कोरोना की लड़ाई लड़ने में बच्चे भी पीछे नहीं, ऋषिकेश की आलिया ने पुलिस को दी गुल्लक  

थाने में पुलिस को गुल्लक देती आलिया.

थाने में पुलिस को गुल्लक देती आलिया.

आलिया ऋषिकेश पब्लिक स्कूल (Rishikesh Public School) में पांचवी कक्षा में पढ़ती है. उसकी मां जया इसी विद्यालय में पढ़ाती है.

  • Share this:
ऋषिकेश. वैश्विक महामारी घोषित कोरोना वायरस (Corona virus) संक्रमण के बीच लॉकडाउन (Lockdown) में मजदूरों और गरीबों की मदद के लिए कई संस्थाएं आगे आकर काम कर रही हैं. सोमवार को 12 वर्षीय एक बालिका आलिया चावला अपने पिता आलोक चावला के साथ कोतवाली पहुंची. उसके हाथ में गुल्लक थी. उसने कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह को यह गुल्लक (Piggy Bank) सौंपी और बोली कि वह भी इस संकट के समय गरीबों की मदद करना चाहती है. आलिया के इस व्यवहार और प्रस्ताव को देख वहां मौजूद सभी लोग भाव विह्नल हो गए.

आलिया ऋषिकेश पब्लिक स्कूल में पांचवी कक्षा में पढ़ती है. उसकी मां जया इसी विद्यालय में पढ़ाती है. आलिया ने बताया कि समाचार में उसे यह पता चला कि इस मौके पर कई लोग पुलिस को मदद कर रहे हैं. उसने गुल्लक में कुछ पैसे जमा किए थे, जिसे वह पुलिस के माध्यम से गरीबों की सेवा में लगाना चाहती है. आलिया को पुलिस की ओर से शुक्रिया कहा गया. पुलिसकर्मियों ने जब गुल्लक तोड़ी तो उसमें 10141 रुपए जमा थे, जिनका उपयोग प्रशासन रोज खाना उपलब्ध कराने में कराएगा.

मासूम अपनी गुल्लक लेकर कलेक्टर कार्यालय पहुंच गया था

बता दें कि बीते दिनों राजस्थान के जोधपुर में एक 6 साल का मासूम अपनी गुल्लक लेकर कलेक्टर कार्यालय पहुंच गया था. उसने कलेक्टर कार्यालय में ही अपनी गुल्लक तोड़ दी थी. इसके बाद उसमें से 5,104 रुपए निकले, जिसे बच्चे ने मुख्यमंत्री सहायता कोष में दान दे दिया. साथ ही इस मासूम ने लोगों से अपील की है कि कोरोना महामारी से लड़ने के लिए अधिक से अधिक मदद के हाथ आगे बढ़ाएं.
खोखरिया गांव का रहने वाला है

जानकारी के मुताबिक, बच्चा पीपाड़ के खोखरिया गांव का रहने वाला है. उसका नाम अरविंद विश्नोई और पिता का नाम अशोक विश्नोई है. अरविंद विश्नोई ने अपनी गुल्लक में जमा किए सारे पैसे सरकार की मदद के लिए कलेक्टर को सौंप दिए. फिलहाल, अशोक बिश्नोई जोधपुर के परिहार नगर में रहते हैं. जिला कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित ने कहा कि जिस प्रकार से यह मासूम बच्चा मदद के लिए आगे बढ़ा है इसे देखकर सभी लोग प्रेरणा ले सकते हैं. इसके अलावा उन्होंने आम नागरिकों से सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने और बार-बार हाथों को सैनिटाइज करने की अपील की.

ये भी पढ़ें- 



कोरोना वायरस: सरकार ने कहा- संक्रमण के दूसरे और तीसरे चरण के बीच है भारत

कोरोना को मात देकर युवक ने डॉक्‍टरों को कहा- थैंक्‍यू, लोगों को दिया ये मैसेज


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज