्मत बताते रहते हैं.

    ये भी पढ़ें : रामदेव के खिलाफ अर्ज़ी पर HC ने DMA से कहा 'फिज़ूल बहस से अच्छा, महामारी के इलाज में समय लगाएं'

    uttarakhand news, baba ramdev speech, baba ramdev controversy, baba ramdev video, उत्तराखंड न्यूज़, बाबा रामदेव बयान, बाबा रामदेव विवाद
    रामदेव के बयान पर ज्योतिषियों ने तीखी प्रतिक्रिया दी.