Home /News /uttarakhand /

Big News: महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरफ्तार, नगर कोतवाली में समर्थकों का हंगामा

Big News: महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरफ्तार, नगर कोतवाली में समर्थकों का हंगामा

यति नरसिंहानंद को गिरफ्तार कर लिय गया है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

यति नरसिंहानंद को गिरफ्तार कर लिय गया है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Haridwar News: महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वह जितेंद्र नारायण त्‍यागी उर्फ वसीम रिजवी की गिरफ्तारी के विरोध में अनशन पर बैठे थे. उनकी गिरफ्तारी के बाद नगर कोतवाली में उनके समर्थकों ने हंगामा किया है.

अधिक पढ़ें ...

हरिद्वार. महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. जितेंद्र नारायण त्‍यागी उर्फ वसीम रिजवी की गिरफ्तारी के विरोध में यति नरसिंहानंद अनशन पर बैठे थे. गिरफ्तारी के बाद उनके समर्थकों ने नगर कोतवाली में हंगामा किया. गौरतलब है कि धर्म संसद में भड़काऊ भाषण देने के मामले में नरसिंहानंद आरोपी हैं.

जूना अखाड़े के महांडलेश्वर यति नरसिंहानंद की गिरफ्तारी इस समय चर्चा का विषय बनी हुई है. दरअसल, गाजियाबाद स्थित डासना मंदिर के परमाध्यक्ष नरसिंहानंद सर्वानंद घाट पर सत्याग्रह कर रहे थे. खबर है कि गिरफ्तारी के कुछ देर पहले ही उन्होंने पानी ग्रहण किया था, क्योंकि चिकित्सकों ने उन्हें  इसकी सलाह दी थी. बता दें कि इस प्रकरण में उत्‍तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन जितेन्द्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिजवी को दो दिन पहले ही पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है. साथ ही उनकी जमानत याचिका भी खारिज हो चुकी है.

Haridwar Hate Speech Case: धर्म परिवर्तन कर हिन्‍दू बनने वाले वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्‍यागी गिरफ्तार

 भड़काऊ भाषण मामले में आरोपी
आपको बता दें कि नरसिंहानंद और त्यागी के साथ 9 लोगों के खिलाफ हरिद्वार थाने में दो मुकदमे दर्ज हैं. इन​की जांच उत्तराखंड पुलिस की एसआईटी कर रही है. इनके खिलाफ धर्म संसद के दौरान भड़काऊ भाषण देने और भावनाएं आहत करने का आरोप है. इस कारण पुलिस ने पहले त्यागी को गिरफ्तार कर लिया था. गिरफ्तारी के दौरान नरसिंहानंद भी साथ थे लेकिन उस समय वैधानिक कारणों से उनकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी थी. उधर, नरसिंहानंद का कहना है कि उनका सत्याग्रह जारी रहेगा.

गौरतलब है कि सत्याग्रह स्थल से दोपहर में नरसिंहानंद ने कहा था कि यदि उनकी मांगें पूरी नहीं होंगी तो वे आंदोलन करेंगे. साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि माघ मेले के दौरान भी एक प्रतिकार सभा का आयो​जन किया जाएगा. साथ ही भूमा पीठाधीश्वर स्वामी अच्युतानंद तीर्थ ने भी आंदोलन की धमकी दी है. उनका कहना है कि संतों की मांग नहीं मानी गई तो 24 या 25 जनवरी को हरिद्वार में सत्याग्रह कर रहे संतों के समर्थन और सरकार के विरोध में मशाल जुलूस निकाला जाएगा. उधर, 22 और 23 जनवरी को फिर से अलीगढ़ में धर्म ससंद होने वाली है.

Tags: Hate Speech, Uttarakhand Latest News

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर